ताज़ा खबर
 

मैच फिक्सरों ने पूरी टीम को ही खरीद लिया! क्रिकेटर चंद्रशेखर की आत्महत्या की जांच में सनसनीखेज खुलासा

बीसीसीआई ने भी अपनी एंटी करप्शन यूनिट (ACU) से इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं। एसीयू ने इस बात की पुष्टि की है कि लीग के कुछ खिलाड़ियों के साथ मैच फिक्सरों ने संपर्क साधा था।

Author चेन्नई | Published on: September 17, 2019 1:30 PM
वीबी चंद्रशेखर ने बीते अगस्त में आत्महत्या कर ली थी।

बीते अगस्त में पूर्व क्रिकेटर वीबी चंद्रशेखर द्वारा आत्महत्या किए जाने का मामला सामने आया था। अब पुलिस की जांच में इस घटना की कड़ी मैच फिक्सिंग से जुड़ती नजर आ रही हैं। दरअसल पूरा मामला तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) से जुड़ा हुआ है। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि ऐसी खबरें आ रही हैं कि इस लीग की एक पूरी टीम का कंट्रोल मैच फिक्सरों ने अपने हाथ में ले लिया है। लीग की एक टीम के मालिकों में शुमार वीबी चंद्रशेखर द्वारा लीग के फाइनल वाले दिन ही आत्महत्या करने से पुलिस और अलर्ट हो गई है।

फिलहाल पुलिस मैच फिक्सिंग रैकेट की जांच में जुटी है और वीबी चंद्रशेखर के दोस्तों और राज्य के क्रिकेटर्स से पूछताछ कर रही है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ‘हमने कुछ महत्वपूर्ण तथ्य रिकॉर्ड किए हैं और जो चंद्रशेखर के सुसाइड से संबंधित नहीं हैं, उन्हें मुंबई और दिल्ली में अपने सहयोगियों को जांच के लिए भेज रहे हैं।’

तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारियों ने भी लीग में मैच फिक्सिंग की खबरों की पुष्टि की है। बीसीसीआई ने भी अपनी एंटी करप्शन यूनिट (ACU) से इस मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं। एसीयू ने इस बात की पुष्टि की है कि लीग के कुछ खिलाड़ियों के साथ मैच फिक्सरों ने संपर्क साधा था। इस जानकारी के आधार पर ACU मैच फिक्सरों के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।

TNPL की गवर्निंग काउंसिल के चेयरमैन पीएस रामन ने भी मैच फिक्सिंग से संबंधित शिकायतों के मिलने की पुष्टि की है। पीएस रामन ने कहा कि तीन सदस्यों की एक कमेटी बनाकर इस मामले की जांच की जा रही है। इस कमेटी में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी और वरिष्ठ वकील को शामिल किया गया है।

खास बात ये है कि इस लीग के पहले सीजन में भी मैच फिक्सिंग की बात सामने आयी थी। तब इसकी जांच में पता चला कि तीन खिलाड़ियों के साथ मैच फिक्सरों ने संपर्क साधा था और जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। अधिकारियों के अनुसार, लीग में खेलने वाले खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ और अधिकारियों को अवैध गतिविधियों के बारे में जानकारी देने के लिए कक्षाओं का भी आयोजन किया गया है।

सूत्रों के अनुसार, TNPL में सर्विलांस उतना बेहतर नहीं है, जिसके चलते कई बार बाहरी लोग भी खिलाड़ियों के ड्रेसिंग रुम तक पहुंच जाते हैं। अधिकारियों का कहना है कि इस बात की जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है और जल्द ही इस दिशा में कोई कदम उठाया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 INDIAN RAILWAYS IRCTC: पचास पैसे से कम में 10 लाख का इंश्योरेंस, जानिए कैसे मिलेगा?
2 हिप हॉप डांस से लेकर वीडियो गेम खेलने में करियर! यह यूनिवर्सिटी करा रही कोर्स
3 Narendra Modi Birthday: ये हैं मोदी चॉइस- क्या आप जानते हैं मोदी के फेवरेट फिल्म, डायलॉग्स और गाने