ताज़ा खबर
 

किसान आंदोलनः क्रिसमस पर प्रदर्शन में लगा गोलगप्पे का लंगर, ऐसे हुआ शुरू

कंबोज और उनके मित्रों ने विक्रेता से सभी गोल गप्पे खरीद लिए और उन्हें वहां प्रदर्शन कर रहे लोगों के बीच मुफ्त बांटने लगे। हरियाणा के सिरसा के सात अग्निशमन कर्मियों के दल ने क्रिसमस को अनोखा बना दिया और खूब लोगों को गोलगप्पे खिलाए।

farmers protest, golgappeजब किसान आंदोलन के दौरान चलने लगा गोलगप्पा लंगर। (फोटो- पीटीआई)

नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन बदस्तूर जारी है। इस बीच बड़े-बड़े लंगर चलाए जा रहे हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि सिंघू बॉर्डर पर गोलगप्पे का भी लंगर चलाया गया। ‘फायरमैन’ सुरेंद्र कंबोज और उनके मित्रों ने किसानों के प्रदर्शनस्थल पर शुक्रवार को देखा कि एक बच्चा गोल गप्पा खाना चाहता था लेकिन उसके पास पैसे नहीं थे। वहीं, गोल गप्पा बेचने वाले की बिक्री नहीं हो पा रही थी क्योंकि लोग लंगर में खा रहे थे।

ऐसे में कंबोज और उनके मित्रों ने विक्रेता से सभी गोल गप्पे खरीद लिए और उन्हें वहां प्रदर्शन कर रहे लोगों के बीच मुफ्त बांटने लगे। हरियाणा के सिरसा के सात अग्निशमन कर्मियों के दल ने क्रिसमस को अनोखा बना दिया और खूब लोगों को गोलगप्पे खिलाए। कंबोज और उनके दोस्तों ने गोलगप्पे बेचने वाले के पास एक बच्चे को देखा और पूछा कि उसे क्या चाहिए। कंबोज (33) के अनुसार उस बच्चे ने बताया कि उसे गोल गप्पे चाहिएं लेकिन उसके पास पैसे नहीं थे।

इसके बाद जो हुआ उससे वह बालक और किसान चकित रह गए। कंबोज और रनिया अग्निशमन केंद्र में कार्यरत उनके अन्य मित्रों ने गोल गप्पे बेचने वाले से उसका पूरा स्टॉक खरीद लिया और वहीं गोल गप्पा लंगर शुरू कर दिया।
कंबोज के सहकर्मी रवींद्र कुमार ने कहा, ‘गोलगप्पे बेचने वाले ने कुछ भी नहीं कमाया था क्योंकि लोग लंगरों (सामुदायिक रसोई) में खाना खा रहे हैं। उसने अपना स्टॉक बेच दिया और हमें सेवा करने का मौका मिला। यह हर किसी के लिए फायदे की स्थिति थी।”

कुमार ने कहा कि प्रदर्शन कर रहे किसानों का समर्थन करने के लिए कुल सात अग्निशमन कर्मी आए हैं। उन्होंने कहा, “रनिया फायर स्टेशन में 21 कर्मियों की टीम है। हमने सिंघू बॉर्डर पर तीन दलों में आने का फैसला किया है।” उन्होंने कहा कि स्टेशन के प्रमुख ने उन लोगों को विरोध प्रदर्शन में भाग लेने की अनुमति दी है। उन्होंने कहा कि हर तीन दिनों के बाद एक नया दल आएगा। यह गोल गप्पा विक्रेता मोहम्मद सलीम के लिए भी क्रिसमस का चमत्कार था। सलीम ने कहा कि कंबोज ने उन्हें 1,000 रुपये दिए जो उम्मीद से अधिक थे। सलीम ने पिछले तीन दिनों में सिर्फ 500 रुपये कमाए थे।

(भाषा से जानकारी के साथ)

Next Stories
1 बंगालः BJP में गए सुनील मंडल के दफ्तर पर हंगामा! TMC कार्यकर्ताओं ने विरोध में दिखाए काले झंडे
2 दिल्ली दंगा पीड़ितों का आरोप, शिकायत वापस लेने का दबाव बना रहे अधिकारी
3 Kerala Karunya Lottery KR-479 Today Results: लाखों का इनाम घोषित, यहां चेक करें आपकी लॉटरी लगी या नहीं?
ये पढ़ा क्या?
X