ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला बोले- योगी आदित्य नाथ हर मस्जिद के अंदर मंदिर बनवाने में सक्षम

मुफ्ती राज्य में सुरक्षा व्यवस्था पर काम करने की जगह भारतीय जनता पार्टी के साथ दोस्ती गहरी करने में जुटी हैं। कश्मीरियों के साथ 2016 में जो हुआ और उन्होंने जो झेला वह समझ और अभिव्यक्ति से परे है।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ पर निशाना साधा। (PTI Photo)

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के कार्यकारी अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ हर मस्जिद के अंदर मंदिर बनवाने और पूरे देश में अराजकता फैलाने में सक्षम हैं। बीजेपी ने जिसे मुख्यमंत्री चुना है वो उसकी बातों के अनुकूल नहीं है। योगी आदित्य नाथ वो शख्स हैं जो हर मस्जिद के अंदर मंदिर बनवा सकते हैं, यह देश को एकजुट करने वाले नहीं बल्कि तोड़ने वाले हैं। कश्मीर में जारी हिंसा को लेकर उमर अब्दुल्ला ने राज्य की पीडीपी-बीजेपी गठबंधन वाली सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर हमला बोलते हुए अब्दुल्ला ने एएनआई से कहा,”घाटी में जारी हिंसा के लिए पीडीपी जिम्मेदार है। मुफ्ती राज्य में सुरक्षा व्यवस्था पर काम करने की जगह भारतीय जनता पार्टी के साथ दोस्ती गहरी करने में जुटी हैं। कश्मीरियों के साथ 2016 में जो हुआ और उन्होंने जो झेला वह समझ और अभिव्यक्ति से परे है। पीडीपी ने युवाओं से शांति और सम्मान से जीने का अवसर छीन लिया है।” पीडीपी-बीजेपी की एंटी-पीपुल पॉलिसी (लोक-विरोधी नीति) के कारण कश्मीर में अशांति की स्थिति है। लोगों के अंदर डर और उत्पीड़न बसा हुआ है।

गौरतलब है कि साल 2016 में हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद पूरा कश्मीर हिंसा और अशांति की चपेट में आ गया था। सुरक्षाबलों द्वारा वानी को एनकाउंटर में मार गिराने जाने को लेकर लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया और सुरक्षा बलों पर हमला किया। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षबलों को बल का प्रयोग करना पड़ा। इसमें पैलेट गन के इस्तेमाल से हजारों लोग घायल और कई लोगों की जान चली गई। जिसकी आलोचना भी हुई। तब से घाटी में रुक-कर हिंसा की घटनाएं सामने आती रही है। हाल ही में बडगाम जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच फायरिंग हुई जिसमें दौरान स्थानीय नागरिकों द्वारा सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकने की घटना सामने आई थी। पत्थरबाजों की चलते बड़ी संख्या में सीआरपीएफ और पुलिस के जवान घायल हो गए थे। इसे लेकर बीएसएफ की ओर से लोगों से अपील की गई कि वह हिंसा वाली जगहों पर न जाएं।

 

लखनऊ: योगी आदित्यनाथ के साथ गोशाला पहुंचे प्रतीक यादव और अपर्णा यादव

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App