हवाई यात्रा करने जा रहे हैं? घरेलू उड़ानों के लिए बदल गए हैं नियम

यात्रियों की क्षमता पर लगी पाबंदी को हटाने वाले आदेश में कहा गया है कि घरेलू संचालन और हवाई यात्रा को लेकर यात्रियों की मांग की मौजूदा स्थिति को देखते हुए इस तरह का फैसला लिया गया है।

Indian Airlines, Air India, Indigo
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने यात्रियों की संख्या पर लगी पाबंदी को हटा लिया है(फोटो सोर्स: PTI)।

कोरोना महामारी के चलते हवाई यात्रा पर लगाए गए प्रतिबंधों में अब लोगों को छूट मिलनी शुरू हो गई है। बता दें कि 18 अक्टूबर से यात्रियों की पूरी क्षमता के साथ उड़ानें संचालित होंगी जोकि अभी 85 फीसदी ही थी। मलतब ये कि अब सभी सीटों पर यात्रियों के लिए बुकिंग हो सकेगी। मंगलवार को सरकार की तरफ से जानकारी देते हुए एयरलाइंस और हवाईअड्डा संचालकों से कहा गया कि, कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए जरूरी दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।

जारी निर्देशों में कहा गया है कि, यात्रा के दौरान कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए संचालकों को सभी तरह के उपाय सुनिश्चित करने होंगे। इसके साथ ही यात्रा के दौरान कोविड नियमों का सख्‍ती से पालन कराया जाए। गौरतलब है कि कोरोना महामारी पर काबू पाने के पिछले साल मई में हवाई यात्रा पर यात्रियों के लिए एक क्षमता निर्धारित कर दी गई थी। जिसपर अब पाबंदी हटा ली गई है।

वहीं इस साल सितंबर में सरकार की तरफ से घरेलू उड़ानों में यात्रियों की क्षमता 72.5 फीसदी से 85 फीसदी किया गया था। जारी हुए नए आदेश में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा है कि, 18 सितंबर से एयरलाइंस अपनी कोविड पूर्व ​​घरेलू सेवाओं के 85 प्रतिशत का संचालन कर रही हैं, जिसे 18 अक्टूबर से 100 फीसदी किया जाएगा।

मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि, विमानन कंपनियां 12 अगस्त से 18 सितंबर के बीच कोरोना काल से पहले की अपनी घरेलू उड़ानों में से 72.5 प्रतिशत का संचालन कर रही थीं। वहीं 5 जुलाई से 12 अगस्त के बीच यह सीमा 65 फीसदी थी। इसके अलावा एक जून से पांच जुलाई के दौरान यह सीमा 50% थी। नौ अक्टूबर को भारतीय विमानन कंपनियों द्वारा 2,340 घरेलू उड़ानों का संचालन किया गया, यह कोविड से पहले की क्षमता का 71.5 प्रतिशत है।

हालांकि अब मंत्रालय ने फैसला लिया है कि, 18 अक्टूबर 2021 से यात्रियों की क्षमता पर किसी भी प्रकार का प्रतिबंध लागू नहीं होगा। आदेश में कहा गया है कि घरेलू संचालन और हवाई यात्रा को लेकर यात्रियों की मांग की मौजूदा स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। मालूम हो कि कोरोना महामारी के मद्देनजर सरकार ने पिछले साल 25 मई को दोबारा शुरू करने का फैसला किया था। इस दौरान 33 प्रतिशत से अधिक के संचालन की अनुमति नहीं दी थी।

वहीं दिसंबर 2020 तक हालात को देखते हुए इसे 80 प्रतिशत कर दिया गया। इसके अलावा इस महीने की शुरुआत में क्रेडिट रेटिंग एजेंसी ICRA ने कहा कि अगस्त और सितंबर के बीच घरेलू हवाई यात्री यातायात में 2 से 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई जोकि 67 लाख से 69 लाख तक रही।

फिलहाल देश में अब कोरोना के मामलों में कमी देखी जा रही है। ऐसे में अब मंत्रालय ने यात्रियों की संख्या पर लगी पाबंदी को हटा लिया है। अब पूरी क्षमता के साथ हवाई यात्रा की जा सकेगी। हालांकि इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल का ध्यान सख्ती से रखना होगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट