ताज़ा खबर
 

Budget 2020 Speech: मोदी सरकार की उपलब्धियों और GST के शिल्पकार को याद कर FM ने शुरू किया बजट भाषण, पढ़ें- पूरी स्पीच

Budget 2020 Nirmala Sitaraman Speech Highlights and Important Points in Hindi:

Author Edited By Sanjay Dubey नई दिल्ली | Updated: February 1, 2020 3:33 PM
संसद में बोलतीं केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण। (इमेज सोर्स-एएनआई)

Budget 2020 Nirmala Sitaraman Speech Highlights: केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार का लक्ष्य लोगों को रोजगार उपलब्ध कराना, कारोबार को मजबूत करना, सभी अल्पसंख्यकों, अनुसूचित जाति / जनजाति की महिलाओं की आकांक्षाओं को पूरा करना है। कहा कि पिछले दो साल में जीएसटी में दो लाख नए करदाता जुड़े है। 40 करोड़ रिटर्न दाखिल किये गए। 105 करोड़ ई-वे बिल सृजित हुए। जीएसटी से परिवहन और लॉजिस्टिक क्षेत्र की दक्षता बढ़ी, इंस्पेक्टर राज समाप्त हुआ, लघु और मझोले उद्योग क्षेत्र को लाभ हुआ और ग्राहकों को एक लाख करोड़ रुपये का सालाना बचत हुई।

वित्त मंत्री ने कहा कि वित्त वर्ष 2014-15 से 2018-19 के दौरान 7.4 प्रतिशत की औसत आर्थिक वृद्धि हासिल की गई। भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था हो गया है। बताया कि एक अप्रैल 2020 से जीएसटी की नई सरलीकृत रिटर्न व्यवस्था लागू होगी। उन्होंने कहा कि हम हर नागरिक के जीवन को सुगम बनाने का पूरा प्रयास करेंगे। कहा कि अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है, मुद्रास्फीति नियंत्रण में है और बैंकों का बही खाता साफ सुथरा हुआ है।

वित्त मंत्री ने शनिवार को वित्त वर्ष 2020-21 का बजट पेश करते हुए कहा कि हमारा मकसद लोगों की आय और खरीद क्षमता बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि 2014-19 के दौरान सरकार ने कामकाज के संचालन में बड़ा बदलाव किया है। उन्होंने माल एवं सेवा कर को ऐतिहासिक संरचनात्मक सुधार करार देते हुए कहा कि इससे देश आर्थिक रूप में एकीकृत हुआ है। कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 का बजट मुख्यत: तीन बातों ‘आकांक्षी भारत, सभी के लिए आर्थिक विकास करने वाला भारत और सभी की देखभाल करने वाला समाज भारत’ पर केंद्रित है। बोलीं कि मशीन लर्निंग, कृत्रिम मेधा (आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस), आंकड़ा विश्लेषण जैसी प्रौद्योगिकी में तीव्र वृद्धि हो रही है, उत्पादक श्रेणी में आने वाले लोगों की संख्या सर्वाधिक है।

वित्त मंत्री ने बताया कि नाबार्ड पुर्निवत्त योजना का विस्तार किया जाएगा। 2020-21 के लिए 15 लाख करोड़ रुपए के कृषि ऋण का लक्ष्य है। वर्ष 2020-21 में 11,500 करोड़ रुपए हर घर जल योजना के लिए दिए जाएंगे। दुग्ध प्रसंस्करण क्षमता 2025 तक दोगुनी की जाएगी। समुद्री मत्स्य संसाधन के विकास, प्रबंधन और संरक्षण की नई व्यवस्था बनाई जाएगी। मछली उत्पादन 2022-23 तक बढ़ाकर 200 लाख टन किया जाएगा। स्वच्छ भारत अभियान के लिए 2020-21 के बजट में 12,300 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है। ग्रामीण युवा ‘सागर मित्र’ के रूप में मत्स्य विस्तार आगे बढ़ाएंगे। 500 मत्स्य किसान उत्पादक संगठन बनाए जाएंगे।

पढ़ें वित्त मंत्री का पूरा भाषण

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंकों में जमाकर्ताओं के लिए ‘जमा बीमा सुरक्षा’ एक लाख रुपए से बढ़ाकर 5 लाख रुपए किया जा रहा है। गैर-राजपत्रित, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में भर्ती के लिए ‘राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी’ बनाई जाएगी। कहा कि करदाताओं के लिए सुविधा बढ़ाने, कर अधिकारियों के परेशान करने से बचाव के लिए कानूनों में सरकार जरूरी सुधार करेगी। लघु और मझोले उद्योगों (एमएसएमई) को आसान ऋण उपलब्ध कराने के लिए गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनी कानून में जरूरी संशोधन किया जाएगा, रिजर्व बैंक से एमएसएमई ऋण पुनर्गठन समय सीमा बढ़ाने का आग्रह किया जाएगा।

बजट 2020 से जुड़े लाइव अपडेट्स, हाईलाइट्स, लाइव स्‍ट्रीम‍िंग न्‍यूज

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि महिलाओं के लिए विवाह योग्य आयु की सिफारिश करने के लिए कार्यबल का गठन किया जाएगा। सीतारमण ने 2020-21 के लिए बजट पेश करते हुए कहा कि वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगों के लिए 9500 करोड़ रुपए मुहैया कराए गए हैं, वहीं वित्त वर्ष 2020-21 में पोषण संबंधी कार्यक्रम के लिए 35600 करोड़ आवंटित किए गए हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए बजट में 85 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार का झारखंड के रांची में एक आदिवासी संग्रहालय खोलने का भी प्रस्ताव है, वहीं हरियाणा, उत्तर प्रदेश, असम, गुजरात और तमिलनाडु में पांच पुरातत्व स्थलों पर संग्रहालय बनाए जाने हैं। सरकार ने संस्कृति मंत्रालय के लिए 3150 करोड़ रुपए और पर्यटन मंत्रालय के लिए 2500 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं।

Next Stories
1 Budget 2020 Highlights: भारत का नया खजाना डेटा, देश भर में बनाए जाएंगे डेटा सेंटर पार्क- जानें वित्त मंत्री की बड़ी बातें
2 मोदी सरकार ने ‘कुसुम योजना’ के तहत 20 लाख किसानों को सोलर पंपसेट देने का किया ऐलान, 2022 तक आय दोगुनी करने का वादा दोहराया
3 ‘मेरा वतन, तुम्हारा वतन, हम सबका वतन, डल लेक में तैरते कमल जैसा’, कश्मीरी कविता से वित्त मंत्री ने बजट भाषण में बांधा समां
ये पढ़ा क्या?
X