ताज़ा खबर
 

गजानंद शर्माः इस हिंदुस्तानी को दो महीने के बदले 36 साल क्यों बिताने पड़े पाकिस्तानी जेल में

गजानंद जब 32 साल के थे, तब वह अचानक से लापता हो गए थे और सोमवार को जब वह भारत लौटे हैं वह 68 साल के हो चुके हैं। गजानंद के परिवार वालों के लिए इस साल की शुरुआत में एक ऐसी खबर आई थी, जिसने उन्हें जीने का एक नया मकसद दिया था।

पाकिस्तान की जेल में 36 साल रहकर भारत वापस आए गजानंद शर्मा (फोटो सोर्स- एएनआई ट्विटर)

स्वंतत्रता दिवस के दो दिन पहले यानी 13 अगस्त को भारत के गजानंद शर्मा को आजादी मिल गई है। जी हां, जयपुर के रहने वाले गजानंद शर्मा 36 साल तक पाकिस्तान की जेल में रहने के बाद आखिरकार भारत लौट आए हैं। भारत के लिए और गजानंद के परिवार के लिए यह बहुत खुशी का पल है। 36 साल पहले गजानंद कैसे पाकिस्तान पहुंचे थे और उन्हें किस मामले में सजा सुनाई गई थी, इसे लेकर अभी भी कई सवाल हैं, लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि गजानंद को केवल दो महीने की सजा सुनाई गई थी, लेकिन वह करीब 36 साल तक लाहौर सेंट्रल जेल में रहे।

पंजाब के सामाजिक कार्यकर्ता सहदेव शर्मा ने वाघा-अटारी बॉर्डर पर गजानंद का स्वागत किया। उन्होंने इस मौके पर कहा, ‘केंद्र सरकार की तरफ से स्वतंत्रता दिवस के मौके पर यह हम सबको मिला एक गिफ्ट है।’ गजानंद समेत पाकिस्तान ने 29 भारतीय कैदियों को सोमवार (13 अगस्त) को रिहा किया है। इसमें 26 मछुआरे भी शामिल हैं। भारत की तरफ से पाकिस्तान के इस कदम का स्वागत किया गया है।

गजानंद जब 32 साल के थे, तब वह अचानक से लापता हो गए थे और सोमवार को जब वह भारत लौटे हैं वह 68 साल के हो चुके हैं। गजानंद के परिवार वालों के लिए इस साल की शुरुआत में एक ऐसी खबर आई थी, जिसने उन्हें जीने का एक नया मकसद दिया था। साल की शुरुआत में यह खबर आई थी कि गजानंद जिंदा हैं और पाकिस्तान की जेल में हैं। गजानंद की नागरिकता को स्पष्ट करने के लिए जयपुर पुलिस के पास कुछ दस्तावेज आए थे। पुलिस जब गजानंद के परिवार से इस मामले में पूछताछ करने पहुंची, तब उनके परिवार में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। उसी वक्त गजानंद के परिवार को यह पता चला कि वह लाहौर की जेल में बंद हैं। गजानंद के परिवार में तीन सदस्य हैं- उनकी पत्नी मखनी देवी, दो बेटे राकेश और मुकेश।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App