BJP शासित MP में बाढ़ को मनमोहन-कांग्रेस जिम्मेदार, सिंह अंकल ने 10 साल कुछ न किया…भाजपा MLA के बोल

दरअसल, शर्मा की यह टिप्पणी पत्रकारों के उस प्रश्न के जवाब के तौर पर आई, जिसमें पूछा गया था, “मौसम विभाग (आईएमडी) ने ग्वालियर और चंबल संभाग के लिए चेतावनी दी थी। ऐसे में कांग्रेस मौजूदा सरकार पर लापरवाह रवैए का आरोप लगा रही है।”

Floods, MP, India News
म.प्र के शिवपुरी जिला और जबलपुर में सावन के दौरान कई हिस्सों में बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात पनप गए। (फोटोः NDRF-टि्वटर/PTI/फेसबुक)

बारिश के बाद मध्य प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में पनपे बाढ़ जैसे हालात को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) शासित सूबे में पार्टी के एक विधायक ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है।

रामेश्वर शर्मा ने तंज कसते हुए कहा है कि दिवंगत पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था कि नदियां जोड़ों, पर मनमोहन अंकल ने 10 साल तक कुछ किया ही नहीं। दरअसल, शर्मा की यह टिप्पणी पत्रकारों के उस प्रश्न के जवाब के तौर पर आई, जिसमें पूछा गया था, “मौसम विभाग (आईएमडी) ने ग्वालियर और चंबल संभाग के लिए चेतावनी दी थी। ऐसे में कांग्रेस मौजूदा सरकार पर लापरवाह रवैए का आरोप लगा रही है। अगर IMD चेता चुका था, फिर बाढ़ पीड़ितों के लिए काम क्यों न हुआ?”

बीजेपी विधायक इस पर बोले, “अरे भाई, अटल जी खुले आम देश को चेताकर गए थे कि नदियों को जोड़ो। मनमोहन सिंह अंकल ने कौन सी नदी जोड़ी…बताओ ने, इसका जवाब क्यों नहीं दे रहे? हर आदमी के हाथ में तो गूगल है आजकल। हर आदमी बता देगा कि कल कहां पानी गिरेगा, कितने फीसदी वर्षा होगी और सूरज निकलेगा या नहीं। उससे कौन सी नई बात है।”

बकौल शर्मा, “हिंदुस्तान के तत्कालीन पीएम अटल जी ने कहा था नदियां जोड़ो, वरना कहीं पानी और कहीं सूखा…दोनों परिस्थितियों में देश परेशान रहेगा। आपके महमोहन अंकल 10 साल पीएम रहे थे, आप बता दीजिए कि उन्होंने कौन सी नदी जोड़ी। ऐसे में बाढ़ और त्रासदियों के जिम्मेदार है, तो कांग्रेस है। पर बीजेपी ने तय किया है कि हम चार से पांच सालों में इस तरह से योजना बनाएंगे कि आने वाली भयानक बाढ़ और सूखे के कारण पनपने वाली परेशानियों का हल निकाला जा सके।”

ग्वालियर-चंबल में 12 मरे: तीन दिनों से मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभागों में बाढ़ से मची तबाही के कारण अब तक 12 लोगों की मौत हुई है और सात लोग घायल हुए। हालांकि, गुरुवार को अब इन दोनों संभागों में बचाव अभियान समाप्त हुआ और राहत कार्य शुरू किया गया। ग्वालियर संभाग के आयुक्त आशीष सक्सेना ने ‘पीटीआई-भाषा’ को फोन पर बताया, ‘‘कल बुधवार तक बारिश से जुड़ी घटनाओं में 12 लोगों की मौत होने की रिपोर्ट मिली।

तेज बारिश से छह जिलों में रेड, 17 में ऑरेंज अलर्टः ग्वालियर-चंबल संभागों में बाढ़ से हुई तबाही के बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुरुवार को अगले 24 घंटों में प्रदेश के छह जिलों में भारी से अति भारी वर्षा के अनुमान के मद्देनजर रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं 17 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। आईएमडी भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पी. के. साहा ने बताया कि प्रदेश के छह जिलों राजगढ़, शाजापुर, आगर मालवा, मंदसौर, गुना एवं अशोकनगर में आगामी 24 घंटों में भारी से अति भारी बारिश के अनुमान के मद्देनजर रेड अलर्ट जारी किया गया है। (भाषा-पीटीआई इनपुट्स के साथ)

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट