scorecardresearch

एकनाथ शिंदे के सीएम बनने पर कांग्रेस ने घेरा तो BJP नेता बोले- एक दिन दूरबीन से ढूंढने पर भी कांग्रेस नहीं मिलेगी

बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने एक टीवी डिबेट में कहा कि कांग्रेस पार्टी नैतिकता की बात करती है और राजस्थान में बसपा के 6 विधायक मर्ज करा दिए। उन्होंने सवाल किया कि वो क्या था, लूटतंत्र था या रुपए की ताकत थी।

Gaurav Bhatia | bjp leader | politics|
बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया। (Photo Credit@BJP4India)।

महाराष्ट्र में तख्तापलट के बाद महाविकास अघाड़ी गठबंधन सत्ता से हट गया और उसकी जगह शिंदे-भाजपा गठबंधन ने ले ली। एकनाथ शिंदे अब महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री हैं। इसी मुद्दे पर एक टीवी चैनल पर चल रही डिबेट में जब कांग्रेस नेता ने एकनाथ शिंदे के सीएम बनने पर घेरा तो बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने भी दमदार जवाब दिया। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि ये पार्टी एक दिन दूरबीन से ढूंढने पर भी नहीं मिलेगी।

गौरव भाटिया ने शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन पर हमला करते हुए कहा कि 2019 में महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के पास 45 सीटें आईं और शिवसेना के साथ सरकार बना ली, उस शिवसेना के साथ, जिसे बनाने वाले बालासाहब ठाकरे जी ने कहा था कि चाहे दुकान बंद हो जाए, लेकिन कांग्रेस के साथ नहीं जाऊंगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पीएम मोदी की विचारधारा के खिलाफ चुनाव लड़ा और सरकार बना ली शिवसेना के साथ, जो बीजेपी के साथ थी और उस पार्टी ने मोदी जी का पोस्टर लगाकर चुनाव लड़ा।

उन्होंने कहा कि तीसरा कांग्रेस पार्टी नैतिकता की बात करती है और राजस्थान में बसपा के 6 विधायक मर्ज करा दिए। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि वो क्या था, लूटतंत्र था या रुपए की ताकत थी। उन्होंने आगे कहा, “मैं इतना ही कहूंगा कि इनकी नैतिकता और विचारधारा का दिवालियापन हो रखा है। गायब हो रहे हैं एक दिन आप दूरबीन से ढूंढेंगे और कांग्रेस पार्टी नहीं मिलेगी। इसकी वजह क्या है, हिंदुत्व को गाली देते हो इसलिए हिंदुत्व की ताकत पता चली है।”

गौरतलब है कि पिछले तकरीबन 10 दिनों से महाराष्ट्र की राजनीति में चल रही उठा-पटक आखिरकार गुरुवार को समाप्त हो गई। एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं और देवेंद्र फडणवीस को राज्य का नया डिप्टी सीएम बनाया गया। आज राज्य भवन में दोनों नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की उपस्थिति में अपने-अपने पद की शपथ ग्रहण की। उद्धव ठाकरे के बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे के बाद से बीजेपी और शिंदे खेमे में खुशी और जश्न का माहौल था।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X