ताज़ा खबर
 

14 साल की उम्र में पता चला बेटा गे है, पिता ने मार दी गोली

पुलिस ने बताया कि 53 साल के वेन्डेल मेल्टन ने अपने बेटे गिओवानी मेल्टन को गोली मार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। दोनों के बीच गिओवानी के गे होने को लेकर बहस हो रही थी। गिओवानी ने पिता को बताया कि उसका एक बॉयफ्रेंड भी है।

gun shotप्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

यूं तो आज के दौर में होमोसेक्शुआलिटी को बहुत से समाजों में मान्यता मिलने लगी है। लेकिन आज भी दुनिया में ऐसे कई देश हैं जहां समलैंगिकता को नफ़रत की नज़र से देखा जाता है, इसे क़ुदरती नहीं माना जाता। कई पश्चिमी देशों में इसे ग़ैरक़ानूनी माना जाता है। कई बार संतान के समलैंगिक होने पर माता पिता को शर्मिंदगी भी महसूस होती है। ऐसे में कई बार माता पिता इसे लेकर गलत कदम भी उठा लेते हैं। ऐसा ही कुछ अमेरिका के नेवादा में हुआ। यहां एक शख्स ने अपने 14 साल के बेटे की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वह गे था।

इस बात का खुलासा मृत लड़के की मां ने किया है। उस लड़के की मां ने कहा कि पिता के मन में बेटे को लेकर काफी गुस्सा था और उन्हें लगता था कि बेटे के गे होने से अच्छा बेटा न होना है। पुलिस ने बताया कि 53 साल के वेन्डेल मेल्टन ने अपने बेटे गिओवानी मेल्टन को गोली मार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। दोनों के बीच गिओवानी के गे होने को लेकर बहस हो रही थी। गिओवानी ने पिता को बताया कि उसका एक बॉयफ्रेंड भी है।

रिपोर्ट के मुताबिक वेन्डेल ने अपने बेटे को उसके बॉयफ्रेंड के साथ देख लिया था। जिसके बाद दोनों के बीच जमकर बहस हुई। घरेलू हिंसा की सूचना मिलने पर पुलिस गिओवानी के फ्लैट पहुंची, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। गिओवानी फ्लैट में अकेले रहता था। पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पिता पर मर्डर और बच्चे के शोषण का आरोप है। पुलिस जांच कर रही है।

बता दें ऐसा ही एक मामला भारत का भी है जहां एक इसरो वैज्ञानिक कि हत्या समलैंगिक सम्बन्धों के चलते की गई थी। इसरो के नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर में काम करने वाले एस सुरेश की बॉडी एक अक्टूबर को हैदराबाद के उनके फ्लैट में मिली थी। पुलिस ने बात में हत्या के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था। आरोपी का नाम जनगमा श्रीनिवास बताया गया था, वह एक लैब टेक्निशियन था। पुलिस का दावा था कि इसरो वैज्ञानिक और श्रीनिवास के बीच गे संबंध थे। दोनों के बीच संबंध के पेमेंट को लेकर विवाद हुआ और श्रीनिवास ने वैज्ञानिक की हत्या कर दी।

Next Stories
1 Ayodhya Verdict: फैसले वाले दिन UP में नहीं हुई कोई वारदात! हत्या, लूट-अपहरण, रेप समेत नहीं आई कोई शिकायत; अफसर हैरान
2 Maharashtra: सामना में बोली शिवसेना- नीलकंठ बनने को तैयार, कांग्रेस-NCP संग मिलकर सरकार बनाना विष पीने जैसा
3 किन हालातों में लगना चाहिए राष्ट्रपति शासन? बोम्मई केस में SC ने किया है स्पष्ट
ये पढ़ा क्या?
X