ताज़ा खबर
 

कांग्रेस के कीचड़मार विधायक नितेश नारायण राणे और 40-50 समर्थकों के खिलाफ FIR दर्ज, पुलिस ने हिरासत में लिया

बीते दिनों मध्य प्रदेश के बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के बल्ले से एक निगम अधिकारी की पिटाई के बाद अब 'कीचड़मार' विधायक चर्चा में हैं।

इंजीनियर पर कीचड़ फेंकते विधायक और उनके समर्थक। फोटो: Video grab image

महाराष्ट्र के कांग्रेस कीचड़मार विधायक नितेश नारायण राणे पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। इसके साथ ही उन्हों हिरासत में भी ले लिया गया है। पुलिस ने इसके साथ ही उनके 40-50 समर्थकों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की है। ये एफआईआर आईपीसी की धारा 353, 342, 332, 324, 323, 120(ए), 147, 143, 504, 506 के तहत दर्ज की गई है।

सिन्धुदुर्ग के एसपी दीक्षित गेडाम ने बताया कि ‘कांग्रेस विधायक ने कांकावली पुलिस स्टेशन में सरेंडर किया। उनके और उनके समर्थकों के खिलाफ कई धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है। उनके साथ उनके 2 सहयोगियों को भी हिरासत में लिया गया है। कल सभी को कोर्ट में पेश किया जाएगा।’

दरअसल मुंबई-गोवा राजमार्ग पर एक पुल का इंजीनियर प्रकाश शेडेकर राजमार्ग का निरीक्षण कर रहे थे। तभी वहां राणे समर्थकों समेत पुल का मुआयना करने पहुंचे थे। रास्ते में उन्हें कई जगह गड्ढे नजर आए थे, जिस पर वह बुरी तरह भड़क उठे। फौरन उन्होंने इंजीनियर प्रकाश शेडेकर को बुलवाया और उसे लताड़ने लगे।

जिसके बाद राणे और उनके समर्थकों ने इंजीनियर पर कीचड़ फेंक दिया। वह यही नहीं रुके उन्होंने इंजीनियर को नदी पर बने पुल से बांध दिया। घटना का एक वीडियो भी सामने आया जो कि सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो में देखा जा सकता है कि राणे इंजीनियर से बहस कर रहे हैं और इसके बाद बहस इतनी बढ़ जाती है कि वे और उनके समर्थन बाल्टी में कीचड़ भरकर एक के बाद एक इंजीनियर के ऊपर पलट देते हैं।

मालूम हो कि बीते दिनों मध्य प्रदेश के बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय के बल्ले से एक निगम अधिकारी की पिटाई के बाद अब ‘कीचड़मार’ विधायक चर्चा में हैं। बीती 26 जून को इंदौर नगर निगम की टीम एक जर्जर इमारत को ढहाने गई थी। इसी दौरान पहली बार विधायक बने आकाश विजयवर्गीय (34 वर्षीय) ने नगर निगम कमिश्नर की बैट से पिटाई कर दी थी। इसे लेकर आकाश विजयवर्गीय की खूब आलोचना भी हुई थी। इसके लिए आकाश विजयवर्गीय को कोर्ट के आदेश पर गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। हालांकि भोपाल की एक विशेष अदालत ने आकाश विजयवर्गीय को जमानत दे दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केंद्रीय मंत्रियों के खिलाफ करप्शन के मामलों की जानकारी PMO को देनी होगी, CIC का निर्देश
2 मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट कल पेश होगा, सरकारी कर्मचारियों को मिल सकता यह बड़ा तोहफा
3 बैटमार MLA आकाश विजयवर्गीय को कारण बताओ नोटिस, पीएम के कड़े रुख के बाद बीजेपी की कार्रवाई
ये पढ़ा क्या?
X