ताज़ा खबर
 

मुस्लिम मुक्‍त भारत वाले बयान पर साध्‍वी प्राची के खिलाफ केरल-पंजाब में FIR, कश्‍मीर विधानसभा में भी उठा मुद्दा

साध्वी प्राची ने हाल ही में बयान दिया था कि 'अब देश को मुस्लिम मुक्त बनाने का वक्त आ गया है।'

Author नई दिल्ली | June 9, 2016 12:49 PM
साध्वी प्राची (Photo Source: Indian Rxpress/Tashi Tobgyal)

विदादित बयानों के लिए सुर्खियों में रहने वाली साध्वी प्राची का हाल ही में दिया गया बयान उनके लिए दिक्कत पैदा कर सकता है। साध्वी प्राची के बयान का मुद्दा जहां जम्मू-कश्मीर विधानसभा में उठाया गया है, वहीं उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई है। बता दें, साध्वी प्राची ने हाल ही में बयान दिया था कि ‘अब देश को मुस्लिम मुक्त बनाने का वक्त आ गया है।’

कश्मीर विधानसभा में बुधवार सुबह साध्वी प्राची के बयान पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के विधायक शहनाज गनिया ने विरोध जताया और उनके बयान की निंदा करने की मांग की। बाद में उनके समर्थन में कांग्रेस विधायक भी उतर आए। विधायकों ने सदन में कहा है कि इस तरह के बयान देश के लिए सही नहीं है। साथ ही कहा कि मुस्लिम इस देश का हिस्सा हैं और कोई भी देश को उनसे मुक्त नहीं कर सकता। इस पर ज्यादा विवाद बढ़ने के बाद सदन को स्थगित करना पड़ा।

Read Also: साध्वी प्राची बोलीं- हम भारत को कांग्रेस मुक्त कर चुके, अब मुस्लिम मुक्त करने का वक्त है

वहीं दूसरी ओर ह्यूमन एंपावरमेंट लीग ऑफ पंजाब एनजीओ के कार्यकर्ता परविंदर किटना ने साध्वी प्राची के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही मांग की है कि उनके सख्त कार्रवाई की जाए। शिकायत के साथ ही यूट्यूब का एक लिंक भी दिया गया है, जिसमें साध्वी का वह बयान है।

Read Also: जो ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलना चाहते, उन्हें हिन्द महासागर में फेंक देना चाहिए: साध्वी प्राची

इसके साथ ही केरल के त्रिवेंद्रम में राहुल ईश्वर ने साध्वी प्राची के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज करवाई है। अंग्रेजी अखबार डीएनए से बात करते हुए राहुल ने बताया कि साध्वी प्राची का बयान सहन करने वाला नहीं है। इससे देश में नकारात्मकता पैदा होगी। मैं चाहता हूं कि साध्वी को अरेस्ट करके कुछ दिनों के लिए जेल में डालना चाहिए। राहुल ने साथ ही एफआईआर में कहा है कि साध्वी ने संवैधानिक अधिकारों का हनन किया है, उनके खिलाफ धारा 153 ए और 295 ए के तहत कार्रवाई की जाए।

साध्वी प्राची के विवादित बयान का वीडियो यहां देखेंः-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App