ताज़ा खबर
 

PSEB से हटा कर लाया गया ECI, जानिए कौन हैं अशोक लवासा की जगह चुनाव आयुक्त बनाए गए राजीव कुमार

चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया, राजीव कुमार 31 अगस्त को पद ग्रहण करेंगे।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: August 22, 2020 8:16 AM
पूर्व वित्त सचिव राजीव कुमार चुनाव आयुक्त पद पर नियुक्त।

केंद्र सरकार ने पूर्व वित्त सचिव और रिटायर्ड आईएएस अफसर राजीव कुमार को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया है। 1984 बैच के झारखंड कैडर के आईएएस राजीव कुमार को अशोक लवासा की जगह पर लाया गया है। लवासा ने एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) में उपाध्यक्ष पद पर नियुक्ति के बाद मंगलवार को चुनाव आयुक्त के पद से इस्तीफा दे दिया था। राजीव कुमार लवासा के जाने के बाद 31 अगस्त को अपना प्रभार संभालेंगे।

राजीव कुमार इसी साल 29 अप्रैल को वित्त सचिव के पद से रिटायर हुए थे। इसके बाद उन्हें तीन साल के लिए पब्लिक एंटरप्राइजेज सिलेक्शन बोर्ड (PSEB) का चेयरमैन नियुक्त किया गया था। अपने कार्यकाल के दौरान राजीव कुमार 2024 के लोकसभा चुनाव में मुख्य चुनाव आयुक्त की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं।

बैंकिंग सिस्टम के कायापलट में निभाई बड़ी जिम्मेदारी
माना जाता है कि राजीव कुमार प्रधानमंत्री कार्यालय के सबसे भरोसेमंद अधिकारियों में से हैं। उन्हें हर समस्या का हल निकालने के लिए जाना जाता रहा है। राजीव कुमार ने कानून के साथ प्राणी विज्ञान (Zoology) से ग्रेजुएशन किया है। इसके अलावा उनके पास पब्लिक पॉलिस एंड सस्टेनेबिलिटी विषय से मास्टर डिग्री भी हासिल की है।

ढाई साल वित्त सचिव रहने के दौरान उन्होंने देश के बैंकिंग सिस्टम के ओवरहॉल में अहम भूमिका निभाई। कुमार ने सरकारी बैंकों में बैलेंस शीट्स के बेहतर ढंग से प्रबंधन पर जोर दिया, ताकि बैड लोन्स की रिकवरी की जा सके और उनका लाभ बढ़ाया जा सके। इसके अलावा राजीव कुमार ही वो व्यक्ति थे, जिन्होंने 2018 में बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक का विलय शुरू कराया था। उन्होंने 2019 में 10 सरकारी बैंकों का विलय कर 4 बड़े बैंक बनाने की प्रक्रिया पर भी करीब से नजर रखी है।

इस्तीफा न देते तो 6 अहम राज्यों के चुनाव करा कर रिटायर होते अशोक लवासा
बता दें कि अशोक लवासा के पास चुनाव आयोग में दो साल से भी ज्यादा का समय था। अगर वे इस्तीफा नहीं देते, तो उनका रिटायरमेंट अक्टूबर 2022 में होता। इस दौरान वे देश के मुख्य चुनाव आयुक्त (CEC) के पद पर होते। सीईसी के तौर पर लवासा ने उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा के अलावा कुछ अन्य राज्यों में विधानसभा चुनाव करा लिए होते। हालांकि, उनके इस्तीफे के बाद अब चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा इस पद के अगले दावेदार होंगे।

Next Stories
1 सुप्रीम कोर्ट से अरनब गोस्वामी, अमीष देवगन को राहत; शरज़ील इमाम, विनोद दुआ, हर्ष मंदर को नहीं- इस साल अभिव्यक्ति की आज़ादी से जुड़े दस मामलों का हाल
2 कोरोना: गोवा सरकार ने बताया- मौत के दरवाज़े से लौटे आयुष मंत्री श्रीपद नाइक, प्लाज़्मा थेरेपी शुरू, पीएम ने किया फ़ोन- कोई कमी न रहे
3 Coronavirus महामारी के बीच NEET, JEE Mains प्रवेश परीक्षाएं स्थगित करने की मांग बढ़ी, भूख हड़ताल में शामिल हुए 4000 से अधिक छात्र
ये पढ़ा क्या?
X