ताज़ा खबर
 

FTII स्टूडेंट्स हड़ताल खत्म कर ज्वाइन करेंगे अपनी क्लासेज

चार महीने के लंबे समय के बाद अब फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के स्टूडेंट्स जल्द ही हड़ताल खत्म कर अपनी क्लासेस फिर से ज्वाइन करेंगे।

Author नई दिल्ली | October 28, 2015 4:05 PM

चार महीने के लंबे समय के बाद अब फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के स्टूडेंट्स जल्द ही हड़ताल खत्म कर अपनी क्लासेस फिर से ज्वाइन करेंगे। अब स्टूडेंट्स बेहद थक चुके हैं, लिहाजा उन्हें समझ आ गया है कि सरकार उनकी मांग पूरी नहीं करेगी।

बताते चलें कि एफटीआईआई में गजेंद्र चौहान को चेयरमैन बनाए जाने के विरोध में स्टूडेंट्स की ओर से यह आंदोलन पूरे 139 दिनों से चल रहा है, लेकिन अब जल्द ही इसे विराम दिया जाएगा।

हड़ताल कर रहे छात्रों ने आज एक कॉफ्रेंस आयोजित की, जिसमें उन्होंने अपनी आगे की योजना के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भले ही फिलहाल उन्होंने हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया हो लेकिन इसके साथ ही वे ‘शांतिपूर्ण एवं लोकतांत्रिक ढंग’ लगातार विरोध करते रहेंगे।

स्ट्राइक कर रहे के एक प्रतिनिधि ने पुणे में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वे क्लास में जाएंगे, लेकिन नियुक्ति का मुद्दा जब तक हल नहीं हो जाता, तब तक मंत्रालय से किसी तरह की बातचीत नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा, हमारे आंदोलन की सफलता यह है कि हम अपनी चिंताओं को आम नागरिकों तक पहुंचा पाए। अब फिल्मकारों, कलाकारों और अन्य लोगों को इस लड़ाई को आगे बढ़ाना चाहिए। हमारी उचित चिंताओं को उन्हें आगे बढ़ाना चाहिए।’

एफटीआईआई के छात्र बीजेपी से जुड़े अभिनेता गजेंद्र चौहान को देश के प्रमुख फिल्म संस्थान का निदेशक बनाए जाने के विरोध में हड़ताल पर थे। स्टूडेंट्स की राय में गजेंद्र सिंह चौहान देश के अहम फिल्म इंस्टीट्यूट के अध्यक्ष बनने की काबिलियत नहीं रखते हैं वाबजूद इसके उन्हें ही चेयरपर्सन बना दिया गया।

स्टूडेंट एसोसिएशन के एक सदस्य के मुताबिक सरकार उनकी मांगों को नजरअंदाज कर रही है और लगातार स्ट्राइक से उनका वक्त भी बर्बाद हो रहा है। ऐसे में उन्हें हड़ताल खत्म करने का फैसला लेना पड़ रहा है।

संस्थान के एक ऑफीसर का कहना है कि उन्हें छात्रों के इस फैसले की जानकारी है, उन्होंने बताया कि हाल ही जनरल बॉडी में हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App