फिरोजाबाद में बुखार से हाहाकार! साइकिल पर बच्चे को ले अस्पताल पहुंचे पर‍िजन, AAP बोली- योगी सरकार में न बिस्तर, न इलाज

फिरोजाबाद में डेंगू अपना कहर बरपा रहा है। स्थिति यह है कि जिले की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई हैं।

UP, BJP
साइकिल पर बच्चे को ले जाते माता-पिता। (स्क्रीनशॉट)।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में बुखार से पीड़ित मरीजों की स्थिति को लेकर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने यूपी सरकार को घेरा है। सिसोदिया ने एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें एक माता-पिता अपने बच्चे को साइकिल पर घर वापिस ले जा रहे हैं। ये लोग अपने बच्चे को एसएन मेडिकल कॉलेज इलाज के लिए लेकर पहुंचे थे। मालूम हो कि इस समय फिरोजाबाद में बड़ी संख्या में लोग डेंगू से त्रस्त और बुखार की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा,’ उत्तर प्रदेश में योगी सरकार का कारनामा देखिए, दूर दराज से लोग अपने बच्चों को साइकिल पर बिठाकर डेंगू का इलाज कराने ज़िला अस्पताल आते हैं लेकिन अस्पताल में, न बिस्तर न इलाज है। माँ बाप बीमार बच्चे को उसी हालात में वापस ले जाने पर मजबूर हैं।’

फिरोजाबाद में डेंगू का कहर: फिरोजाबाद में डेंगू अपना कहर बरपा रहा है। स्थिति यह है कि जिले की स्वास्थ्य सेवाएं बुरी तरह से चरमरा गई हैं। बेबस परिवार अस्पताल के बाहर घंटों तक इलाज का इंतजार कर रहे हैं। वहीं, जिला प्रशासन का कहना है कि बड़ी संख्या में बेड्स की व्यवस्था की जा रही है।

फिरोजाबाद के सीएमओ दिनेश कुमार का कहना है कि 64 कैंपों में 48 सौ लोगों का इलाज किया जा रहा है। इसमें बुखार वाले मरीज भी शामिल हैं। जानकारों का कहना है कि जिले में तकरीबन 12 हजार लोग बुखार से बिस्तर पर पड़े हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक इस बीमारी के चपेट में पूरा जिला आ चुका है। बीते 24 घंटे में यहां 4 और मरीजों की मौत हो चुकी है।

जिले में कुल मरने वालों की संख्या 120 पहुंच चुकी है। इसमें बच्चों की तादाद काफी ज्यादा है। उनका कहना है कि बीते सप्ताह NCDC की टीम ने फिरोजाबाद जिले में डेंगू के फैलने का खुलासा किया गया था। इस बीमारी से मरने वालों की संख्या में भी काफी वृद्धि देखने को मिल रही है। प्रशासन द्वारा बीमारी पर नियंत्रण पाने के लिए लगातार दवा का छिड़काव व घर घर जाकर सर्वे किया जा रहा है।

इस बीच केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर डेंगू जैसी वेक्टर जनित बीमारियों की रोकथाम और नियंत्रण गतिविधियों में तेजी लाने पर जोर दिया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों तथा प्रशासकों को लिखे पत्र में कहा है कि संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए कीट विज्ञान निगरानी, ​​​​स्रोत में कमी लाने संबंधी गतिविधियों और त्वरित वेक्टर नियंत्रण उपायों को क्रियान्वित किया जाना चाहिए।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट