इनकम टैक्स के नए पोर्टल में ढ़ाई महीने बाद भी आ रही दिक्कतें, वित्त मंत्रालय ने इंफोसिस के CEO को जारी किया समन

बीते 7 जून को वित्त मंत्रालय ने इस नए पोर्टल को लांच किया था। लांच होने के बाद से ही पोर्टल में तकनीकी दिक्कतें आ रही हैं।

वित्त मंत्रालय ने आयकर विभाग के नए पोर्टल में तकनीकी खामी मौजूद रहने के कारण 23 अगस्त को इंफोसिस के सीईओ सलिल पारेख को तलब किया है। (फोटो- पीटीआई/ ब्लूमबर्ग)

ढ़ाई महीने बाद भी आयकर विभाग के नए इनकम टैक्स ई-फाइलिंग पोर्टल में तकनीकी खामी मौजूद रहने के कारण वित्त मंत्रालय ने इंफोसिस के सीईओ सलिल पारेख को समन जारी किया है। सलिल पारेख को 23 अगस्त को वित्त मंत्रालय के सामने पेश होने को कहा गया है और यह बताने के लिए कहा गया है कि आखिर ढ़ाई महीने बाद भी पोर्टल ठीक से काम क्यों नहीं कर रहा है।

रविवार को आयकर विभाग ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। आयकर विभाग की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया कि वित्त मंत्रालय ने 23 अगस्त को इंफोसिस के प्रबंधक निदेशक और सीईओ सलिल पारेख को तलब किया है। उन्हें वित्त मंत्री को यह समझाने के लिए समन जारी किया गया है कि आखिर नए ई फाइलिंग पोर्टल के शुरू होने के ढ़ाई महीने बाद भी पोर्टल में मौजूद तकनीकी खामियों का समाधान क्यों नहीं किया गया है। यहां तक कि 21 अगस्त से तो पोर्टल ही उपलब्ध नहीं हैं।

बीते 7 जून को वित्त मंत्रालय ने इस नए पोर्टल को लांच किया था। लांच होने के बाद से ही पोर्टल में तकनीकी दिक्कतें आ रही थी। जिसके बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इंफोसिस के अधिकारियों के साथ बैठक की और पोर्टल को अधिक यूजर फ्रेंडली बनाने के लिए कहा था। हालांकि वित्त मंत्रालय के संज्ञान लेने के बावजूद पोर्टल की समस्या का समाधान नहीं निकला। जबकि इंफोसिस ने कहा था कि जुलाई तक इस समस्या का समाधान हो जाएगा।

नए पोर्टल में लोगों को अपने प्रोफाइल को अपग्रेड करने, पासवर्ड बदलने और इनकम टैक्स फाइलिंग में समस्या आ रही हैं। बीते दिनों कई यूजर ने वेबसाइट पर आ रही समस्याओं का स्क्रीनशॉट ट्विटर पर भी साझा कर आयकर विभाग से इसकी शिकायत की थी।

इस पोर्टल को तकनीकी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी इंफोसिस ने तैयार किया है। साल 2019 में ही इस पोर्टल को अपग्रेड करने का जिम्मा इंफोसिस को दिया गया था। इसके लिया सरकार ने इंफोसिस को करीब 165.4 करोड़ रुपए का भुगतान किया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट