केरल हाउस में जबरन घुसे गौरक्षक, बांटने लगे गाय का दूध - Forcibly entered the Kerala House against the Beef Festival, the cow's milk started distributing - Jansatta
ताज़ा खबर
 

केरल हाउस में जबरन घुसे गौरक्षक, बांटने लगे गाय का दूध

केरल भवन के स्थानिक आयुक्त विश्वास मेहता ने यहां राज्य अतिथि गृह के लिए ज्यादा सुरक्षा की मांग की है ताकि इसे निहित स्वार्थ वाले ऐसे समूहों से बचाया जा सके।

Author June 3, 2017 5:06 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

दक्षिण भारतीय राज्य में हाल में आयोजित बीफ उत्सव का विरोध करने के लिए एक गौरक्षक समूह के कुछ सदस्य कथित तौर पर यहां केरल हाउस में जबरन घुस गए। पशु बाजारों में वध के लिए मवेशियों के क्रय-विक्रय पर रोक के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ केरल के विभिन्न हिस्सों में ‘बीफ फेस्ट’ आयोजित किए गए हैं। राज्य में कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने एक बछड़े को सार्वजनिक तौर पर काट दिया था। राज्य में मुख्य तौर पर बीफ खाने वालों की संख्या काफी अधिक है।

पुलिस ने बताया कि खुद को ‘भारतीय गौरक्षक क्रांति’ का सदस्य बताने वाले 12-14 लोग यहां केरल हाउस में घुस गए और उन्होंने गाय का दूध बांटना शुरू कर दिया। वे कथित तौर पर कह रहे थे कि उन्हें अनुमति की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि वे धर्म के अनुसार काम कर रहे हैं।

केरल भवन के स्थानिक आयुक्त विश्वास मेहता ने यहां राज्य अतिथि गृह के लिए ज्यादा सुरक्षा की मांग की है ताकि इसे निहित स्वार्थ वाले ऐसे समूहों से बचाया जा सके, जो मौजूदा बीफ विवाद को लेकर परेशानी पैदा कर सकते हैं। स्थानिक आयुक्त ने ज्यादा सुरक्षा की मांग ऐसे समय में की है जब भारतीय गौरक्षा क्रांति से संबंधित होने का दावा करने वाले एक गौरक्षा समूह ने गुरुवार शाम केरल भवन में कथित तौर पर जबरन घुसकर केरल में हाल में आयोजित हुए बीफ उत्सव का विरोध किया।

वे शाम करीब आठ बजे केरल भवन में दाखिल हुए और विरोध के तौर पर गाय का दूध बांटना शुरू कर दिया। मेहता ने पत्रकारों को बताया, ‘‘हमने कनॉट प्लेस पुलिस थाने को लिखित शिकायत दी है और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से भी अपील की है कि वे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई करें और निहित स्वार्थ वाले समूहों से केरल भवन को बचाने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएं ।’’

देखिए वीडियो - सरेआम बछड़ा काटने के मामले में केरल कांग्रेस के तीन कार्यकर्ता निलंबित

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App