ताज़ा खबर
 

सैन्‍य अफसरों को नसीहत- खूबसूरत चीनी-पाकिस्‍तानी लड़कियों के झांसे में न आएं

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार पिछले चार सालों में रक्षा से जुड़े रिटायर्ड अधिकारियों सहित कुल 13 अफसरों को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स सोशल मीडिया)

भारतीय सैन्य अफसरों को खूबसूरत चीनी-पाकिस्तानी लड़कियों के झांसे में नहीं आने के लिए खुफिया एजेंसी ने अलर्ट जारी किया है। आईबी ने भारत सरकार को सतर्क करते हुए कहा है, “खूबसूरत लड़कियां अधिकारियों को हनी ट्रैप में फंसाकर राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ी अहम जानकारियां हासिल कर सकती हैं।” आईबी का अलर्ट वेलेंटाइन डे से ठीक पहले और पाकिस्तान के लिए कथित तौर पर जासूसी कर रहे इंडियन एयर फोर्स के अधिकारी की गिरफ्तारी के बाद आया है।

पिछले दिनों दिल्ली पुलिस ने एयर फोर्स के अधिकारी अरुण मारवाह (51) को खुफिया जानकारी आईएसआई को देने के आरोप में गिरफ्तार किया था। स्पेशल सेल के पुलिस आयुक्त प्रमोश कुशवाह ने उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की थी। आईबी के सीनियर अधिकारी ने बताया, “अच्छी दिखने वाली चीनी और पाकिस्तानी लड़कियां हमारे सुरक्षा अधिकारियों को हनी ट्रैप में फंसा सकती हैं। मारवाह की घटना के बाद अलर्ट जारी किया गया है कि कोई भी सुरक्षा अधिकारी हनी ट्रैप में ना फंसे।”

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले चार सालों में रक्षा से जुड़े रिटायर्ड अधिकारियों सहित कुल 13 अफसरों को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। आईबी के अधिकारी ने बताया कि मारवाह भी हनी ट्रैप का शिकार हुए, आईएसआई के लिए काम कर रही एक महिला ने उन्हें झांसे में फंसाया।

बता दें कि अरुण मारवाह दिल्ली के एयर फोर्स हेडक्वार्टर में तैनात थे, जिनकी कुछ महीने पहले फेसबुक के जरिए एक अनजान महिला से दोस्ती हुई। बाद में कथित तौर पर दोनों ने एक-दूसरे को अपने फोन नंबर दिए। दोनों की सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्म के जरिए बातचीत हुई। सुरक्षा अधिकारियों को शक है कि मारवाह ने फेसबुक और वॉट्सऐप के जरिए खुफिया जानकारी दुश्मन को दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.