ताज़ा खबर
 

सपा विधायक के विरोधी सुर- गठबंधन तभी तक, जब तक अखिलेश मायावती के आगे झुकते रहेंगे

फिरोजाबाद के सिरसागंज विधानसभा से सपा विधायक हरिओम यादव को यह गंठजोड़ रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि जब तक अखिलेश यादव बीएसपी प्रमुख मायावती के आगे झुकते रहेंगे तभी तक गठबंधन के कायम रहने की संभावना बनी रहेगी।

समाजवादी पार्टी के विधायक हरिओम यादव ने बीएसपी के साथ पार्टी के गठबंधन पर नाराजगी जाहिर की है. (फोटो क्रेडिट: ANI ट्विटर हैंडल)

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) में भले ही गठबंधन हो गया हो, लेकिन पार्टी नेताओं के विरोध के स्वर मुखर होने लगे हैं। सोमवार को सपा के एक विधायक ने गठबंधन पर अपनी नाराजगी जाहिर की। विधायक ने कहा कि जब तक अखिलेश यादव बीएसपी प्रमुख मायावती के आगे झुकते रहेंगे तभी तक गठबंधन के कायम रहने की संभावना बनी रहेगी। शनिवार को धुर विरोधी दल सपा और बसपा ने आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए गठबंधन का औपचारिक ऐलान कर दिया था। दोनों दल अपने-अपने हिस्से की 38 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेंगे।

मगर, फिरोजाबाद के सिरसागंज विधानसभा से सपा विधायक हरिओम यादव को यह गंठजोड़ रास नहीं आ रहा है। वह गठबंधन में बीएसपी के मजबूत प्रभाव से नाराज हैं। एएनआई के मुताबिक हरिओम यादव ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, “सपा और बसपा का गठबंधन यहां (फिरोजाबाद) काम नहीं करेगा। यह यहां सफल नहीं हो पाएगा। यह गठबंधन तभी तक चल सकता है जब तक हमारे राष्ट्रीय अध्यक्षजी बहनजी की हां में हां मिलाते रहेंगे और घुटने टेकते रहेंगे।”

गौरतलब है कि मायावती और अखिलेश ने लखनऊ में एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस करके गठबंधन का ऐलान किया था और लोकसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ बड़ी जीत का दम भरा था। इस दौरान दोनों दलों ने अपनी सीट बंटवारे की भी स्थिति स्पष्ट कर दी, जिसमें दोनों दल 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। मगर, इस गठबंधन से उन्होंने कांग्रेस को बाहर कर दिया। हालांकि, दोनों ही दल अमेठी (राहुल गांधी संसदीय क्षेत्र) और रायबरेली (सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र) में अपना कोई भी उम्मीदवार खड़ा नहीं करेंगे। यूपी की कुल 80 लोकसभा सीटों में से उन्होंने 2 सीट अपने तीसरे सहयोगी (अभी पार्टी का नाम साफ नहीं हुआ है) के लिए पहले से छोड़ रखा है। इस दौरान गठबंधन में शामिल होने को लेकर आरएलडी नेता अजीत सिंह से भी बातचीत चल रही है। वहीं, कांग्रेस ने ऐलान किया है कि वह उत्तर प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों पर अकेले ही चुनाव लड़ेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App