ताज़ा खबर
 

‘मैडम लाइन पर हैं’ बोलकर कान में लगाया फोन तो बोले लालू- ठीक बा इहां, चिंता मत करीहा

रांची की एक जेल में बंद लालू यादव को शुक्रवार (12 जनवरी) को चारा घोटाले से जुड़े दो अन्‍य मामलों में सीबीआई की विशेष अदालत के समक्ष पेश किया गया था। इस दौरान उन्‍होंने पत्‍नी राबड़ी देवी से फोन पर बात की थी।

Author नई दिल्‍ली | January 13, 2018 1:24 PM
आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के दो अन्‍य मामलों में शुक्रवार (12 जनवरी) को रांची स्थित अदालत में पेश हुए। (फोटो सोर्स: फाइल फोटो, पीटीआई)

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू यादव चारा घोटाला मामले में भले ही जेल में बंद हों लेकिन उनसे जुड़ी दिलचस्‍प बातों के बाहर आने का सिलसिला थम नहीं रहा है। दरअसल, लालू यादव चारा घोटाले के दो अन्‍य मामलों में शुक्रवार (12 जनवरी) को रांची की विशेष अदालत में हाजिरी लगाई थी। दुमका और डोरंडा मामले में लालू, पूर्व सांसद डॉ. आरके राणा समेत अन्य आरोपी अदालत पहुंचे थे। लालू को पहले दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआई के विशेष जज जस्टिस शिवपाल सिंह की अदालत में पेश किया गया। वकीलों और राजद नेताओं से घिरे लालू यादव ने चाय की चुस्की भी ली और पान मसाला भी खाया। इसके अलावा पत्नी राबड़ी देवी से भी बात की थी। उन्होंने पत्‍नी से कहा, ‘ठीक बा इहां, बोलअ, चिंता मत करीहा लोग..हम ठीक से बानी..।’ लालू के करीबी भोला यादव ने राबड़ी देवी का नंबर डायल कर उनके हाथों में यह कहते हुए मोबाइल थमाया था कि मैडम लाइन पर हैं।

इस मौके पर लालू मीडियाकर्मियों को नसीहत देने से भी नहीं चूके। उन्होंने कहा कि दोनों पक्षों की बातों को छापा करें। दुमका कोषागार मामले में शुक्रवार (12 जनवरी) को किसी की ओर से गवाह प्रस्तुत नहीं किया गया। कोर्ट ने आरोपियों को बचाव में साक्ष्य प्रस्तुत करने का अंतिम मौका देते हुए सुनवाई की अगली तिथि 15 जनवरी निर्धारित कर दी। मालूम हो कि यह मामला दुमका कोषागार से 3.13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से जुड़ा है। लालू यादव डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में भी कोर्ट में पेश हुए। इस दौरान अदालत ने कोर्ट रूम में लगी भीड़ पर नाराजगी जताई थी। विशेष जज ने कहा कि इनकी राजनीतिक हैसियत बड़ी है, ऐसे में भीड़ लगाकर इन्हें अजूबा न बनाएं। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 15 जनवरी की तिथि निर्धारित की है। साथ ही 23 जनवरी को मामले से जुड़े सभी आरोपियों को उपस्थित होने का आदेश दिया।

रांची स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू यादव को चारा घोटाला मामले में साढ़े तीन साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही उनपर जुर्माना भी लगाया गया है। उनके खिलाफ दो और मामलों में जनवरी के अंत या फरवरी के पहले सप्‍ताह में फैसला आ सकता है। ऐसे में आने वाले कुछ समय में लालू यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। लालू के वकीलों ने विशेष अदालत के फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App