ताज़ा खबर
 

चुनावी ड्यूटी से फ्री हो अब फैमिली फंक्शन में जुटे जेपी नड्डा, महीने के अंत में बेटे की शादी, तीन शहरों में भव्य आयोजन

इससे पहले कि एक बार फिर से राजनीतिक प्रचार-प्रसार अभियान शुरू हो नड्डा व्यक्तिगत कार्यों को पूरा करने में जुट गए हैं। इसी महीने के अंत में नड्डा के बेटे की शादी होनी है।

चुनावी ड्यूटी से फ्री हो जेपी नड्डा अब फैमिली फंक्शन में जुट गए हैं। (Express File Photo by Tashi Tobgyal)

दिल्ली चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। जनता ने अपना फैसला सुना दिया है और इसी के साथ नेताओं को अब राहत और अपना निजी काम करने की फुर्सत मिल गई है। इससे पहले कि एक बार फिर से राजनीतिक प्रचार-प्रसार अभियान शुरू हो नेता व्यक्तिगत कार्यों को पूरा करने में जुट गए हैं। चुनावी ड्यूटी से फ्री होने के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी फैमली फंक्शन में जुट गए हैं।

इंडियन एक्सप्रेस के दिल्ली कॉफिडेंशियल कॉलम में छपी रिपोर्ट के मुताबिक,  इस महीने के अंत में जेपी नड्डा के बेटे की शादी है। तीन शहरों में भव्य आयोजन होना है। माना जा रहा है नड्डा बेटे की शादी के लिए तीन भव्य आयोजन की तैयारी में जुटे हैं। शादी अजमेर में होनी है, और दिल्ली तथा हिमाचल में रिसेप्शन की योजना है। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे और विवाद समारोह का समय टकराने की वजह से थोड़ी असहजता हो सकती है।

हालांकि दिल्ली विधानसभा चुनाव में हार के बाद भाजपा नेताओं ने शुरूआती दौर की समीक्षा की और पार्टी सूत्रों ने कहा कि चुनाव में भाजपा के मत प्रतिशत में वृद्धि होने के बावजूद मुकाबले के ‘‘द्विध्रुवी’’ हो जाने के कारण उसे हार का सामना करना पड़ा।

भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और महासचिव (संगठन) बी एल संतोष से मुलाकात की। पार्टी मुख्यालय में हुयी यह बैठक दो घंटे से अधिक समय तक चली। सूत्रों के अनुसार, बैठक में नेताओं ने महसूस किया कि पार्टी पूरे जोश के साथ चुनाव लड़ी और इसके परिणामस्वरूप उसके और उसके सहयोगियों के मतों में आठ प्रतिशत की वृद्धि हुई। लेकिन चुनाव के “द्विध्रुवी’’ हो जाने के कारण उसे हार का सामना करना पड़ा। कांग्रेस कभी दिल्ली में प्रमुख पार्टी होती थी लेकिन इस बार वह मुकाबले में कहीं नहीं थी।

बैठक में महसूस किया गया कि भविष्य में, पार्टी को राष्ट्रीय राजधानी में द्विध्रुवी मुकाबले के लिए खुद को तैयार करना चाहिए। भाजपा ने विभिन्न निर्वाचन क्षेत्र में अपने प्रदर्शन का विश्लेषण करने के लिए शुक्रवार को दिल्ली इकाई के कार्यालय में बैठकों की योजना बनाई है। पार्टी के हारने वाले उम्मीदवारों, विभिन्न क्षेत्रों के प्रभारियों, सांसदों, दिल्ली इकाई के पदाधिकारियों और अन्य लोगों के साथ अलग अलग बैठकें की जाएंगी। पार्टी की दिल्ली इकाई इन बैठकों के आधार पर एक रिपोर्ट तैयार करेगी जो केंद्रीय नेतृत्व को सौंपी जाएगी। (भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 वीडियो में है, फिर भी अमित शाह बोले- किसी ने नहीं कहा कि बहू-बेटियों का बलात्कार करेंगे
2 पीएम मोदी के खिलाफ सोशल मीडिया पोस्ट शेयर करने पर राज्यसभा के मुस्लिम अफसर पर कार्रवाई, लोअर ग्रेड में कर दी गई तैनाती
3 बिहार चुनाव से पहले राजद को करारा झटका, लालू यादव के समधी चंद्रिका राय ज्वाइन करेंगे सीएम नीतीश की पार्टी
ये पढ़ा क्या?
X