कांग्रेस नेता निरुपम पर तब पूर्व CAG विनोद राय ने लगाया था आरोप, अब बगैर शर्त मांगी माफी, बोले- गलती से ले लिया था नाम

2G स्पेक्ट्रम आवंटन मामले में कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर लगाए आरोपों को लेकर पूर्व सीएजी विनोद राय ने बिना शर्त माफ़ी मांगी है।

कांग्रेस नेता से माफ़ी मांगते हुए पूर्व सीएजी विनोद राय ने कहा कि उन्होंने गलती से संजय निरुपम का नाम लिया था। (एक्सप्रेस फोटो)

पूर्व सीएजी विनोद राय ने साल 2014 में कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उन्होंने 2G स्पेक्ट्रम रिपोर्ट से प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम हटाने का दबाव बनाया था। लेकिन अब विनोद राय ने कांग्रेस नेता से बिना शर्त माफ़ी मांगी है और कहा है मैंने गलती से संजय निरुपम का नाम ले लिया था।

पूर्व सीएजी विनोद राय के द्वारा माफ़ी मांगे जाने के बाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भी इसपर प्रतिक्रिया दी। संजय निरुपम ने पूर्व सीएजी द्वारा दायर किए गए हलफनामे को ट्विटर साझा करते हुए लिखा कि अंततः पूर्व सीएजी विनोद राय ने पटियाला हाउस कोर्ट में मेरे द्वारा दायर किए गए मानहानि के मामले में मुझसे बिना शर्त माफ़ी मांगी है। अब उन्हें  यूपीए सरकार द्वारा किए गए 2जी और कोयला ब्लॉक आवंटन के बारे में अपनी सभी फर्जी रिपोर्टों के लिए देश से माफ़ी मांगनी चाहिए।

अपने हलफनामे में पूर्व सीएजी विनोद राय ने लिखा कि साल 2014 में एक इंटरव्यू के दौरान मैंने कांग्रेस नेता संजय निरुपम के खिलाफ बयान दिया था। जिसमें मैंने अनजाने और गलत तरीके से कांग्रेस नेता संजय निरुपम का नाम उन सांसदों में लिया था जिन्होंने मुझे पीएसी की मीटिंग के दौरान 2G ब्लॉक आवंटन मामले में बनाई गई सीएजी रिपोर्ट से पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम हटाने का दबाव बनाया था। संजय निरुपम को लेकर इंटरव्यू में दिखाए गए बयान तथ्यात्मक रूप से गलत हैं।

टीवी इंटरव्यू में संजय निरुपम पर पूर्व सीएजी द्वारा लगाए गए आरोप कई न्यूज पेपर की भी सुर्खियां बने थे। इसके बाद विनोद राय ने अपनी किताब के लॉन्चिंग के मौके पर भी कांग्रेस नेता संजय निरुपम पर लगाया गया आरोप दोहराया था। जिसके बाद कांग्रेस नेता ने पटियाला हाउस कोर्ट में मानहानि का मामला दर्ज किया था। बिना शर्त माफ़ी मांगे जाने के बाद पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में विनोद राय को बरी कर दिया है।

संजय निरुपम पर लगाए गए आरोपों को लेकर विनोद राय द्वारा माफ़ी मांगे जाने के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। दिग्विजय सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि यूपीए सरकार को बिना किसी ठोस प्रमाण के 2जी व कोयला ब्लॉक के मामलों में बदनाम किया। भाजपा को फायदा पहुंचाने पर भाजपा ने उन्हें सेवा निवृत्त होने के बाद इनाम भी दिया।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी को आरोपों की जांच करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेशSupreme Court, Army, Army shoot crowd, Delhi
अपडेट