ताज़ा खबर
 

TRP Scam में थी BARC के पूर्व CEO की भूमिका- बोले सरकारी वकील

टीआरपी स्कैम मामले में सरकारी वकील शिशिर हिरे ने बॉम्बे हाई कोर्ट को बताया कि टीआरपी स्कैम में ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता की सीधी तौर पर संलिप्तता थी।

partho dasguptaBARC के पूर्व CEO पार्थो दासगुप्ता पुलिस हिरासत में हैं। (Indian Express)।

टीआरपी स्कैम मामले में सरकारी वकील शिशिर हिरे ने बॉम्बे हाई कोर्ट को बताया कि टीआरपी स्कैम में ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता की सीधी तौर पर संलिप्तता थी। उन्होंने अदालत के सामने दासगुप्ता की जमानत याचिका का विरोध किया। मामले की सुनवाई जस्टिस पीडी नाइक की पीठ ने की।

हालांकि पार्थो दासगुप्ता के वकील आबाद पोंडा ने कहा कि दासगुप्ता को जमानत न देना अन्याय होगा। बता दें कि दासगुप्ता पिछले साल दिसंबर से जेल में हैं। दासगुप्ता के वकील ने कहा कि अगर दासगुप्ता को जमानत नहीं दी जाती है तो यह उनके साथ नाइंसाफी होगी।

उन्होंने कहा कि दासगुप्ता का स्वास्थ्य ठीक नहीं है। जब से चार्जशीट दाखिल हुई है तब से सीधे तौर पर पुलिस को उनकी जरूरत नहीं है। हालांकि मामले में पुलिस ने तर्क दिया है कि अभी जांच जारी है और दासगुप्ता गवाहों और सबूतों को प्रभावित कर सकते हैं इसलिए उनको अभी जमानत देना सही नहीं है।

इसका जवाब देते हुए दासगुप्ता के वकील ने कहा कि ऐसे तो जांच जारी रहेगी इसका मतलब यह नहीं है कि कि दासगुप्ता को कभी जमानत ही ना मिले। उन्होंने तर्क दिया कि किसी भी एडवरटाइजर की तरफ से दासगुप्ता के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है।

इसका जवाब देते हुए सरकारी वकील शिशिर हिरे ने कहा कि BARC के एक पूर्व कर्मचारी ने अदालत को बताया कि दासगुप्ता घोटाले में शामिल थे और और वे चाहते थे कि एक खास चैनल को विज्ञापन मिले और उसे फायदा हो। उन्होंने BARC को भेजे गए एक लीगल नोटिस का भी हवाला दिया।

सरकारी वकील ने कहा कि अर्नब गोस्वामी ने दासगुप्ता से चैट में कहा था कि वे उनके अल्टर ईगो हैं। सरकारी वकील ने अदालत को बताया कि गोस्वामी ने दासगुप्ता को पैसे ट्रांसफर किए थे जिसका कोई खास मकसद ही हो सकता है। इस पर दासगुप्ता के वकील ने सरकारी वकील के तर्कों को खारिज किया। उन्होंने कहा कि चैट की बातों को सबूत नहीं समझा जा सकता है।

Next Stories
1 कोरोना पर हो रही लापरवाही! मुंबई में फिर लग सकता है लॉकडाउन- मेयर ने किया सावधान
ये पढ़ा क्या?
X