ताज़ा खबर
 

गौतम अडानी की Adani Airport Holdings Ltd बेच सकती है मुंबई एयरपोर्ट का ये स्टेक, QIA से चल रही एडवांस में बात

बिजनेसमैन अडानी की कंपनी ने पिछले महीने ही मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके ग्रुप में हिस्सेदारी का अधिग्रहण के लिए करार किया था। इसके बाद उसकी हिस्सेदारी बढ़ कर 74 फीसदी होने की बात कही गई थी।

gautam adaniअडानी ग्रुप के मुखिया गौतम अडानी

बिजनेसमैन गौतम अडानी की कंपनी अडानी एयरपोर्ट होल्डिंग्स लिमिटेड मुंबई एयरपोर्ट इंटरनेशनल लिमिटेड में अपनी हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर रही है। कंपनी की तरफ से इसके लिए कतर इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी से बात कर रही है।

मामले के जानकार लोगों का कहना है कि क्यूआईए मुंबई एयरपोर्ट में सीधे निवेश करना चाहता है। लेकिन उसे अडानी एयरपोर्ट में हिस्सेदारी खरीदनी हो होगी। मिंट की खबर के अनुसार इस मामले में अडानी ग्रुप और कतर इन्वेस्टमेंट दोनों ने ही टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। बता दें कि कतर इन्वेस्टमेंट कंपनी पहले ही अडाणी मुंबई इलेक्ट्रिसिटी लिमिटेड में निवेशक है। मालूम हो कि बिजनेसमैन अडानी की कंपनी ने पिछले महीने ही मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके ग्रुप में हिस्सेदारी का अधिग्रहण के लिए करार किया था।

इसके बाद उसकी हिस्सेदारी बढ़ कर 74 फीसदी होने की बात कही गई थी। मुंबई एयरपोर्ट में हिस्सेदारी के बाद 6 एयरपोर्ट अडानी ग्रुप के अधीन आ जाएंगे। इसके बाद अडानी ग्रुप देश का दूसरा सबसे बड़ा प्राइवेट एयरपोर्ट ऑपरेटर बन जाएगा। फिलहाल देश का सबसे बड़ा प्राइवेट एयरपोर्ट ऑपरेटर जीएमआर ग्रुप है, जो दिल्ली और हैदराबाद एयरपोर्ट जैसे हवाई अड्डों का संचालन कर रहा है।

अडानी समूह फिलहाल देश के 11 बंदरगाहों का संचालन करता है, जबकि मुंबई एयरपोर्ट समेत देश के 6 बड़े हवाईअड्डों का ठेका भी उसके पास है। इस तरह अब कुल 12 बंदरगाहों का संचालन अडानी ग्रुप के पास हो जाएगा। यही नहीं अडानी लॉजिस्टिक्स कंपनी के जरिए कार्गो बिजनेस में भी गौतम अडानी का बड़ा दखल है। पावर सेक्टर की ही बात करें तो कंपनी जनरेशन, ट्रांसमिशन से लेकर डिस्ट्रिब्यूशन तक के बिजनेस में शामिल है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन की मदद से हो सकती है अनुच्छेद 370 की बहाली- बोले थे NC चीफ; BJP का पलटवार- राहुल PAK में, तो फारूक चीन में बन रहे हीरो
2 कृषि कानूनों के खिलाफ याचिकाओं पर SC का केंद्र को नोटिस, कहा- 4 हफ्तों के भीतर दें जवाब
3 विजयाराजे सिंधियाः ग्वालियर राजघराने की महारानी ने जब इंदिरा गांधी के खिलाफ खोल दिया था मोर्चा, जानें पूरा किस्सा
बिहार चुनाव
X