ताज़ा खबर
 

‘मुंबई में कर्नाड बोलें, फिर देखें वापस जा सकते हैं कि नहीं’

टीपू सुलतान को लेकर उठ रहे विवाद में अब कांग्रेसी विधायक और स्वाभिमानी संगठन के प्रमुख नितेश राणे भी कूद पड़े हैं। राणे ने ज्ञानपीठ विजेता अभिनेता, निर्देशक और लेखक गिरीश कर्नाड..
Author मुंबई | November 14, 2015 02:03 am
ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित गिरिश कर्नाड। (फाइल फोटो)

टीपू सुलतान को लेकर उठ रहे विवाद में अब कांग्रेसी विधायक और स्वाभिमानी संगठन के प्रमुख नितेश राणे भी कूद पड़े हैं। राणे ने ज्ञानपीठ विजेता अभिनेता, निर्देशक और लेखक गिरीश कर्नाड को चुनौती देते हुए कहा है कि उनमें हिम्मत है तो वह महाराष्ट्र में आकर छत्रपति शिवाजी महाराज पर टिप्पणी करके दिखाएं। फिर देखें कि वे वापस जा सकते हैं या नहीं।

कर्नाटक में टीपू सुलतान की जयंती मनाने को लेकर विवाद चल रहा है। इस विवाद के बीच में कर्नाड ने टिप्पणी की थी कि अगर टीपू सुलतान हिंदू राजा होते तो उन्हें भी शिवाजी महाराज की तरह सम्मान मिलता। कर्नाड की इस टिप्पणी पर ट्विटर के जरिए प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नितेश राणे ने कहा कि कर्नाटक में टीपू सुलतान जयंती को लेकर चल रहा विवाद राज्य का आंतरिक मामला है। मगर कर्नाड किसी के साथ शिवाजी महाराज की तुलना न करें।

राणे ने कहा कि शिवाजी महाराज सबसे बड़े राजा थे। अगर कर्नाड में हिम्मत है तो वह महाराष्ट्र आकर शिवाजी महाराज के बारे में बोलकर बताएं। फिर देखते हैं वह वापस जा पाते हैं या नहीं। मशहूर अभिनेता और नाटककार की आलोचना करते हुए राणे ने कहा कि उन्होंने बॉलीवुड में काम करके काफी पैसे कमाए। और अब वह शिवाजी महाराज के बारे में बोल रहे हैं। राणे ने कहा कि कर्नाड शिवाजी महाराज को लेकर की गई अपनी टिप्पणी पर माफी मांगे अन्यथा उन्हें मराठाओं के रोष का सामना करना पड़ेगा।

बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार ने मंगलवार को टीपू सुलतान की आधिकारिक तौर पर जयंती मनाई थी, जिसके बाद हिंदुत्ववादी संगठन इसके विरोध में उतरा और सूबे में हिंसा फैल गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.