ताज़ा खबर
 

पांच साल में टोल से कमाई एक लाख करोड़ रुपए प्रतिवर्ष तक पहुंच सकती है: गडकरी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक दिसंबर 2019 से टोल भुगतान केवल ‘फास्टैगह्ण के जरिए होगा।

Author Updated: October 15, 2019 4:00 AM
यह मंत्रालय की प्रमुख पहल है, जो कि वाहनों की निर्बाध आवाजाही सुनिश्चित करेगी और बाधाओं को दूर करेगी। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को यह दावा किया कि इलेक्ट्रॉनिक पथ कर संग्रह कार्यक्रम जैसी पहलों से भारत का टोल संग्रह अगले पांच साल में बढ़कर एक लाख करोड़ रुपए सालाना हो सकता है। गडकरी ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) के अधीन कुल 1.4 लाख किलोमीटर राजमार्ग आता है , जिसमें से 24,996 किलोमीटर राजमार्ग टोल के दायरे में आता है। साल के अंत में यह बढ़कर 27,000 किलोमीटर हो जाएगा।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक दिसंबर 2019 से टोल भुगतान केवल ‘फास्टैगह्ण के जरिए होगा। यह मंत्रालय की प्रमुख पहल है, जो कि वाहनों की निर्बाध आवाजाही सुनिश्चित करेगी और बाधाओं को दूर करेगी। जीएसटी परिषद, जीएसटी ई-वे बिल प्रणाली के एकीकरण की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी चुकी है। इस संबंध में करार भी किया गया है।

गडकरी ने ‘एक राष्ट्र एक फास्टैग’ पर आयोजित एक सम्मेलन में कहा कि हमारा पथ कर संग्रह सालाना 30,000 करोड़ रुपए है, चूंकि हम और सड़के बना रहे हैं, लिहाजा हम इस लक्ष्य के साथ आगे बढ़ेंगे कि अगले पांच साल में पथ कर से होने वाली आय बढ़कर सालाना एक लाख करोड़ रुपए हो जाए। यदि हमें यह राजस्व प्राप्त होता है तो हम बैंक से कर्ज ले सकते हैं और बाजार से अधिक धन जुटा सकते हैं, जिससे परियोजनाओं पर अधिक निवेश किया जा सकता है।

गडकरी ने कहा कि संसाधनों की कोई कमी नहीं है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) के तहत आने वाली 75 प्रतिशत परियोजनाएं बैंकों द्वारा वित्तपोषण के लिए व्यावहारिक हैं। इस अवसर पर उन्होंने फास्टैग के लिए प्रीमियम एनएचएआई वॉलेट भी पेश किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 प्री-स्कूल में बच्चों का लगातार आकलन होना चाहिए: एनसीईआरटी
2 1.8 लाख घरों में नहीं मनेगी दिवाली: सैलरी संकट से परेशान BSNL, MTNL कर्मी घेरेंगे PM आवास, भूख हड़ताल की भी दी चेतावनी
3 ‘जवान लड़के-लड़कियों को हो रही थी दिक्कत, अब जी भरकर कर सकेंगे बात’, बोले जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल