ताज़ा खबर
 

दिल्ली हिंसा: दिल्ली पुलिस को 1700 VIDEO और CCTV फुटेज मिले

दिल्ली में 26 जनवरी को किसान यूनियनों ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की अपनी मांग को रेखांकित करने के लिए ट्रैक्टर परेड निकाली थी जिस दौरान दिल्ली में हिंसा हुई थी।

Farmers, Ghazipur Border, India Newsनई दिल्ली में शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर पर बापू की पुण्यतिथि पर अनशन करते हुए किसान। (फोटोः पीटीआई)

दिल्ली पुलिस को गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा से संबंधित अब तक 1,700 वीडियो क्लिप और सीसीटीवी फुटेज जनता से प्राप्त हुई हैं तथा इस सामग्री का विश्लेषण करने और दोषियों की पहचान करने के लिए फॉरेंसिक विशेषज्ञों की मदद ली जा रही है। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) बी. के. सिंह ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि लालकिले और आईटीओ पर हुई हिंसा से जुड़े नौ मामलों की जांच कर रही अपराधा शाखा मोबाइल फोन कॉल के ‘डंप डेटा’ और ट्रैक्टरों की पंजीकरण संख्या की भी जांच कर रही है।

सिंह ने कहा कि नेशनल फॉरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी की एक टीम को हिंसा से संबंधित वीडियो क्लिप और सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण करने के लिए बुलाया गया है। हिंसा में 394 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे । उस दिन एक प्रदर्शनकारी की मौत भी हो गई थी। दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को प्रमुख समाचार पत्रों में एक अपील जारी की थी जिसमें लोगों से हिंसा के बारे में कोई सबूत या जानकारी साझा करने के लिए कहा गया था। सिंह ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हमारी अपील के बाद, दिल्ली पुलिस को गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा से संबंधित 1,700 वीडियो क्लिप और सीसीटीवी फुटेज जनता से मिली हैं। वीडियो के माध्यम से, हम हिंसा में लिप्त रहे व्यक्तियों की पहचान करेंगे।’’

उन्होंने कहा कि जांचकर्ता ड्रोन-लगे कैमरों से लिए गए फुटेज और तस्वीरों का भी विश्लेषण कर रहे हैं और लालकिला क्षेत्र की में की गई तोड़फोड़ की 3डी मैपिंग कर रहे हैं। शनिवार को फोरेंसिक विशेषज्ञों की एक टीम ने नमूने लेने के लिए लालकिले का दौरा किया। दिल्ली में 26 जनवरी को किसान यूनियनों ने केंद्र के तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की अपनी मांग को रेखांकित करने के लिए ट्रैक्टर परेड निकाली थी जिस दौरान दिल्ली में हिंसा हुई थी। कई प्रदर्शनकारी, ट्रैक्टर चलाते हुए लालकिले पहुंच गए थे जबकि उनमें से कुछ ने अपने धार्मिक झंडे उसके गुंबदों और प्राचीर पर लगा दिया था, जहां स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है।

दिल्ली पुलिस ने अपनी अपील में कहा था, ‘‘मीडियाकर्मियों सहित जनता के उन सभी सदस्यों, जो घटनाओं के गवाह हैं या उन्हें उसके बारे में कोई जानकारी है, अपने मोबाइल फोन या कैमरे पर कोई गतिविधि कैद की है, इसके जरिये अनुरोध किया जाता है कि वे आगे आयें और वे अपने बयान / फुटेज / तस्वीर कमरा नंबर 215, दूसरी मंजिल, पुराने दिल्ली पुलिस मुख्यालय में किसी भी कार्य दिवस पर कार्यालय समय के दौरान अथवा 8750871237 या 011-23490094 पर संपर्क करके या ई-मेल के जरिये भेज सकते हैं।

Live Blog

Highlights

    05:49 (IST)01 Feb 2021
    किसानों पर दर्ज किए जा रहे मामलों से आंदोलन और तेज होगा

    केंद्र सरकार द्वारा आज ऑनलाइन बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में आम आदमी पार्टी की ओर से लोक सभा मैंबर और पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष भगवंत मान ने काले कानूनों के विरुद्ध आंदोलन कर रहे किसानों का मसला जोर शोर से उठाया। 26 जनवरी को लाल किले पर घटी घटना के संदर्भ में बात करते भगवंत मान ने कहा कि उस दिन जो हुआ वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। मान ने कहा कि आंदोलन कर रहे सभी किसानों को इस घटना के साथ जोडक़र न देखा जाए।. उन्होंने कहा कि किसानों पर दर्ज किए जा रहे मामलों से आंदोलन और तेज होगा।

    05:43 (IST)01 Feb 2021
    शरद पवार पहले कृषि कानूनों के पक्ष में थे

    शरद पवार कृषि मंत्री के पद पर रहे हैंं! वह पहले इन कानूनों के पक्ष में थे इसे लागू करने की उन्होंने पूरी कोशिश भी कि। वह इन कानून के फायदे समझते हैं मुझे हैरानी हुई जब वह इसके विरोध में खड़े हो गये. कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शरद पवार को अनुभवी नेता बनाते हुए यह बात कही!

    22:30 (IST)30 Jan 2021
    पटियाला में जाह्नवी कपूर की फिल्म 'गुड लक जेरी' की शूटिंग को किसानों ने बाधित किया

    पंजाब के पटियाला जिले में फिल्म अभिनेत्री जाह्नवी कपूर की आगामी फिल्म "गुड लक जेरी" की शूटिंग शनिवार को किसानों के एक समूह ने कुछ देर के लिए बाधित कर दी। किसानों ने अभिनेत्री से तीन कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ उनके विरोध के समर्थन में बयान देने की मांग की है। यह दूसरी बार है जब पटियाला में फिल्म की शूटिंग रोकी गई। इससे पहले, इसे फतेहगढ़ साहिब जिले में बाधित किया गया था। शूटिंग शनिवार को पटियाला में पंजाब बाग इलाके के पास हो रही थी। प्रदर्शनकारी किसानों ने जोर देकर कहा कि अभिनेत्री जाह्नवी कपूर को उन किसानों के समर्थन में बयान देना चाहिए जो नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं। एक प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘‘हमने उन्हें पहले ही बता दिया था कि वे फिल्म की शूटिंग यहां नहीं होने देंगे। लेकिन उन्होंने फिर भी शूटिंग की। हमने इसे आज फिर से रोक दिया।" उन्होंने कहा, “हमें किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है। यदि वह (अभिनेत्री) केवल एक बार किसानों के समर्थन में एक बयान दे देती हैं, तो हम शूटिंग करने देंगे।”

    22:09 (IST)30 Jan 2021
    हजारे के अनशन की घोषणा से पीछे हटने पर शिवसेना का तंज, कहा कि यह तो अपेक्षित था

    किसानों के मुद्दों को लेकर पहले भूख हड़ताल की घोषणा करने और फिर कुछ ही घंटों में इससे पीछे हटने पर सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे की आलोचना करते हुए शिवसेना ने शनिवार को कहा कि यह तो अपेक्षित था। हजारे ने नये कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में बेमियादी हड़ताल की घोषणा शुक्रवार को की थी, लेकिन बाद में उन्होंने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री कैलाश चौधरी के साथ बातचीत के बाद फैसला बदल लिया। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित संपादकीय के अनुसार, ‘‘यह घटनाक्रम मजेदार रहा, लेकिन अपेक्षित था।’’

    22:09 (IST)30 Jan 2021
    सरकार ने अभी तक एमएसपी पर 1.12 लाख करोड़ रुपये के धान खरीदे

    धान की सरकारी खरीद चालू खरीफ विपणन सत्र में अभी तक 19 प्रतिशत बढ़कर 596.98 लाख टन हो गई है, जिसकी लागत 1.12 लाख करोड़ रुपये से अधिक है। एक सरकारी बयान में कहा गया, "मौजूदा खरीफ विपणन सत्र (केएमएस) 2020-21 में, सरकार एमएसपी योजनाओं के अनुसार किसानों से खरीफ 2020-21 फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद जारी रखे हुए है।" खरीफ विपणन सत्र अक्टूबर महीने से शुरू होता है। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) और राज्य एजेंसियों ने 29 जनवरी, 2021 तक 596.98 लाख टन धान की खरीद की है, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 501.97 लाख टन की हुई खरीद से 18.92 प्रतिशत अधिक है।

    22:09 (IST)30 Jan 2021
    थरूर और वरिष्ठ पत्रकारों के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द की जाए: कांग्रेस

    कांग्रेस ने अपने सांसद शशि थरूर और कुछ पत्रकारों के खिलाफ नोएडा पुलिस द्वारा मामला दर्ज किए जाने की आलोचना करते हुए शनिवार को आरोप लगाया कि केंद्र एवं राज्यों की भाजपा सरकार विरोध की हर आवाज को दबाने में लगी हुई हैं। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि थरूर और पत्रकारों के खिलाफ दर्ज मामले रद्द किए जाने चाहिए। उल्लेखनीय है कि दिल्ली में 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में गलत खबर फैलाने के आरोप में नोएडा पुलिस ने कांग्रेस सांसद शशि थरूर व छह पत्रकारों समेत आठ लोगों के खिलाफ राजद्रोह तथा अन्य आरोपों में मामला दर्ज किया है।

    21:40 (IST)30 Jan 2021
    गाजीपुर बॉर्डर पर रागिनी का आयोजन
    21:02 (IST)30 Jan 2021
    एमएसपी) पर प्रतिकूल प्रभाव डालेंगे ये कानूनः पवार

    केंद्र के तीन नये कृषि कानूनों पर चिंता प्रकट करते हुए राकांपा प्रमुख शरद पवार ने शनिवार को कहा कि ये कानून न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर प्रतिकूल प्रभाव डालेंगे और मंडी प्रणाली को कमजोर कर देंगे। पवार ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ सर्वदलीय बैठक में डिजिटिल माध्यम से शामिल हुए। बैठक में संसद के बजट सत्र के लिए प्रस्तावित एजेंडा से जुड़े विषयों, किसान आंदोलन, महिला आरक्षण विधेयक और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई।

    20:59 (IST)30 Jan 2021
    किसान नेताओं के खिलाफ दर्ज मामले वापस लेने की मांग को लेकर बुंदेलखंड में किसानों का उपवास

    नए कृषि कानूनों और दिल्ली में ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसा के संबंध में किसान नेताओं के खिलाफ दर्ज प्राथमिकियां रद्द करने की मांग को लेकर किसानों ने शनिवार को बुंदेलखंड के सभी सात जिलों में शनिवार को उपवास रखकर प्रदर्शन किया। बुंदेलखंड किसान यूनियन के अध्यक्ष विमल कुमार शर्मा ने बताया कि संगठन से जुड़े किसानों ने शनिवार को गांधी जी की पुण्य तिथि पर बांदा, चित्रकूट, महोबा, हमीरपुर, जालौन, झांसी और ललितपुर में एक दिन का उपवास रखकर प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा। इस दौरान शर्मा ने कहा कि दिल्ली की हिंसा और लाल किला परिसर में हुई घटना में सरकार समर्थित असामाजिक तत्व शामिल हैं, उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए।

    20:34 (IST)30 Jan 2021
    लाल किले में हुई घटना के खिलाफ जींद में तिरंगा यात्रा

    दिल्ली स्थित लाल किले पर गणतंत्र दिवस को हुए घटनाक्रम के विरोध में सर्वसमाज के बैनर तले जींद शहर में शनिवार को तिरंगा यात्रा निकाली गई। तिरंगा यात्रा में जींद से भाजपा विधायक डॉ. कृष्ण मिड्ढा सहित कई पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए। तिरंगा यात्रा नेहरू पार्क से शुरू होकर रानी तालाब, पालिका बाजार, मेन बाजार, तांगा चौंक, पंजाबी बाजार होते हुए झांझ गेट पर संपन्न हुई। इस दौरान यात्रा में शामिल लोग भारत माता की जय और तिरंगे का अपमान, नहीं सहेगा हिंदुस्तान आदि नारे लगा रहे थे। 

    20:34 (IST)30 Jan 2021
    तृणमूल कांग्रेस ने सर्वदलीय बैठक में सरकार से कृषि कानूनों को वापस लेने का आग्रह किया

    तृणमूल कांग्रेस ने शनिवार को सर्वदलीय बैठक में सरकार से तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस लेने की अपील की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के बजट सत्र में सुगम कामकाज के लिए बैठक बुलाई थी। सूत्रों के अनुसार, लोकसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने बैठक में कहा कि प्रधानमंत्री को किसानों के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए। एक सूत्र ने बताया कि बैठक में बंदोपाध्याय ने कहा, ‘‘इससे एक अच्छा संदेश जाएगा कि सरकार लोकतांत्रिक है। विपक्ष के 20 दलों ने राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार किया जिससे सरकार को कड़ा संदेश गया है कि वह कृषि कानूनों को वापस ले। बहुमत की शक्ति से किसानों को परेशान नहीं होने दिया जा सकता।’’ 

    20:33 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन: सिंघू बॉर्डर को हिंसा के बाद किले में तब्दील किया गया

    दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर 'स्थानीय निवासियों' और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच हिंसक झड़प के एक दिन बाद शनिवार को प्रदर्शन स्थल पर कई स्तरीय अवरोधक लगाकर इसे किले में तब्दील कर दिया गया। जीटी करनाल रोड स्थित प्रदर्शन स्थल पर बीते दिनों के मुकाबले प्रदर्शनकारियों की संख्या कम है। हालांकि प्रदर्शनकारी किसानों का कहना है कि पंजाब तथा हरियाणा से और लोग उनके आंदोलन में शामिल होने आ रहे हैं। पुलिस और अर्धसैनिक बलों के कर्मी प्रदर्शन स्थल पर प्रवेश पर करीबी नजर रखे हुए हैं। मीडिया कर्मियों को भी वहां पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

    19:52 (IST)30 Jan 2021
    आम बजट खेती पर केंद्रित रहने की उम्‍मीद : पूनियां

    राजस्थान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने शनिवार को उम्‍मीद जताई कि केंद्र सरकार का आगामी बजट खेतीबाड़ी पर केंद्रित रहेगा और समाज के सभी वर्गों के लिए कल्‍याणकारी होगा। पूनियां ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वैश्विक महामारी में भी मोदी सरकार के कुशल नेतृत्व में खेती में विकास दर अच्छी रही और मुझे पूरी उम्मीद है कि बजट में भी मोदी सरकार का विशेष ध्‍यान खेती पर रहेगा, जिससे खेती और उससे जुड़े हुए उद्योगों को सम्बल मिलेगा एव इस बार का बजट और अधिक लोककल्याणकारी होगा। पूनियां के अनुसार अनुमान बताते हैं कि आने वाले समय में 2021-2022 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर भी ज्यादा होगी।

    19:47 (IST)30 Jan 2021
    पगड़ी में नजर आए किसान नेता राकेश टिकैत

    19:10 (IST)30 Jan 2021
    किसानों से खुद बात करें प्रधानमंत्री मोदी : गहलोत

    राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि देश में किसानों के इतने दिन तक आंदोलन पर बैठे रहना देशहित में नहीं हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुद किसानों से बात करनी चाहिए। गहलोत ने इस आंदोलन के बारे में पूछे जाने पर यहां संवाददाताओं से कहा,‘‘ मैं समझता हूं कि अब भी मौका है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं किसानों को बुलाकर बातचीत करें, रास्ता कोई निकल सकता है। लंबे समय तक इस प्रकार का आन्दोलन उचित नहीं कहा जा सकता और देश के हित में भी नहीं है।’’ उन्‍होंने कहा कि जिनको अन्नदाता कहते हैं उनकी अपनी आशंकाएं हैं, वे चिंतित हैं खुद के लिए, अपने परिवार के लिए, आने वाली पीढ़ियों के लिए, तो स्वाभाविक है कि इस प्रकार का माहौल बनता है। इस आंदोलन का जल्‍द समाधान निकालने की बात करते हुए गहलोत ने कहा,‘‘ मैं उम्मीद करता हूं प्रधानमंत्री खुद गौर करेंगे। कृषि मंत्री के साथ वार्ताओं का लंबा दौर चल चुका है और मैं समझता हूं कि यह कोई ‘प्रतिष्‍ठा का सवाल’ नहीं होना चाहिए।’’

    18:38 (IST)30 Jan 2021
    कृषि कानूनों पर सरकार का प्रस्ताव बरकरार, बातचीत में सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी: प्रधानमंत्री

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को उनकी सरकार की ओर से दिया गया प्रस्ताव अब भी बरकरार है तथा बातचीत में सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी है। संसद सत्र से पहले पारंपरिक सर्वदलीय बैठक में मोदी ने गणतंत्र दिवस के दिन हुई ‘दुर्भाग्यपूर्ण घटना’ का विपक्षी नेताओं की ओर से किए गए उल्लेख का जवाब देते हुए कहा कि ‘कानून अपना काम करेगा।’ यह डिजिटल बैठक प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में हुई और इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा विभिन्न दलों के सदनों के नेता शामिल हुए। इस बैठक के ब्यौरे की जानकारी देते हुए संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने विश्वास दिलाया कि केंद्र सरकार किसानों के मुद्दे पर खुले मन से आगे गढ़ रही है।’’

    18:13 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए भाजपा ने रची थी गणतंत्र दिवस पर हिंसा की साजिश :आप

    आम आदमी पार्टी ने शनिवार को आरोप लगाया कि 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा की साजिश भाजपा ने दिल्ली पुलिस की मदद से रची थी ताकि किसानों के आंदोलन को बदनाम किया जा सके। आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने संवाददाता सम्मेलन में भाजपा नेताओं को ‘सबसे बड़ा राष्ट्र-विरोधी’ करार देते हुए मांग की कि उनके खिलाफ देशद्रोह के मामले दर्ज किये जाने चाहिए और राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) से इनकी जांच कराई जानी चाहिए। भाजपा की ओर से इन आरोपों पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। आप नेता भारद्वाज ने दावा किया, ‘‘पुलिस और भाजपा ने मिलकर 26 जनवरी और उसके बाद हिंसा की पटकथा लिखी थी। भाजपा ने किसानों के आंदोलन को बदनाम करने के लिए दिल्ली पुलिस की मदद से पटकथा तैयार की थी।’’ उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को ‘भाजपा एजेंट’ दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस ने किसानों से बहुत पहले दिल्ली में प्रवेश के लिए मार्च शुरू करने की अनुमति दे दी।

    17:57 (IST)30 Jan 2021
    26 जनवरी पर हिंसा के विरोध में दिल्ली पुलिस व उनके परिवारों का प्रदर्शन

    दिल्लीः गणतंत्र दिवस के दिन किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान पुलिसकर्मियों पर हुए हमले के विरोध में दिल्ली पुलिसकर्मियों और उनके परिवारों ने शहीदी पार्क में विरोध प्रदर्शन किया।

    17:32 (IST)30 Jan 2021
    उनकी नीतियां ठीक थीं तो क्यों 2,66,000 किसानों ने आत्महत्या की : शाही

    कृषि कानूनों को लेकर आंदोलनकारियों का समर्थन कर रहे विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने शनिवार को यहां आयोजित किसान मेले में कहा कि 2004 से 2014 तक 2,66,000 किसानों ने आत्महत्या की थी, यदि उनकी कृषि नीतियां सही थीं तो क्यों किसानों ने आत्महत्या की थी। यहां नौ दिवसीय विराट किसान मेले का उद्घाटन करने के बाद कृषि मंत्री ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा, “उन किसानों की आत्महत्या का पाप इन लोगों के कंधों पर चढ़ा है। देश में एक परिवार ने 40 साल तक शासन किया और इन 40 सालों में देश में गरीबी नहीं मिट पाई।”

    16:33 (IST)30 Jan 2021
    प्रदर्शन स्थलों पर दो फरवरी तक रिकॉर्ड संख्या में लोगों के एकत्र होने की उम्मीद : राजेवाल

    किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्ली की सीमाओं पर दो फरवरी तक रिकॉर्ड संख्या में लोगों के एकत्र होने की उन्हें उम्मीद है। केंद्र के नये कृषि कानूनों के खिलाफ इन स्थानों पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं और वहां विभिन्न राज्यों से काफी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन (राजेवाल) के अध्यक्ष राजेवाल ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम दिल्ली की सीमाओं पर 26 जनवरी से शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे है।’’ उन्होंने दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए उसकी निंदा की।

    16:32 (IST)30 Jan 2021
    बिजनौर : भाकियू की महापंचायत 31 जनवरी के बजाय एक फरवरी को होगी

    उत्तर प्रदेश के बिजनौर में 31 जनवरी को होने वाली भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) की महा पंचायत सी-टैट परीक्षा के कारण अब एक फरवरी को होगी। भाकियू युवा के प्रदेश अध्यक्ष दिगंबर सिंह ने शनिवार को बताया कि 31 जनवरी को प्रदर्शन स्थल पर पूर्व में बुलाई गई किसानो की महापंचायत रविवार को केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा(सी-टैट) होने के कारण अब एक फरवरी को आईटीआई मैदान पर होगी। उन्होने बताया कि पंचायत संपन्न होने के बाद किसान दिल्ली-गाजियाबाद के बीच स्थित गाजीपुर बॉर्डर के लिए कूच करेंगे।

    16:26 (IST)30 Jan 2021
    गणतंत्र दिवस हिंसा : फॉरेंसिक विशेषज्ञों की टीम साक्ष्य एकत्र करने लालकिला पहुंची

    फॉरेंसिक विशेषज्ञों की एक टीम गणतंत्र दिवस पर किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान भड़की हिंसा के सिलसिले में साक्ष्य एकत्र करने के लिए शनिवार को लालकिला पहुंची। गौरतलब है कि 26 जनवरी को किसान संगठनों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी निर्धारित मार्ग से अलग हो गए थे और पुलिस के साथ उनकी झड़प हुई थी। अनेक प्रदर्शनकारी लालकिले में प्रवेश कर गए थे। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा इस मामले की जांच कर रही है और दोषियों की पहचान करने के लिए कई टीमें गठित की गई हैं। पुलिस ने लालकिला परिसर में तोड़फोड़ किए जाने की घटना को ‘‘राष्ट्र विरोधी गतिविधि’’ बताया है। 

    15:31 (IST)30 Jan 2021
    पंजाब का मनसा में किसानों के समर्थन में वकीलों की भूख हड़ताल

    पंजाब के मनसा में किसान संगठनों की ओर से मनाए जा रहे सद्भावना के समर्थन में वकीलों ने भूख हड़ताल की है। यहां बड़ी संख्या में वकील फर्श पर बैठकर पूरे दिन भूख हड़ताल में हिस्सा लेंगे। बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा ने एक दिन पहले ही ऐलान किया था कि सभी मोर्चों पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किसान नेता भूख हड़ताल करेंगे। किसान नेताओं ने सभी समर्थकों से भूख हड़ताल में शामिल होने का आह्वान किया था।

    15:19 (IST)30 Jan 2021
    कनाडाई सांसद ने गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा का विरोध किया, ट्रूडो से हस्तक्षेप को कहा

    कनाडा के सांसद जगमीत सिंह ने ट्विटर पर वीडियो शेयर कर दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा की है। उन्होंने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से इस मामले में हस्तक्षेप करने के लिए कहा है। जगमीत ने कहा कि जिन्होंने भी किसानों को नुकसान पहुंचाया है, उन्हें पकड़ा जाना चाहिए और शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकार की रक्षा होनी चाहिए। मैं ट्रूडो से तुरंत घटना की निंदा के लिए कहता हूं। 

    15:09 (IST)30 Jan 2021
    ऑल पार्टी मीटिंग में बोले पीएम मोदी- सरकार बातचीत के लिए तैयार

    संसद के बजट सत्र से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में ऑल-पार्टी मीटिंग हुई। इसमें पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार बातचीत के जरिए प्रदर्शनकारी किसानों के साथ मुद्दे सुलझाने की कोशिश कर रही है। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि बैठक के दौरान पीएम ने साफ किया कि वे बस एक फोन कॉल दूर हैं। जब भी किसान बातचीत करना चाहें वे तैयार हैं। 

    14:51 (IST)30 Jan 2021
    कपिल सिब्बल का आरोप- आंदोलन तोड़ने के लिए षड्यंत्र रचे जा रहे

    30 जनवरी को हम सद्भावना दिवस मनाने जा रहे हैं। हमारे सभी मोर्चों पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किसान नेता भूख हड़ताल करेंगे। यह देश के लोगों का आंदोलन है। हम सभी को भूख हड़ताल में शामिल होने का आह्वान करते हैं: किसान नेता अमरजीत सिंह

    14:22 (IST)30 Jan 2021
    पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली ऑल पार्टी मीटिंग में उठा किसान आंदोलन का मुद्दा

    बजट सत्र से पहले केंद्र सरकार की तरफ से बुलाई गई ऑल पार्टी मीटिंग में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय, शिवसेना सांसद विनायक राउत और अकाली दल के नेता बलविंदर सिंह भुंडेर ने किसान आंदोलन का मुद्दा उठाया और सरकार से विवाद सुलझाने की अपील की। दूसरी तरफ बिहार में भाजपा की गठबंधन की साथी जदयू की तरफ से सांसद आरसीपी सिंह बैठक में पहुंचे और उन्होंने कानून का समर्थन किया। 

    13:57 (IST)30 Jan 2021
    बिहारः महागठबंधन पार्टियों ने किसान आंदोलन का समर्थन किया, बनाई मानव शृंखला

    बिहार में राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन ने कृषि कानूनों के विरोध में पटना में मानव शृंखला बनाकर प्रदर्शन किया। साथ ही दिल्ली में आंदोलन में शामिल किसानों का समर्थन किया। राजद सांसद मनोज किमार ने कहा कि वे तब तक इसी तरह के प्रदर्शन जारी रखेंगे, जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं हो जाते। 

