ताज़ा खबर
 

COVID-19 को हरा रहा भारत? स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा- 2% से कम हुई मृत्यु दर, 10 लाख आबादी पर रोज हो रही 506 नमूनों की जांच

मंत्रालय ने कहा, ‘‘स्वस्थ होने के मामलों में निरंतर बढ़ोतरी होने से ठीक हुए रोगियों और इलाज करा रहे कोविड-19 रोगियों की संख्या का अंतर लगभग 9.5 लाख हो गया है। भारत की जांच (टेस्ट), रोगियों का पता लगाने (ट्रैक) और उपचार (ट्रीट) की रणनीति इच्छित परिणाम दर्शा रही है।

Author नई दिल्ली | Updated: August 11, 2020 7:16 PM
Corona Virus, Covid-19स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर (रिकवरी रेट) बढ़कर 69.80 प्रतिशत हो गयी है।(फोटो-ANI)

देश में कोविड-19 रोगियों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर मंगलवार को लगभग 70 प्रतिशत आंकी गई, वहीं संक्रमितों की मृत्यु दर दो फीसदी से नीचे चली गयी है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी देते हुए कहा कि प्रभावी नियंत्रण नीति, आक्रामक और व्‍यापक परीक्षण के सफल कार्यान्‍वयन के साथ-साथ देखभाल के दृष्टिकोण पर आधारित गंभीर रोगियों के मानकीकृत क्लीनिकल प्रबंधन के परिणामस्‍वरूप यह संभव हुआ है।

उसने कहा कि अधिक से अधिक रोगियों के ठीक होने और अस्‍पतालों से छुट्टी मिलने तथा घर में पृथक-वास (हल्‍के और मध्‍यम रोगियों के मामले में) के कारण स्वस्थ हुए रोगियों की कुल संख्या बढ़कर 15,83,489 तक पहुंच गई है। इसमें 47,746 रोगी वे भी शामिल हैं जिन्हें पिछले 24 घंटे में अस्‍पतालों से छुट्टी दी गयी है।
मंत्रालय के अनुसार राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर (रिकवरी रेट) बढ़कर 69.80 प्रतिशत हो गयी है।उसने कहा कि देश में इस समय संक्रमितों की वास्‍तविक संख्‍या 6,39,929 है जो अब तक सामने आये कुल मामलों की केवल 28.21 प्रतिशत है। ये सभी रोगी सक्रिय चिकित्सा देख-रेख में हैं।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘स्वस्थ होने के मामलों में निरंतर बढ़ोतरी होने से ठीक हुए रोगियों और इलाज करा रहे कोविड-19 रोगियों की संख्या का अंतर लगभग 9.5 लाख हो गया है। भारत की जांच (टेस्ट), रोगियों का पता लगाने (ट्रैक) और उपचार (ट्रीट) की रणनीति इच्छित परिणाम दर्शा रही है। इसलिए स्वस्थ होने वाले लोगों और मौजूदा इलाज करा रहे रोगियों की संख्या के बीच अंतर दिन-प्रतिदिन बढ़ रहा है।’’

मंत्रालय ने कहा कि अस्‍पतालों में बेहतर और प्रभावी क्लीनिकल उपचार पर ध्‍यान दिए जाने, शीघ्र और समय पर मरीजों को अस्‍पतालों में लाने के लिए एंबुलेंसों की नॉन-इनवेसिव, बेहतर और समन्वित सेवाओं के उपयोग से कोविड-19 रोगियों का सुगम और सक्षम प्रबंधन करने में मदद मिली है।उसने कहा, ‘‘इसके परिणामस्‍वरूप संक्रमितों की मृत्‍युदर (सीएफआर) वैश्विक औसत की तुलना में कम हो गयी है। यह दर मंगलवार को दो प्रतिशत से घटकर 1.99 प्रतिशत पर आ गई है।’’

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सामने आने वाली मरीजों की संख्या में भी कमी आई है और मंगलवार को यह आंकड़ा 53,601 रहा। देश में पिछले चार दिन से लगातार 60,000 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे थे।केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मंगलवार को सामने आए 53,601 नए मरीजों के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 22,68,675 हो गई है। मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में संक्रमण से 871 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 45,257 हो गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गद्दार हैं BSNL कर्मी, निजीकरण के बाद 88 हजार से अधिक की छिनेगी नौकरी- बोले BJP सांसद अनंत कुमार हेगड़े
2 राहत इंदौरी को जिंदा रखेंगे उनके शेर: मैं जब मर जाऊं, मेरी अलग पहचान लिख देना, लहू से मेरी पेशानी पे हिंदुस्तान लिख देना…
3 Rahat Indori Death News HIGHLIGHTS: राहत इंदैरी ने बतौर साइनबोर्ड पेंटर से की थी करियर की शुरुआत, इन फिल्मों के लिए लिखे हिट गाने
ये पढ़ा क्या?
X