ताज़ा खबर
 

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त का खुलासा- नोटबंदी के बाद एक व्यक्ति ने मुझसे किया संपर्क, 31 दिसम्बर तक रजिस्टर्ड कराना चाहता था पार्टी

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एच एस ब्रह्मा ने एक बड़ा खुलासा किया। उन्होंने बताया कि नोटबंदी के दौरान उनके पास एक शख्स का फोन आया था। उसने पूछा था कि नई पार्टी बनाने के लिए कितना वक्त लगेगा।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एच एस ब्रह्मा

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एच एस ब्रह्मा ने एक बड़ा खुलासा किया। उन्होंने बताया कि नोटबंदी के दौरान उनके पास एक शख्स का फोन आया था। उसने पूछा था कि नई पार्टी बनाने के लिए कितना वक्त लगेगा। एच एस ब्रह्मा ने यह बात मंगलवार (24 जनवरी) को एक हुए एक कार्यक्रम में बताई। वह कार्यक्रम एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म ने करवाया था। बातचीत का विषय राजनीतिक वित्तपोषण था। कार्यक्रम में कई IAS हिस्सा लेने पहुंचे थे। एच एस ब्रह्मा ने बताया कि 8 नवंबर यानी नोटबंदी के बाद एक शख्स ने उन्हें फोन किया था। वह जानना चाहता था कि नई पार्टी बनाने में कितना वक्त लगता है। एच एस ब्रह्मा ने बताया कि उन्होंने उससे कह दिया था कि पार्टी बनाने में 5 से 6 महीने का वक्त लग जाता है। एच एस ब्रह्मा ने आगे बताया कि शख्स ने बताया कि वह 31 दिसंबर के पहले पार्टी बनाना चाहता है। एच एस ब्रह्मा ने उस शख्स के बारे में ज्यादा नहीं बताया। उन्होंने उसकी पहचान भी सार्वजनिक नहीं की।

एच एस ब्रह्मा की बात से यह तो साफ है कि जो शख्स पार्टी बनाना चाहता था वह कालेधन को सफेद करने के लिए ऐसा करने की सोच रहा था। क्योंकि अभी के नियमों के हिसाब से किसी भी पार्टी को 20 हजार से कम के चंदे के बारे में चुनाव आयोग या फिर इनकम टैक्स विभाग को जानकारी नहीं देनी होती। 20 हजार से कम का चंदा देने वालों की पहचान भी राजनीतिक पार्टियों को सबके सामने उजागर करने की जरूरत नहीं होती। ना ही उस पैसे पर टैक्स ही लिया जाता। ऐसी भी कई पार्टियां है जिन्होंने कभी चुनाव नहीं लड़ा। लेकिन उनका अस्तिव बना हुआ है। माना जाता है कि ऐसी पार्टियां कालेधन को सफेद करने के लिए बनाई जाती हैं।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (ADR) द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 11 सालों में यानी 2004-05 से 2014-15 के बीच लगभग सभी राजनीतिक पार्टियों को जो चंदा मिला उसमें से 6,800 करोड़ रुपए (1 बिलियन डॉलर) अज्ञात स्त्रोतों से था।

इस वक्त की बाकी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App