ताज़ा खबर
 

जब नरसिम्‍हा राव के फोन से दंग रह गए थे मनमोहन सिंह, पूर्व पीएम ने सुनाया किस्‍सा

इंडियन एक्सप्रेस के इनसाइड ट्रैक में छपे कूमी कपूर के लेख के अनुसार इस दौरान पूर्व पीएम ने एक किस्सा सुनाया जब उन्हें अचानक तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा प्रधानमंत्री घोषित किया गया ठीक वैसे ही वित्त मंत्री नियुक्त किया गया।

Author December 30, 2018 11:08 AM
भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह। (फोर्स पीटीआई)

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने अपने भाषणों के संग्रह को पिछले सप्ताह फाइव वॉल्यूम में रिलीज कर दिया। मनमोहन सिंह ने जब यह संग्रह रिलीज किया तब उस कार्यक्रम बड़े पैमाने शिक्षाविद और उनके करीबी दोस्त मौजूद थे। खास बात यह है कि इस दौरान महज आधा दर्जन कांग्रेसी नेता मौजूद थे। इंडियन एक्सप्रेस के इनसाइड ट्रैक में छपे कूमी कपूर के लेख के अनुसार इस दौरान पूर्व पीएम ने एक किस्सा सुनाया जब उन्हें अचानक तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा प्रधानमंत्री घोषित किया गया ठीक वैसे ही वित्त मंत्री नियुक्त किया गया। उन्होंने बताया कि जब आईजी पटेल ने वित्त मंत्री बनने की पेशकश को अस्वीकार कर दिया, तब अलेक्जेंडर ने मनमोहन सिंह के चुने जाने की संभावना का उल्लेख किया।

चूंकि तब तक कुछ निश्चित नहीं था तो सिंह एक कॉन्फ्रेंस में भाग लेने के लिए जिनेवा रवाना हो गए। जब वहां वापसी की तैयारी कर रहे थे तब उन्हें कांग्रेस के दिग्गज तब प्रधानमंत्री नेता पी वी नरसिम्हा राव का फोन आया। फोन पर उन्होंने कहा कि वह शपथ समारोह के लिए अपने आप को तैयार कर ले। राव की सिंह को यह गुप्त सलाह थी। जानना चाहिए कि मनमोहन सिंह एक विनम्र पृष्ठभूमि से आते हैं और सत्ता में एक अस्थाई स्थिति की तुलना में एक सुरक्षित सरकारी नौकरी में स्वभाव से अधिक सहज महसूस करते हैं। उदाहरण के लिए जब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें अपने मत्रिमंडल में शामिल किया तब उन्होंने आपत्ति की, क्योंकि वो अपनी नौकरी और पेंशन की सुरक्षा खो देंगे। एक समझौते के रूप में उन्हें योजना आयोग में सदस्य सचिव नियुक्त किया गया है।

गौरतलब है कि मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की किताब पर बनी फिल्म ‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टिर’ पर सियासत खासी गरमा गई है। फिल्म के ट्रेलर को देखकर कहा जा सकता है कि इस फिल्म के निशाने पर सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी परिवार हैं। फिल्म में सिंह के दस साल के कार्यकाल को दिखाने की कोशिश की गई है। ट्रेलर में मनमोहन सिंह को ऐसे दर्शाया गया है, जैसे उनके हर फैसले में सोनिया गांधी का हस्तक्षेप होता था। फिल्म में मनमोहन सिंह का किरदार अभिनेता अनुपम खेर ने निभाया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X