ताज़ा खबर
 

फारुख अब्दुल्ला ने कहा- देश विरोधी नारों से न तो देश टूटा है और न ही टूटेगा, कश्‍मीर में यह आम बात

भारत-पाक तनाव के मसले पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि जमीन का फैसला लड़ाई के मैदान पर नही हो सकता है।

Author मेरठ | March 14, 2016 18:14 pm
जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला का कहना है कि देश विरोधी नारों से न तो देश टूटा है और न ही टूटेगा। उत्तर प्रदेश के मेरठ में रविवार को एक कार्यक्रम में फारुख अब्दुल्ला ने जेएनयू मामले में पूछे गए सवाल के जवाब में यह बयान दिया। उन्‍होंने कहा कि कश्मीर में इस तरह की नारेबाजी आम है।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि भाजपा ने चुनाव से पहले युवाओं को रोजगार दिलाने की बात कही थी। लेकिन दो साल बीत गए अभी तक युवाओं को रोजगार नही मिला है। यही नही विदेशों में जमा काला धन भी अभी तक वापस देश में नही आया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि दो माह से अधिक समय बीत चुका है। अभी तक जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और भाजपा सरकार बनाने के बारे में कोई फैसला तक नही कर सके हैं। इसका फायदा आतंकवादी उठा रहे हैं।

Read Alsoमंच पर राजनाथ सिंह की मौजूदगी में श्रीश्री रविशंकर बोले- ‘जय हिंद, पाकिस्‍तान जिंदाबाद’

भारत-पाक तनाव के मसले पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि जमीन का फैसला लड़ाई के मैदान पर नही हो सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के अचानक पाकिस्तान जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सही कदम है। इससे दोनों देशों के बीच बातचीत का माहौल तैयार होगा। आंतकवाद के सवाल पर फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि देश के विकास के लिए आंतकवाद का खात्मा बेहद जरुरी है।

Read Also:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App