ताज़ा खबर
 

बलूचिस्‍तान के​ नेताओं पर पाकिस्‍तान के खिलाफ जंग छेड़ने का आरोप, ​किया था पीएम मोदी का समर्थन

डॉन के मुताबिक ब्लूच नेताओं ब्रहमदग बुगती, हरबियार मारी और बनुक ब्लोच पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी का समर्थन करने के आरोप में पुलिस ने केस दर्ज किया है।

सुझाव: खाने की बर्बादी रोकने के लिए कानून बनाइए। शादियों में काफी खाना बर्बाद होता है, दूसरी तरफ हमारे करोड़ों लोग भूखे सोते हैं। एक ऐसा कानून होना चाहिए जिसके तहत शादियों में लोग सिर्फ एक पकवान ही पराेस सकें। अमल: प्रधानमंत्री ने इस सु‍झाव विशेष पर तो कुछ नहीं कहा, मगर उन्‍होंने खाद्य सुरक्षा के सरकार की प्राथमिकता में होने का इशारा जरूर किया। उन्‍होंने कहा, ”हमने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बनाई। हमने फसल के उत्‍पादन को संरक्षित करने के लिए नए भंडारण गृह खोले। फूड प्रोसेसिंग में 100 फीसदी एफडीआई दिया है, जिससे किसानों को फायदा होगा। मैं 2022 तक किसानों की आय को डबल करने का सपना देखता हूं।” (Express Photo by Tashi Tobgyal)

प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी की ओर से ब्लूचिस्तान को लेकर किए कमेंट का समर्थन करने वाले ब्लूच नेताओं के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। ब्लूच नेताओं पर पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध छेड़ने का आरोप लगा है। डॉन के मुताबिक ब्लूच नेताओं ब्रहमदग बुगती, हरबियार मारी और बनुक ब्लोच पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी का समर्थन करने के आरोप में पुलिस ने केस दर्ज किया है। 5 लोगों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने शिकायत दर्ज की। पाकिस्तान दंड संहिता की धारा 102, 121, 123 और 353 के तहत मामला दर्ज किया गया है। तीनों नेता पाकिस्तान से बाहर रहते हैं।

गौरतलब है कि स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले से पाकिस्‍तान द्वारा आतंक को पोषित करने की बात करते हुए कहा था, ”जहां आतंकवादी हमला होने पर जश्‍न मनाया जाता हो, वहां की सरकार कैसी होगी, पता नहीं मैं और जिक्र नहीं करना चाहता। पिछले कुछ दिनों में गिलगित, बलूचिस्‍तान, पीओके के लोगों ने जिस प्रकार मुझे धन्‍यवाद दिया है। जिन लोगों से मेरी कभी मुलाकात नहीं हुई है, ऐसे लोग हिंदुस्‍तान के प्रधानमंत्री का आदर करते हैं तो हम मेरे सवा सौ करोड़ देशवासियों का सम्‍मान है।” उन्होंने ब्लूचिस्तान में मानवाधिकार का उल्लंघन करने को लेकर पाकिस्तान पर निशाना साधा था। जिस पर पाकिस्तान की ओर से रेड लाइन क्रॉस करने की बात की थी। जिसका की भारत ने खंडन किया था।

हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के सुरक्षा बलों द्वारा मार गिराए जाने के बाद से कश्मीर की घाटी में हिंसक घटनाएं जारी है। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए झड़प में 60 से ज्यादा लोग मारे गए हैं और हजारों की संख्या में लोग घायल हुए हैं। कश्मीर में लगातार 44 दिन से हिंसा जारी है।

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 …तो इस वजह से पूनम महाजन नहीं बन सकीं मोदी सरकार में मंत्री
2 गोवा में केजरीवाल ने सुनी आदिवासी समुदाय के लोगों की तकलीफ़ें
3 कश्मीर पर PM नरेंद्र मोदी ने जताई गहरी पीड़ा, गड़बड़ी में जान गंवाने वाले भी हमारे ही अंग