ताज़ा खबर
 

भूकंप से 117 मरे: अफगानिस्‍तान में भगदड़ में मरीं 12 बच्चियां, पाकिस्‍तान में सबसे ज्‍यादा मौतें, ग्‍लेशियर दरका

सोमवार दोपहर पाकिस्तान भूकंप के ताजा झटकों से दहला। भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के हिन्दूकुश में है जबकि रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 7.5 मापी गई है। पाकिस्तान के कई हिस्सों में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए..

Author इस्लामाबाद | October 26, 2015 7:03 PM

भारत, अफगानिस्‍तान, पाकिस्‍तान समेत दक्षिण एशिया के कई देशों में सोमवार को शक्तिशाली भूकंप आया, जिसमें अभी तक कुल 117 लोगों की मौत की खबर है, इनमें सबसे ज्‍यादा 105 पाकिस्‍तान में, जबकि 12 अफगानिस्‍तान में मारे गए हैं। भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान की ‌हिंदुकुश पहाड़ियों में जरम शहर के पास था, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 7.7 आंकी गई है।

भूकंप ने सबसे ज्‍यादा तबाही पाकिस्‍तान में मचाई है। पाकिस्‍तान के अखबार ‘द एक्‍सप्रेस टिृब्‍यून’ और ‘डॉन’ के मुताबिक, वहां अभी तक 58 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, भारत में भूकंप का सबसे ज्‍यादा असर दिल्‍ली-एनसीआर में देखने को मिला। यहां करीब दो मिनट तक भूकंप आया। भूकंप की तीव्रता को देखते हुए दिल्‍ली मेट्रो ने कुछ देर के लिए सेवाएं रोक दीं।

भूकंप का केंद्र अफगानिस्‍तान के हिंदुकुश में था। इसकी तीव्रता रिक्‍टर पैमाने पर 7.7 बताई गई। दिल्ली-एनसीआर में ये झटके करीब दो मिनट तक महसूस किए गए।

इतना ही नहीं, सुप्रीम कोर्ट में दो मामलों की सुनवाई हो रही थी। भूकंप आते ही जज समेत सभी के बाहर निकल गए। भूकंप के कारण जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व सीएम उमर अब्‍दुल्‍ला को भी भागना पड़ा। उमर ने ट्वीट कर कहा, ‘2005 के बाद यह पहला मौका है जब भूकंप के कारण मुझे बाहर की तरफ भागना पड़ा।’ अब्‍दुल्ला ने बताया कि श्रीनगर में इलेक्ट्रिसिटी सप्लाइ बंद कर दी गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है।

देखें भूकंप के VIDEOS और PHOTOS 

इसके अलावा पाकिस्तान स्थित गिलकिट-बाल्टिस्तान के हुंजा रीजन में ग्लेशियर दरकने की भी खबर है।

इसी साल नेपाल में 12 मई को 7.3 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसने भारी तबाही मचाई थी। नेपाल में आए भूकंप का केंद्र भी हिंदुकुश की पहाड़ियों में ही था।

दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, ”अफगानिस्तान-पाकिस्तान रीजन में भूकंप की खबर है। इसका भारत के भी कुछ हिस्सों में असर हुआ है। मैं सबकी सलामती की दुआ करता हूं। नुकसान का आकलन किया जा रहा है। जरूरत पड़ी तो हम लोग अफगानिस्तान और पाकिस्तान की मदद के लिए तैयार हैं।”

कहां हुई सबसे ज्‍यादा तबाही: 

  • पाकिस्‍तान के सरगोधा में सबसे ज्‍यादा तबाही की खबर है।
  • पीओके में ग्‍लेशियर दरकने की भी खबर है। पाकिस्तान के मौसम विज्ञान विभाग ने दावा किया है कि भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 8.1 थी।
  • गुलाम कश्‍मीर के इस्‍लामगढ़ में 14 साल के लड़के की भूकंप में मौत की खबर।
  • अफगानिस्‍तान में भूकंप के बाद मची भगदड़ में 12 स्‍कूली लड़कियों की मौत हो गई।
  • भूकंप के कारण चित्राल में भी 10 लोगों की मौत हुई है।

दिल्‍ली समेत उत्‍तर भारत में क्‍या हुआ असर: 

  • दिल्ली में मेट्रो सर्विस कुछ देर के लिए रोकी गई। कई इमारतें खाली कराई गईं।
  • सुप्रीम कोर्ट में दो मामलों की सुनवाई हो रही थी। भूकंप आते ही जज समेत सभी के बाहर निकल गए। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है।

भारत में भूकंप का असर:

  • भूकंप करीब दो मिनट तक आया, जिसकी वजह से सावधानी बरतते हुए कई इमारतें खाली कराई गईं।
  • जम्मू-कश्मीर में बिजली की सप्लाई बंद। श्रीनगर में टेलीफोन लाइन ठप।
  • इंडियन आर्मी और एयरफोर्स को तैयार रखा गया है।
  • दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, बिहार, मध्य प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और गुजरात में महसूस किए गए झटके। जयपुर में भूकंप के झटके, लोग घरों-दफ्तरों से बाहर निकले।

क्यों आता है भूकंप?

पृथ्वी के अंदर 7 प्लेट्स हैं जो लगातार घूम रही हैं। जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है। बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं। नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है।

Also Read: शुरुआती खबर- दिल्ली, NCR सहित पूरे उत्तर भारत में भूकंप के तेज़ झटके, तीव्रता 7.7 और देखिए शुरुआती तस्‍वीरें 

रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक 8.1 की तीव्रता से आए भूकंप ने देश को हिला दिया।

स्काई न्यूज के मुताबिक अभी तक पाकिस्तान में भूकंप से चार लोगों के मौत की खबर है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App