ताज़ा खबर
 

गाजियाबाद: श्मशान की छत गिरने से 25 लोगों की मौत, कई अफसरों के खिलाफ मामला दर्ज

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हादसे में 25 लोगों की मौत हो गई है। घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप है। मीडिया रिपोर्ट्स में अब भी कई लोग श्मशान घाट की छत के नीचे दबे बताए जा रहे हैं।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: January 3, 2021 11:40 PM
Search Rescue operation NDRF Muradnagar Distt Ghaziabadघटनास्थल पर एनडीआरएफ और पुलिस की टीमें रेस्क्यू अभियान में जुटी हैं। (सोर्स- सोशल मीडिया)

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार को श्मशान घाट की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हादसे में 25 लोगों के मौत हो गई है। इस मामले में मुरादनगर नगर पालिका EO निहारिका सिंह, जेई चंद्रपाल, सुपरवाइजर आशीष, ठेकेदार अजय त्यागी और अन्य अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इनके खिलाफ धारा  304, 337, 338, 427, 409 के तहत मुरादनगर थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है।

घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप है। मीडिया रिपोर्ट्स में अब भी कई लोग श्मशान घाट की छत के नीचे दबे बताए जा रहे हैं। करीब डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोग घायल हैं। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश के मुरादनगर में हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। राज्य सरकार राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटी है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने मंडल आयुक्त मेरठ और आईजी रेंज मेरठ को मौके पर जाकर घटना की रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गाजियाबाद मौके पर हैं। उन्होंने हादसे में घायल हुए लोगों का समुचित उपचार सुनिश्चित कराने को भी कहा है। यह हादसा गाजियाबाद थाने के मुरादनगर इलाके में हुआ है। तस्वीरों में कई लोग लेंटर के नीचे दबे हुए दिख रहे हैं। गाजियाबाद पुलिस और रेस्क्यू ऑपरेशन की टीम घटनास्थल पहुंच गई है। राहत और बचाव कार्य जारी है।

बताया जा रहा है कि मुरादनगर थाना क्षेत्र के ही डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके बाद अंतिम संस्कार में कई लोग पहुंचे थे। अंतिम संस्कार की प्रक्रिया चल रही थी। उसी दौरान जो लोग अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे वह श्मशान घाट के ही एक लेंटर के नीचे खड़े हुए थे। अचानक लेंटर भरभरा कर गिर गया। इसमें करीब दो दर्जन लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। इनमें से अधिकतर लोग रामधन के रिश्तेदार थे, जिनका उस वक्त वहां अंतिम संस्कार हो रहा था।

गाजियाबाद (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक इराज राजा ने कहा कि इस घटना के कई घंटे बाद भी और लोगों की तलाश में बचावकर्मी मलबा छान रहे हैं। हादसे में किसी को भागने तक का मौका नहीं मिला। चीख-पुकार के बीच कुछ लोग उसके अंदर ही मलबे में दब गए, जबकि कुछ ने बमुश्किल दौड़कर अपनी जान बचाई। भवन ज्यादा पुराना नहीं था। आशंका है कि ज्यादा बारिश के कारण भराव की जमीन में बने भवन की मिट्टी बैठ गई और यह दुर्घटना घटी। बता दें कि दिल्ली एनसीआर में रविवार सुबह से बारिश हो रही है।

Next Stories
1 कोवैक्सीन को मंजूरी पर पीएम मोदी की बधाई, इधर शशि थरूर का दावा- तीनों ट्रायल से नहीं गुजरा टीका, खतरनाक है ऐसा करना
2 सीएम शिवराज चौहान की कैबिनेट का विस्तार, सिंधिया के वफादार तुलसी सिलावट और गोविंद सिंह राजपूत बने मंत्री
3 ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बीफ खाने को लेकर ट्रोल हो रहे रोहित शर्मा समेत 5 क्रिकेटर्स
ये पढ़ा क्या?
X