ताज़ा खबर
 

Watch Video: राजस्थान के भारत-पाक बॉर्डर पर गैस रिसाव जारी, अलर्ट हुई BSF

राजस्थान में जैसलमेर के डांडेवाला में ऑयल इंडिया के कुएं से हो रहे गैस के रिसाव को रोकने में अब तक सफलता नहीं मिली है।

Author नई दिल्ली/ जैसलमेर | October 14, 2015 11:22 AM

राजस्थान में जैसलमेर के डांडेवाला में ऑयल इंडिया के कुएं से हो रहे गैस के रिसाव को रोकने में अब तक सफलता नहीं मिली है। कई दिनों से जारी इस रिसाव को रोकने के लिए कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी वहीं डेरा डाले हुए हैं। ओएनजीसी के विशेषज्ञों को भी इसके लिए बुलाया गया है। रिसाव के बाद से ही पूरे इलाके को सील कर दिया गया है।

हाल ही जब सोमवार को गैस रिसाव को बंद करने की कोशिश की गई तो बंद होने की बजाए वहां पर भयानक विस्फोट हो गया। हालांकि किसी को इस विस्फोट से कोई नुकसान नहीं हुआ, क्योंकि यह जगह रिहाइशी शहर के इलाके से दूर भारत-पाकिस्तान के बॉर्डर पर है। इस घटना के बाद बॉर्डर पर तैनात जवानों को हाई अलर्ट कर दिया है।

ऐसे मेंफिलहाल तकनीकि विशेषज्ञ रिसाव पर काबू पाने का पूरा प्रयास कर रहे है लेकिन यह कहना मुश्किल है कि आखिर कब तक इस रिसाव हो रोका जा सकेगा। कंपनी सूत्रों का कहना है कि इस कुएं से रिसाव कई दिन से हो रहा है। बताया जा रहा है कि कुएं के अंदर की केसिंग व सीमेंट के बीच कहीं पर लीकेज होने के कारण गैस का रिसाव शुरू हुआ। यह धीरे-धीरे बढ़ता गया।

अब हालात यह हो गए हैं कि कुएं के चारों तरफ करीब चालीस फीट के क्षेत्र में जमीन के अंदर से कई स्थान पर गैस निकल रही है। कंपनी ने एक बार इस कुएं को पूरी तरह से बंद कर दिया, लेकिन इसके बाद आसपास के क्षेत्र से गैस ज्यादा निकलना शुरू हो गई। इसके बाद गैस उत्पादन को जारी रखा है, ताकि रिसाव काबू में रखा जा सके।

जानकारों के मुताबिक इस कुएं से रोजाना नौ हजार क्यूबिक मीटर गैस का उत्पादन होता है। अत्यंत ज्वलनशील मानी जाने वाली यह गैस कभी भी आग पकड़ सकती है। इससे बचने के लिए कुएं के निकट राहत टीम सिर्फ दिन के समय ही काम कर रही है। मौके पर लाइट भी नहीं जलाई जा सकती।

रेस्कयू टीम के मोबाइल तक बंद करवा दिए गए है। उनके लिए खाना भी अन्य स्थान से भेजा जा रहा है। जैसलमेर जिले में ऑयल इंडिया लिमिटेड करीब सात मिलीयन क्यूबिक मीटर गैस का रोजाना उत्पादन करती है। इस गैस का उपयोग निकट ही रामगढ़ में स्थित गैस आधारित विद्युत उत्पादन केन्द्र में किया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App