ताज़ा खबर
 

सीधे-सीधे बताता हूं, पीओके पाकिस्‍तान का है चाहे जितनी जंग लड़ लो, ये नहीं बदलेगा: फारूक अब्‍दुल्‍ला

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अबदुल्ला ने कहा- भारत सरकार ने हमारे साथ अच्छा बर्ताव कभी नहीं किया। हमें धोखा दिया गया।

नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता और जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला। (File Photo)

नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के प्रेसिडेंट और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार को कहा कि आजाद कश्मीर की कोई वास्तविकता नहीं थी। श्रीनगर में पार्टी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने एक बार फिर कश्मीर को लेकर विवादित बयान दिया। अब्दुल्ला ने कहा, ‘कश्मीर की आजादी की कोई सच्चाई नहीं है, क्योंकि ये चारों तरफ से भारत, पाकिस्तान और चीन जैसी परमाणु शक्तियों से घिरा हुआ है। तीनों के पास परमाणु बम हैं। हमारे पास केवल अल्लाह के सहारे के अलावा और कुछ भी नहीं है। वे लोग जो आजादी की बात कर रहे हैं, गलतत कर रहे हैं।’

1947 के परिग्रहण के साधन (Instrument of Accession) पर बात करते हुए कश्मीर के पूर्व सीएम ने कहा, ‘पाक अधिकृत कश्मीर पाकिस्तान का हिस्सा है और उसे कोई नहीं छीन सकता।’ उन्होंने कहा सरकार पर कश्मीर से धोखा करने का आरोप भी लगाया। लोकसभा में श्रीनगर का प्रतिनिधित्व करने वाले अबदुल्ला ने कहा, ‘भारत सरकार ने हमारे साथ अच्छा बर्ताव कभी नहीं किया। हमें धोखा दिया गया। उन्होंने हमारे उस प्यार को नहीं समझा, जिसकी वजह से हमने उन्हें पसंद किया था और कश्मीर की वर्तमान स्थिति के पीछे यही मुख्य कारण है।’

अबदुल्ला ने आंतरिक स्वायत्तता पर जोर देकर कहा कि वह उनका अधिकार था। उन्होंने कहा, ‘हमारी आंतरिक स्वायत्तता को फिर से बहाल किया जाना चाहिए, तभी तो शांति कश्मीर में वापस आएगी।’ उन्होंने कहा, ‘मैं यह कहना चाहता हूं, ना केवल भारत से, बल्कि पूरी दुनिया से कि पीओके पाकिस्तान में आता है और बाकी कश्मीर भारत में आता है। ये नहीं बदलेगा। इसे लेकर जितनी लड़ाई करना चाहते हैं वे लोग उन्हें करने दो, लेकिन ये नहीं बदलेगा। बता दें कि इससे पहले भी फारूख अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार पर कश्मीर के मुद्दे को लेकर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि बीजेपी और राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) मिलकर जम्मू कश्मीर की स्वायत्ता को खत्म करना चाहते हैं। यह ही संघ का प्लान है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App