ताज़ा खबर
 

वारंगल अग्निकांड: बहू और तीन पोते की जलकर मौत, पूर्व कांग्रेसी सांसद हिरासत में

कांग्रेस के पूर्व सांसद एस राजैया के घर में आज तड़के आग लग जाने से उनके परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई। उनका घर तेलंगाना के वारंगल जिले में है।

Author वारंगल (तेलंगाना) | November 5, 2015 12:49 AM
पूर्व कांग्रेसी सांसद एस. राजैया

पूर्व कांग्रेसी सांसद सिरसिला राजैया के यहां स्थित आवास पर बुधवार तड़के उनकी बहू और तीन पोते रहस्यमय हालात में जलकर मृत मिले। इसके कुछ घंटों बाद कांग्रेसी नेता, उनकी पत्नी और बेटे को पूछताछ के लिए पुलिस हिरासत में ले लिया गया। घटना के बाद कांग्रेस ने 21 नवंबर को होने जा रहे वारंगल लोकसभा उपचुनाव के लिए राजैया की जगह पूर्व केंद्रीय मंत्री सर्वे सत्यनारायण को पार्टी उम्मीदवार बनाया है। घटना के बाद पार्टी के निर्देशों पर उन्होंने उम्मीदवारी वापस ले ली। राजैया की बहू एस सारिका और तीन पोतों अभिनव (सात) और जुड़वां बच्चे अयान व श्रीयान (3) की जलने से मौके पर ही मौत हो गई।

वारंगल शहर के पुलिस आयुक्त जी सुधीर बाबू ने कहा कि राजैया, उनकी पत्नी माधवी और बेटे अनिल कुमार हनमकोंडा में दो मंजिला इमारत की पहली मंजिल पर घटना के समय घर में मौजूद लोगों में शामिल थे। हम पूछताछ के लिए उन्हें पुलिस थाने ले गए। किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने और तथ्य जुटाने के बाद हम आगे की कार्रवाई करेंगे। पुलिस सूत्रों ने बताया कि आग लगने के कारण साफ नहीं हैं और वह खुदकुशी व हत्या सहित हर कोण से जांच कर रही है। पोस्टमार्टम के लिए चारों शवों को एक सरकारी अस्पताल में ले जाया गया है।

अनिल और उनके माता-पिता एक ही घर में अलग-अलग मंजिल पर रहते हैं। यह पूछे जाने पर कि यह खुदकुशी है या हत्या, सुधीर बाबू ने कहा- फौरन निष्कर्ष पर पहुंचना आसान नहीं है। हमें कई बातों का पता करना है। लेकिन यह साफ है कि मौत जलने से हुई। वे कैसे जले, यह अभी साफ नहीं है। विस्फोट सहित घटना के कारण के बारे में पूछने पर बाबू ने कहा कि अभी तक इस बारे में कोई स्थिति साफ नहीं हो सकी है। फोरेंसिक साइंस प्रयोगशाला के विशेषज्ञ मामले को देख रहे हैं। जांच पूरी होने के बाद ही इस बारे में कुछ कह पाएंगे।

मौके का दौरा करने वाले तेलंगाना उत्तर क्षेत्र के महानिरीक्षक वी नवीन चंद ने कहा कि सारिका के बेडरूम में गैस सिलेंडर मिला है। उसका रेगुलेटर खुला था। उसके माता-पिता एक शिकायत दर्ज कराने की प्रक्रिया में थे। इसलिए राजैया और दो अन्य को पूछताछ के लिए ले जाया गया। शिकायत की सामग्री के अनुसार मामला दर्ज किया जाएगा।

अप्रैल 2014 में राजैया, उनकी पत्नी माधवी, बेटे एस अनिल कुमार और एक अन्य महिला के खिलाफ सारिका की शिकायत पर बेगमपेट महिला पुलिस थाने में आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। सारिका ने अपने ससुराल वालों पर दहेज के लिए प्रताड़ना का आरोप लगाया था।

बहुराष्ट्रीय कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी छोड़ने वाली सारिका ने अपनी शिकायत में यह आरोप भी लगाया था कि उसके पति के विवाहेतर संबंध थे। सारिका उस समय राजैया के घर के बाहर धरने पर भी बैठी थी। बुधवार की घटना के बाद सारिका की मां और उसकी बहन ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसके ससुराल वालों ने उसे प्रताड़ित कर उसकी हत्या की है। सारिका की बहन ने आरोप लगाया कि मेरी बहन आत्महत्या नहीं कर सकती। उसे परेशान कर उसकी हत्या कर दी गई।

कांग्रेसी नेता के आवास पर बहू व पोते रहस्यमय हालात में जलकर मृत मिले

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App