ताज़ा खबर
 

संविधान से धोखाधड़ी है कोलेजियम सिस्टम…क्लब और गुट की तरह चलता है, बोले दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस

जस्टिस एपी शाह ने वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण, सुप्रीम कोर्ट अवमानना मामले में भी अपनी राय दी।

Justice AP Shahदिल्ली हाईकोर्ट (पीटीआई)

दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस और लॉ कमिशन के पूर्व अध्यक्ष जस्टिस एपी शाह का मानना है कि कोलेजियम सिस्टम संविधान के साथ धोखाधड़ी है। पूर्व जस्टिस ने न्यूज चैनल टाइम्स नाउ को दिए एक साक्षात्कार में ये बात कही। उन्होंने कहा कि कोलेजियम सिस्टम, जहां जज… जजों की नियुक्ति की नियुक्ति करते हैं, वो संविधान के साथ धोखाधड़ी है। ये सिस्टम एक क्लब या सिर्फ गुट के तहत काम करता है। पिछले कुछ सालों में सुप्रीम कोर्ट के कामकाज पर जस्टिस शाह ने कहा कि विशेष रूप जजों की नियुक्ति के मामले में सुधारों की उम्मीद की गई थी।

उन्होंने कहा कि वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण, सुप्रीम कोर्ट अवमानना मामले में भी अपनी राय दी। जस्टिस शाह ने कोर्ट की अवमानना को ‘औपनिवेशिक विरासत’ बताया। उन्होंने कहा कि आप सम्मान को लागू नहीं कर सकते हैं। सुप्राम कोर्ट के जज प्रशांत भूषण के मामले में ऐसा करने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जजों द्वारा उन्हें माफी मांगने के लिए मजबूर करना बेतुका है।

हाल में आंध्र प्रदेश के सीएम जगनमोहन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट के जज एवी रमन्ना पर कई गंभीर आरोप लगाए। सीजेआई को लिख पत्र में उन्होंने कहा कि जस्टिस रमन्ना, राज्य के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू के साथ मिलकर उनकी सरकार गिराने की साजिश रच रहे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि जस्टिस रमन्ना ने उनकी छवि को नुकसान पहुंचाया और न्यायिक व्यवस्था की विश्वसनीयता सवालिया निशाना लगा दिया।

सीएम जगन के इन आरोपों पर जस्टिस शाह ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जज के खिलाफ इस तरह के आरोप लगाना अभूतपूर्व है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आरोप जजों और अदालतों के बारे में लोगों की धारणा को गंभीर रूप से प्रभावित करते हैं। न्यायपालिका को आरोपों के मामले में उचित प्रक्रिया का पालन करना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना वैक्सीन के लिए मोबाइल पर आएगा SMS, स्कूलों में लगेंगे टीके; जानें सरकार के ब्लूप्रिंट में क्या-क्या है शामिल
2 पत्नी की जिद पर कम काम कर रहे अमित शाह, अपने नाइयों को कोरोना होने के बाद दाढ़ी भी बढ़ानी पड़ी
3 प्रदूषण की चादर में लिपटी रही दिल्ली, वातावरण में चली ‘बहुत खराब’ दर्जे की हवा; 17 अन्य शहरों का भी यही हाल
यह पढ़ा क्या?
X