Former J&K CM Farooq Abdullah on China: We shout about Aksai Chin but we do not have the power to take it - Jansatta
ताज़ा खबर
 

J&K के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने कसा तंज- हम चिल्ला सकते हैं, लेकिन हममें नहीं है चीन से अक्साई चिन लेने की ताकत

फारूक अब्दुल्ला ने कहा, "चीन आज पाकिस्तान का दोस्त है, अगर हमने (भारत) उनसे दोस्ती निभाई होती तो चीन पाकिस्तान का दोस्त नहीं होता।"

Author नई दिल्ली। | July 18, 2017 10:53 AM
जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला। (File Photo)

सिक्किम में भारत और चीन के बीच सीमा विवाद और डोकलाम मुद्दे को लेकर तलवारें खींची हुई है। चीन चाहता है कि भारतीय सेना डोकलाम क्षेत्र से पीछे हट जाए हालांकि भारत किसी भी कीमत पर पीछे हटने को तैयार नहीं है। इस बीच जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने भारत के चीन के साथ रिश्तों को लेकर तंज कसा। फारूक अब्दुल्ला ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, “चीन आज पाकिस्तान का दोस्त है, अगर हमने (भारत) उनसे दोस्ती निभाई होती तो चीन पाकिस्तान का दोस्त नहीं होता।” नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता अब्दुल्ला यही नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि उनके (चीन) पास अक्साई चिन, हम उसे लेकर चिल्ला तो सकते हैं लेकिन हमारे पास ताकत नहीं है कि हम उनसे वह ले सके।

इससे पहले राज्य के पूर्व सीएम अब्दुल्ला ने वर्तमान मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की ओर से चीन विवाद को लेकर दिए बयान पर टिप्पणी की। अब्दुल्ला ने कहा कि मुझे नहीं पता कि चीन कश्मीर में दखल दे रहा है या नहीं। उनको ज्यादा जानकारी होगी क्योंकि वह मुख्यमंत्री हैं। मेरा मानना है कि चीन से लड़ाई लेना अच्छा नहीं होगा। हम लोगों को बातचीत से मामले को हल करना चाहिए। जब अब्दुल्ला से पूछा गया कि पहली बार किसी सीरियस नेता यह माना है कि चीन कश्मीर में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश कर रहा है। इस पर अब्दुल्ला ने कहा कि पता नहीं इनके पास यह जानकारी कहां से आई है। मेरे ख्याल से जब राजनाथ जी से मिले होंगे तब ही उनको इस बात की जानकारी हुई होगी।

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को कहा कि कश्मीर में बवाल के पीछे चीन का भी हाथ है। उन्होंने कहा कि अब कश्मीर के मामले में चीन भी दखल दे रहा है। दिल्ली में गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात के बाद महबूबा ने कहा, “कश्मीर में समस्या कानून व्यवस्था की नहीं है। बाहरी ताकतों का माहौल बिगाड़ने में हाथ है। विदेशी ताकतों द्वारा घुसपैठ की लड़ाई है और अब तो चीन भी इसमें हाथ डाल रहा है।” यह पहली बार है जब देश के किसी निर्वाचित नेता और खासतौर पर जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री ने कश्मीर में दखलंदाजी के लिए चीन का भी नाम लिया है। भारत हमेशा से पाकिस्तान को इसके लिए जिम्मेदार ठहराता है।

भारत के इस मिसाइल से तबाह हो जाएगा पूरा चीन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App