ताज़ा खबर
 

GDP पर संबोधन, गुजरात के मंत्री बोले- गांवों में शादी नहीं करना चाहती लड़कियां, शहरों को दे रहीं तवज्जो

स्थानीय उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोगों को पता नहीं होगा लेकिन लोग अब लोग गांव में नहीं रहना चाहते हैं। लड़कियां गांव में शादी से इंकार कर रही हैं। लड़कियां गांव में शादी नहीं करना चाहती है।

Author नई दिल्ली | Updated: December 7, 2019 12:40 PM
गुजरात के उर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने गुरुवार को एक अजीबोगरीब बयान दिया।

गुजरात के उर्जा मंत्री सौरभ पटेल ने गुरुवार को एक अजीबो गरीब बयान दिया। उन्होंने कहा कि आजकल लड़कियां गांव में शादी नहीं करना चाहती हैं और शहर में शादी को तवज्जो दे रही हैं। गुजरात की जीडीपी दोगुना करने के विषय पर संबोधन के दौरान उन्होंने यह बात कही।

फिक्की गुजरात स्टेट काउंसिल एनुअल डे में उन्होंने कहा कि जहां तक ​​जीडीपी (गुजरात के) को दोगुना करने का सवाल है, सर्विस सेक्टर काफी महत्वपूर्ण है और हमें रोजगार सृजन पर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि, ” हमने देखा है कि शिक्षित लोग फैक्ट्री में काम नहीं करते हैं। वे कृषि क्षेत्र में काम नहीं करना चाहते हैं। जिस किसी ने भी अपनी स्कूली शिक्षा या कॉलेज किया है, वह खेतों में काम करने के लिए बहुत उत्सुक नहीं है। जहाँ कड़ी मेहनत की आवश्यकता होत है ऐसी जगहों पर लोग काम करने से बच रहे हैं। हर किसी को ऑफिस की नौकरी की तलाश है।

स्थानीय उद्योगपतियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आप लोगों को पता नहीं होगा लेकिन लोग अब लोग गांव में नहीं रहना चाहते हैं। लड़कियां गांव में शादी से इंकार कर रही हैं। लड़कियां गांव में शादी नहीं करना चाहती है। इसलिए हमारी अर्थव्यवस्था और बुनियादी ढाँचे का निर्माण इस तरह से किया जाना चाहिए की समावेशी विकास हो जो यहां रह रहे हैं उनका भी और जो शहरों से गांव की ओर लौट रहे हैं उनका भी विकास हो सके। यह हमारे लिए बड़ी चुनौतियों में से एक है।

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था में कृषि की अभी भी महत्वपूर्ण भूमिका है। परिवार में अलगाव के चलते अब  संपत्ति छोटी होती जा रही है लोगों के पास जमीनें कम होती जा रही है। उन्होंने कहा कि अगले 10 से 15 वर्षों में भूमि का आकार इतना छोटा हो जाएगा कि सरकार को ऐसी नीतियों के साथ आना होगा जिससे खेती को संभव बनाने के लिए भूमि पार्सल को एक साथ जोड़ा जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पूर्व PM राजीव गांधी से वापस लिया जाए भारत रत्न, अकाली नेता बोले- 1984 में सेना बुलाई होती तो न होतीं हजारों सिखों की हत्याएं
2 वाशरूम गए रविशंकर प्रसाद तो स्थगित करनी पड़ी राज्यसभा, लौटे तो जयराम रमेश से ली चुटकी
3 ABVP नेता को JNU में असिस्टेंट प्रोफेसर बनाने पर बवाल, SEDITION केस में रहा है गवाह
ये पढ़ा क्‍या!
X