ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में भारतीय नौसेना का पूर्व अधिकारी गिरफ्तार, भारत ने कहा सरकार से कोई संबंध नहीं

पाकिस्तान विदेश सचिव ने शुक्रवार को भारतीय उच्चायुक्त को तलब कर रॉ अधिकारी द्वारा पाकिस्तान में अवैध तरीके से प्रवेश करने तथा बलूचिस्तान तथा कराची में विध्वंसक गतिविधियों में शामिल होने पर विरोध और गहन चिंता व्यक्त की।

Author इस्लामाबाद/नई दिल्ली | March 25, 2016 7:14 PM
भारतीय विदेश मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार को यह मुद्दा पाकिस्तान विदेश सचिव द्वारा इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त के सामने रखा गया। (Photo Source: AP/File)

भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी को पाकिस्तान के बलुचिस्तान में आतंकी गतिविधियों में कथित तौर पर लिप्ट होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है, लेकिन भारत ने तुरंत इससे दूरी बनाते हुए कहा कि उसका नेवी से समय से पहले रिटायर होने के बाद सरकार के साथ कोई लिंक नहीं है। बलूचिस्तान के गृहमंत्री मीर सरफराज बुगती ने कल अधिकारी की पहचान कुल यादव भूषण के तौर पर की। उन्होंने आरोप लगाया कि वह भारतीय नौसेना में कमांडर स्तर के अधिकारी थे और रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (रॉ) में काम कर रहे थे। बुगती ने दावा किया कि भूषण बलूचिस्तान में जातीय हिंसा फैला रहे आतंकवादियों और अलगाववादियों के साथ संपर्क में थे। भूषण को गुरुवार को बलुचिस्तान प्रांत के चमन क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया। उसके बाद उसे पूछताछ के लिए इस्लामाबाद भेज दिया गया।

Read Also: पाकिस्‍तान ने किया RAW officer को गिरफ्तार करने का दावा, भारतीय उच्‍चायुक्‍त तलब

पाकिस्तान ने इस पर विरोध जताने के लिए भारतीय उच्चायुक्त गौतम बंबावाले को तलब किया। पाकिस्तान के विदेश विभाग ने बयान जारी करते हुए कहा, ‘विदेश सचिव ने आज भारतीय उच्चायुक्त को तलब किया और रॉ के एक अधिकारी द्वारा पाकिस्तान में अवैध तरीके से प्रवेश करने तथा बलूचिस्तान तथा कराची में विध्वंसक गतिविधियों में अधिकारी की संलिप्तता के मामले में डिमार्श के माध्यम से अपना विरोध और गहन चिंता व्यक्त की।’

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि शुक्रवार को यह मुद्दा पाकिस्तान विदेश सचिव द्वारा इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त के सामने रखा गया। उन्होंने कहा, ‘नेवी से वक्त से पहले रिटायरमेंट के बाद उसका भारतीय सरकार से कोई लिंक नहीं है। भारत की किसी भी देश के आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप करने में कोई रूचि नहीं है और उसका दृढ़ता से मानना है कि एक स्थिर एवं शांत पाकिस्तान क्षेत्र के हित में है’

पाकिस्तान ने भारत पर पहले भी कराची और बलुचिस्तान में हिंसा करवाने का आरोप लगाय था, लेकिन यह पहली बार है कि वह एक रॉ ऑफिसर को गिरफ्तार करने का दावा कर रहा है। हालांकि, भारत ने सभी आरोपों का खंडन किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X