ताज़ा खबर
 

मेजर गोगोई को मिले सम्मान से निराश डार, बोला- मैं जानवर था क्या, जो मुझे जीप के आगे बांधकर घुमाया

"मैं सिर्फ एक चीज पूछना चाहता हूं कि क्या मैं कोई जानवर था जिसे गाड़ी के आगे बांधा गया और घुमाया गया। क्या मैं कोई भैस या बैल था?"

सेना की जीप पर बंधे इस युवक की तस्वीर वायरल हो गई थी।

कश्मीर में एक शख्स को सेना की जीप के आगे बांधकर घुमाने का मामला सामने आया था। कश्मीरी शख्स को जीप में बांधकर घुमाने वाले मेजर गोगोई को सोमवार को सेना की ओर से सम्मानित किया गया। इस पर कश्मीरी नागरिक ने सवाल पूछते हुए कहा कि क्या मैं कोई जानवर था जो मेरे साथ इस तरह का सलूक किया। इस शख्स का नाम फारुख डार है। फारुख को कश्मीर के बड़गाम जिले में अप्रैल महीने में चुनाव के दिन जीप के आगे बांधकर घुमाया गया था। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

डार ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में कहा, “मैं सिर्फ एक चीज पूछना चाहता हूं कि क्या मैं कोई जानवर था जिसे गाड़ी के आगे बांधा गया और घुमाया गया। क्या मैं कोई भैस या बैल था?” मेजर को सम्मानित किए जाने से निराश डार ने कहा कि अगर भारतीय कानून में यह जायज़ है तो मैं क्या कह सकता हूं। मैं छड़ी उठाकर उन लोगों से लड़ने नहीं चाहता जिन्होंने अधिकारी का सम्मान किया। सेना के अधिकारी को सम्मानित किए जाने को लेकर राज्य की विपक्षी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने भी सवाल उठाए। हालांकि, सेना का कहना है कि अधिकारी को उस कार्रवाई के लिए सम्मानित नहीं किया गया जो कि बड़गाम में हुई थी।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रवक्ता जुनैद मट्टू ने कहा कि आप ने कोर्ट के फैसले की भी प्रतिक्षा नहीं है, बल्कि एक ऐसे व्यक्ति को सम्मानित किया जिसने किसी को “मानव ढाल” बनाने जैसा विचित्र काम किया। क्या सभ्य समाज में ऐसा संभंव है। अधिकारी को रक्षा मंत्री द्वारा क्लीनचिट दी गई।

बता दें कि मेजर लितुल गोगोई को सोमवार को सेना की ओर से सम्मानित किया गया था। उन्हें उनकी विशिष्ट सेवा के लिए थलसेना अध्यक्ष की ओर से प्रशस्ति पत्र दिया गया। कश्मीर में सुरक्षाबलों और सेना को आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान स्थानीय नागरिकों का विरोध झेलना पड़ता और पत्थरबाजी का सामना करना पड़ता है। गोगाई द्वारा डार को गाड़ी से बांधकर घुमाने का मामला सामने आया था। कहा गया था कि मेजर द्वारा स्थानीय नागरिकों के पथराव से बचने के लिए ऐसा किया गया था। वीडियो सामने आने के बाद सेना ने मेजर के खिलाफ कोर्ट ऑफ इन्क्वॉयरी बैठाई थी लेकिन जांच में मेजर गोगोई को क्लीन चिट मिल गई थी। मंगलवार को कश्मीर के आईजी मुनीर खान ने कहा है कि अभी भी लितुल गोगोई के खिलाफ जांच जारी रहेगी। इस घटना का वीडियो जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने शेयर किया था।

 

जम्मू-कश्मीर: युवक को जीप से बांधकर घुमाने की वीडियो सामने आने के बाद सेना पर दर्ज हुई FIR

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App