ताज़ा खबर
 

निहत्‍थे भारतीय सैनिकों को चीनियों ने बल्‍ले, स्‍टिक्‍स, पत्‍थरों से मारा, कई को गलवान नदी में फेंका, 10 दिन पहले भी हुई थी बड़ी भिड़ंत

कहा जा रहा है कि सोमवार की ताजा झड़प में नोंकदार सामानों से हमला करने के बजाय कुछ जवानों को गलवान नदी के अत्यधिक ठंडे पानी में धकेला गया। अधिकतर जवानों की जान इस हाई एल्टीट्यूड वाले इलाके में भयंकर ठंड का शिकार होने के बाद भी गईं।

India, China, LACबिहारः पटना में डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी हवलदार सुनील कुमार के पार्थिव शरीर को माल्यार्पण समारोह के दौरान श्रद्धांजलि देते हुए। 15 और 16 जून की दरमियानी रात गलवान में शहीद 20 जवानों में कुमार भी शामिल थे। (फोटोः पीटीआई)

LAC पर भारत और चीन के बीच विवाद को लेकर 15 और 16 जून की रात को खूनी झड़प के दौरान निहत्‍थे भारतीय सैनिकों को चीनियों ने बल्‍ले, स्‍टिक्‍स, पत्‍थरों से मारा था। बेहद ठंडे इलाके में उन्होंने देश के कई सैनिकों को गलवान नदी में भी फेंका, जिसका पानी आमतौर पर खासा ठंडा रहता है। हालांकि, इससे 10 दिन पहले भी दोनों मुल्कों के सैनिकों के बीच एक बड़ी भिड़ंत हुई थी।

पांच और छह मई की रात Pangong Tso के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच बड़ी भिड़ंत हुई थी, जिसमें तकरीबन 70 भारतीय जवान जख्मी हुए थे। ऐसे अधिकतर झड़पों में पीएलए (चीनी सेना) के जवानों ने अधिक चोट पहुंचाने के लिए बल्ले, तार लिपटे गदे, डंडे और पत्थरों का इस्तेमाल किया था।

कहा जा रहा है कि सोमवार की ताजा झड़प में नोंकदार सामानों से हमला करने के बजाय कुछ जवानों को गलवान नदी के अत्यधिक ठंडे पानी में धकेला गया। अधिकतर जवानों की जान इस हाई एल्टीट्यूड वाले इलाके में भयंकर ठंड का शिकार होने के बाद भी गईं।

India China Face-off LIVE

चीन के कितने सैनिक इस झड़प में खून-खच्चर हुए? फिलहाल इस बारे में सेना और विदेश मंत्रालय के आधिकारिक बयानों में कोई जानकारी नहीं दी गई। हालांकि, मंगलवार को सेना के आए बयान में इतना जरूर कहा गया था- कैजुअल्टी दोनों ओर हुई हैं। वहीं, चीनी सरकार और वहां की सेना ने भी मारे और घायल हुए सैनिकों की संख्या का खुलासा नहीं किया।

Indo-China Tension LIVE Updates

वैसे, समाचार एजेंसी ANI ने रेडियो ट्रांसमिशन इंटरसेप्ट्स के आधार पर बताया था कि 43 चीनी सैनिक इस झड़प में मारे गए हैं या जख्मी हुए हैं। usnews.com की एक अन्य रिपोर्ट में ‘अमेरिकी इंटेलिजेंस’ के हवाले से कहा गया कि एक अफसर समेत 35 चीनी फौजी मारे गए हैं।

बता दें कि मंगलवार को मेजर जनरल स्तर पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच बैठक हुई, जो कि देर शाम तक चली। स्थिति इसके बाद नियंत्रण में आई और भारत को उसके बाद शहीद जवानों के पार्थिव शरीर लाने दिए गए। इसी बीच, चीनियों को अपने घायल जवानों को वापस ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर लाने की मंजूरी दी गई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 India China Faceoff: हिंसक झड़प में ड्रैगन को हुआ भारी नुकसान, भारतीय सैनिकों ने 30 चीनी सैनिक मार गिराए
2 India China Faceoff: लद्दाख में खूनी झड़प पर ग्‍लोबल टाइम्‍स ने चेताया- चुप रहना ही अच्‍छा, ट्विटर पर भारतीयों को भड़काएं नहीं
3 लद्दाख में शहादत: राजनाथ सिंंह ने ट्वीट में नहीं लिया चीन का नाम, राहुल गांधी ने पूछा- क्‍यों कर रहे शहीदों का अपमान
ये पढ़ा क्या?
X