ताज़ा खबर
 

बीफ बैन पर किसी ने गूगल सीईओ सुंदर पिचाई के नाम से जारी कर दिया फर्जी कमेंट, ट्विटर पर पिल पड़े समर्थक-विरोधी

सोशल मीडिया पर सुंदर पिचाई के नाम से जारी किया गया कमेंट बवाल मचा रहा है। कई लोग बिना सच्चाई जाने इस कमेंट को गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई के नाम से जोड़ कर देख रहे हैं।

गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (फोटो: PTI)

‘भारत को लोगों के कल्याण पर ध्यान देना चाहिए, ना कि लोगों की खान पान की आदतों पर, गोमांस या किसी और किस्म का भोजन खाना पूरी तरह से व्यक्तिगत आजादी का मामला है, किसी को इस पर रोक लगाने का हक नहीं है, भारत जैसे महान देश को विज्ञान और तकनीकी की ओर आगे बढ़ना चाहिए ना कि धर्म की तरफ।’सोशल मीडिया पर सुंदर पिचाई के नाम से जारी किया गया कमेंट बवाल मचा रहा है। कई लोग बिना सच्चाई जाने इस कमेंट को गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई के नाम से जोड़ कर देख रहे हैं। इस कमेंट पर कुछ लोग सुंदर पिचाई के समर्थन में हैं तो कुछ लोग उनका जबर्दस्त विरोध कर रहे हैं।

क्या है सच्चाई?
दरअसल ये पूरी तरह से एक गलत खबर है। गूगल पिचाई के नाम से जारी इस कथित कमेंट को एक वेबसाइट The Verve’ (World’s No. 1 Bulletin) ने जारी किया है। लेकिन इस वेबसाइट ने सुंदर पिचाई का अंग्रेजी स्पेलिंग सही नहीं लिखा है। इस वेबसाइट में सुंदर पिचाई का नाम Sundar Pitchai लिखा गया है, जबकि उनके नाम की सही स्पेलिंग Sundar Pichai है। बता दें कि द वर्व महिलाओं की एक पत्रिका है और इंटरनेट पर इस नाम से कोई बुलेटिन नहीं मिला है।

सुंदर पिचाई के नाम से वायरल हो रहे इस मैसेज में आगे लिखा गया है कि अगर कोई देश धर्म की ओर आगे बढ़ता है तो निश्चित रुप से उस देश की स्थिरता और व्यापार प्रभावित होगी, हम देख रहे हैं कि भारत में बढ़ते धार्मिक तनाव की वजह से कई बड़ी बिजनेस कंपनियां यहां से दूर जा रही हैं, किसी भी देश का भविष्य उस देश के तार्किक युवाओं के हाथ में होता है।इस मैसेज के वायरल होते ही कई लोगों ने गूगल सीईओ पर हमला बोल दिया है और उन्हें भारत में मामलों में दखल ना देने की सलाह दी है। कुछ लोगों ने कहा है कि अगर खाना व्यक्तिगत आजादी का मामला है तो अमेरिका में फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन क्यों बनाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App