ताज़ा खबर
 

कोरोना से जंग : छह देशों से ज्यादा है नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित कोरोना पैकेज, चीन से ढाई गुना

Aatma Nirbhar Bharat Abhiyan: प्रधानमंत्री ने बताया कि यह पैकेज जीडीपी का करीब दस फीसदी है। जीडीपी के प्रतिशत के लिहाज से देखें तो यह कम से कम छह देशों से ज्यादा है।

पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है। (फोटो-ANI)

Aatma Nirbhar Bharat Abhiyan: कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मई को 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया। इसकी मांग काफी समय से की जा रही थी। प्रधानमंत्री ने 12 मई की रात आठ बजे करीब 35 मिनट देश को संबोधित किया। इसमें देश की आत्मनिर्भरता पर ज़ोर दिया। ‘आत्मनिर्भर’ शब्द का प्रयोग 38 बार किया। वह बोले कि इस पैकेज से भी आत्मनिर्भरता लाने में मदद मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने बताया कि यह पैकेज जीडीपी का करीब दस फीसदी है।  जीडीपी के प्रतिशत के लिहाज से देखें तो यह कम से कम छह देशों से ज्यादा है। ये देश हैं दक्षिण कोरिया, चीन, यूके, इटली, स्पेन और फ़्रांस।जर्मनी द्वारा घोषित पैकेज (जीडीपी का 10.7 प्रतिशत) भी लगभग भारत के बराबर ही है। स्वीडन (12%), अमेरिका (13%) और जापान (21.1%) सरकार द्वारा घोषित कोरोना पैकेज भारत की तुलना में ज्यादा है। बता दें कि इन देशों का आंकड़ा 10 मई तक घोषित पैकेज के आधार पर है।

इन देशों ने जीडीपी का कितना प्रतिशत पैकेज घोषित किया है, वह इस ग्राफ में देखिये।

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पैकेज का कोई ब्योरा नहीं दिया। ब्योरा 13 मई से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन देंगी। देखा जाए तो जो पैकेज प्रधानमंत्री ने घोषित किया है, उसे 130 करोड़ से भाग दें तो हर आदमी के हिस्से करीब 15 हजार रुपए आता है।

Corona Virus in India Live Updates

काँग्रेस ने पैकेज को नाकाफी बताया है। मध्य प्रदेश काँग्रेस की ओर से ट्वीट किया गया- जीडीपी का केवल 10 प्रतिशत? 50 प्रतिशत होना चाहिए। राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि असल में यह पैकेज कितना कारगर होगा, यह तभी कहा जा सकता है जब इसकी डीटेल सामने आएगी।

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में आत्मनिर्भरता पर ज़ोर दिया, लेकिन अभी यह साफ नहीं है कि सरकार यह पैकेज देने में आत्मनिर्भर साबित होगी? सवाल यह भी है कि आज मिलने वाला यह राहत कल जनता पर भारी तो नहीं पड़ेगा? पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ा कर, ज्यादा किराए पर ट्रेन सेवा शुरू कर सरकार ने एक तरह से ये संकेत दे भी दे दिया है।

Coronavirus/COVID-19 और Lockdown से जुड़ी अन्य खबरें जानने के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें: शराब पर टैक्स राज्यों के लिए क्यों है अहम? जानें, क्या है इसका अर्थशास्त्र और यूपी से तमिलनाडु तक किसे कितनी कमाईशराब से रोज 500 करोड़ की कमाई, केजरीवाल सरकार ने 70 फीसदी ‘स्पेशल कोरोना फीस’ लगाईलॉकडाउन के बाद मेट्रो और बसों में सफर पर तैयार हुईं गाइडलाइंस, जानें- किन नियमों का करना होगा पालनभारत में कोरोना मरीजों की संख्या 40 हजार के पार, वायरस से बचना है तो इन 5 बातों को बांध लीजिये गांठ…कोरोना से जंग में आयुर्वेद का सहारा, आयुर्वेदिक दवा के ट्रायल को मिली मंजूरी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 PM Narendra Modi 12th May Speech HIGHLIGHTS: योगी आदित्यनाथ और जदयू नेता हरिवंश ने की पीएम मोदी के 20 लाख करोड़ के पैकेज ऐलान की तारीफ, कहा- इससे देश को आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगी
2 Corona Crisis: 57 मजदूरों को ट्रक में ठूस ले जा रहा था घर, हर आदमी से वसूले थे 3000 रुपये
3 ‘जुल्म ही मोदी सरकार की इंसानियत है?’, मजदूरों पर मार को लेकर कांग्रेसी कीर्ति आजाद का ट्वीट, लोग कर रहे ऐसे कमेंट्स