ताज़ा खबर
 

पूर्व सेनाध्‍यक्ष ने की मोदी सरकार की तारीफ, कहा- UPA सरकार ने नहीं करवाई मेरे आरोपों की जांच

भाजपा सरकार में मंत्री सिंह ने कहा कि अब यह बात साफ हो गई है कि उस वक्त सरकार के दो मंत्री उनके खिलाफ साजिश कर रहे थे और उन्हें उस साजिश में फंसाना चाहते थे।

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह फोटो सोर्स- ANI/ट्विटर

पूर्व सेना अध्यक्ष और वर्तमान में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार ने सेना का मनोबल बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि इसके उलट साल 2012 में लोग सशस्त्र बलों के मनोबल को नीचे लाने की कोशिश कर रहे थे और वे देश के खिलाफ काम कर रहे थे। ऐसे लोगों को बेनकाब करने के लिए पूछताछ की जरुरत है। विदेश राज्य मंत्री ने पूर्व की यपीए सरकार के शासनकाल के दौरान साल 2012 में भारतीय सेना की ओर से तख्तापलट की कोशिशों के पीछे को एक साजिश बताया। उन्होंने कहा कि 2012 में उनके खिलाफ जो तख्तापलट की बात कही गई वो पूरी तरह से सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी। उस दौरान उन्होंने तत्कालीन गृहमंत्री से मामले की जांच कराने की भी मांग की थी।

न्यूज एजेंसी एएनआई से अब भाजपा सरकार में मंत्री सिंह ने कहा कि अब यह बात साफ हो गई है कि उस वक्त सरकार के दो मंत्री उनके खिलाफ साजिश कर रहे थे और उन्हें उस साजिश में फंसाना चाहते थे। हालांकि अब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर पूरी मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की है। पूर्व सेना अध्यक्ष ने साफ किया कि वो फिल्हाल किसी का नाम नहीं लेंगे। वो बताना नहीं चाहते तब सरकार में शामिल कौन-कौन से नेता इस साजिश का हिस्सा थे।

वीके सिंह ने साफ किया अब इस मामले की जांच की जानी चाहिए, इसका भी खुलासा हो कि कौन-कौन इस साजिश में शामिल हैं। उन्होंने ऐसे प्रकरण की वजह से सेना के मनोबल पर असर पड़ता है। देश की सेना देश प्रेम के सर्वोच्य मापदंड तय करती है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ऐसी किसी भी स्थिति के बारे में बात नहीं कर सकती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App