ताज़ा खबर
 

जब अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था- राजीव गांधी की बदौलत जिंदा हूं

राजीव गांधी ने वाजपेयी जी को अपने दफ्तर में बुलाया, और कहा कि वे उन्हें संयुक्त राष्ट्र में न्यूयॉर्क जाने वाले भारत के प्रतिनिधिमंडल में शामिल कर रहे हैं। राजीव ने उनसे कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वे इस मौके का लाभ उठाकर अपना इलाज भी करा लेंगे।

Atal Bihari Vajpayee, Rajiv Gandhi, bjp, congress, Vajpayee kidney problem, Vajpayee america treatment, former pm Rajiv Gandhi helped Atal Bihari Vajpayee, political news, Hindi news, News in Hindi, Jansattaभारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी (फाइल फोटो)

बात 1991 की है। तब देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या हो चुकी थी। उस वक्त बीजेपी के शिखर पुरुष अटल बिहारी वाजपेयी विपक्ष के नेता थे। राजीव गांधी की हत्या के बाद वाजपेयी ने एक पत्रकार को बड़े भावुक अंदाज में एक वाकया सुनाया और कहा कि आज अगर वो जिंदा है तो राजीव गांधी की वजह से। दरअसल 1991 से पहले वाजपेयी किडनी की समस्या से ग्रसित थे। तब भारत में इस बीमारी का इलाज संभव नहीं था। वाजपेयी जी को इलाज के लिए अमेरिका जाने की जरूरत थी। लेकिन आर्थिक साधनों की तंगी की वजह से वे अमेरिका नहीं जा पा रहे थे।

वाजपेयी ने भावुक होकर यह वाकया बताया था। उन्होंने कहा कि जब राजीव पीएम थे तो पता नहीं कैसे उन्हें उनकी बीमारी के बारे में पता चल गया। राजीव यह भी जान गये कि उनकी किडनी में समस्या है और उन्हें इलाज के लिए विदेश जाने की जरूरत है, लेकिन संसाधनों के अभाव में वाजपेयी इस वक्त वहां जाने में असमर्थ हैं। इस पर राजीव गांधी ने वाजपेयी जी को अपने दफ्तर में बुलाया, और कहा कि वे उन्हें संयुक्त राष्ट्र में न्यूयॉर्क जाने वाले भारत के प्रतिनिधिमंडल में शामिल कर रहे हैं। राजवी ने वाजपेयी से कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वे इस मौके का लाभ उठाकर अपना इलाज भी करा लेंगे। वाजपेयी जी ने पत्रकार को बताया, “मैं न्यूयॉर्क गया और इसी वजह से आज जिंदा हूं।”

न्यूयॉर्क से इलाज कराकर वापस लौटने के बाद ना तो अटल बिहारी वाजपेयी ने और ना ही राजीव गांधी ने इस घटना का किसी से जिक्र किया। सार्वजनिक जीवन में दोनों अपना रोल निभाते रहे। विपक्ष का नेता होने की वजह से वाजपेयी सरकार की आलोचना भी उसी शिद्दत से करते रहे। हालांकि उन्होंने बाद में एक पोस्टकार्ड भेजकर राजीव गांधी को शुक्रिया कहा था। पूरे वाकये का खुलासा तभी हुआ जब राजीव गांधी की हत्या हो गई थी, और एक पत्रकार ने वाजपेयी से राजीव गांधी के बारे में विचार जानने चाहे। बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी राजनीति में मानवीय मर्यादाओं के पालन करने के प्रबल पक्षधर थे। वाजपेयी यहीं शिक्षा अपनी पार्टी के लोगों को भी देते थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 योगी सरकार के मंत्री को महंगी घड़ी देने के लिए अड़ गया था कारोबारी? जवाब भी मिला मजेदार
2 2019 चुनाव में जुटी बीजेपी, ‘अबकी बार मोदी सरकार’ नहीं, अब यह होगा नया नारा
3 कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: CM एचडी कुमारस्वामी हुए पास, बीजेपी पहले ही कर गई वॉक आउट
ये पढ़ा क्या?
X