    13:42 (IST)30 Jan 2021
    हरियाणा: किसान आंदोलन के चलते जजपा नेताओं पर बढ़ रहा दबाव

    कृषि कानून पर केंद्र सरकार और किसान संगठनों का टकराव अब भाजपा शासित राज्यों के लिए सिरदर्द साबित हो रहा है। हरियाणा पर इसका सबसे ज्यादा असर देखा जा सकता है। यहां भाजपा जाट नेताओं की पार्टी जजपा के साथ ही गठबंधन में है। अब तक किसान आंदोलनों पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला के बीच कोई तनातनी देखने को नहीं मिली है। हालांकि, अब जजपा पर प्रदर्शनों चलते दबाव बढ़ता जा रहा है। पढ़ें पूरी खबर...

    13:14 (IST)30 Jan 2021
    लाल किले पर हुई हिंसा के विरोध में धरने पर बैठे दिल्ली पुलिस के जवान

    लाल किले पर गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने भी विरोध प्रदर्शन किया है। बड़ी संख्या में पुलिस के जवान और उनके परिजन शहीदी पार्क में धरने पर बैठे हैं। उनकी मांग है कि पुलिस पर हमला करने वालों पर कार्रवाई की जाए और घायल पुलिस वालों से माफी मांगी जाए। 

    12:42 (IST)30 Jan 2021
    किसान नेताओं का दावा- राजनीतिक दल किसानों के साथ

    भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) का दावा है कि हरियाणा के जींद, हिसार, भिवानी और रोहतक से किसान दल बनाकर दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पहुंच रहे हैं। हरियाणा की कई खाप पंचायतों ने एक दिन पहले प्रदर्शनकारी किसानों के पक्ष में बैठक की और उनके समर्थन की बात कही थी। बताया गया है कि पंजाब के भी किसान दिल्ली पहुंच रहे हैं। 

    12:14 (IST)30 Jan 2021
    गाजियाबाद से दिल्ली जाने वाला हाईवे बंद

    दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी है कि गाजियाबाद और गाजीपुर बॉर्डर से दिल्ली जाने वाले एनएच-24 के दोनों बॉर्डर बंद कर दिए गए हैं। बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर पर टिकैत के आह्वान के बाद से ही भारी संख्या में लोग जुट रहे हैं। ऐसे में कई जगहों पर जाम की स्थिति भी पैदा हो रही है। 

    11:48 (IST)30 Jan 2021
    दूसरे राज्यों से किसान लाने जाएंगे पंजाब के किसान

    आंदोलन को मजबूत करने के लिए पंजाब के किसान अब दूसरे राज्यों के किसानों को भी साथ लाएंगे। इसके लिए पटियाला से 700, मोगा से 450, गुरदासपुर से 50 और होशियारपुर के टांडा से 70 किसान शुक्रवार को दिल्ली के लिए रवाना हो गए। 41 किसान संगठनों की 72 टीमें हर घर से एक सदस्य को भेजेंगी। ये टीमें दूसरे राज्यों के किसानों को प्रदर्शन में लाएंगी।

    11:17 (IST)30 Jan 2021
    टिकरी बॉर्डर पर शांतिपूर्ण आंदोलन जारी

    दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर किसानों का शांतिपूर्ण आंदोलन जारी है। एक दिन पहले ही सिंघु और उससे पहले गाजीपुर बॉर्डर पर हिंसा के बाद भारी पुलिसबल तैनात किया गया था। हालांकि, टिकरी पर अभी भिड़ंत के हालात नहीं हुए हैं। पुलिस भी पूरी सतर्कता से स्थितियों पर नजर रख रही है। 

    10:51 (IST)30 Jan 2021
    गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जुटना जारी

    भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) नेता राकेश टिकैत के आह्वान के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जुटना जारी है। इस बीच पुलिस के करीब तीन हजार जवान भी प्रदर्शनस्थल पर तैनात कर दिए गए हैं।

    10:13 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन की वजह से 52 टोल प्लाजा प्रभावित

    कृषि कानून को विरोध के बीच प्रदर्शनों से अब तक पंजाब, हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित करीब 52 टोल प्लाजा प्रभावित हुए हैं। इन्हें काफी राजस्व का नुकसान उठाना पड़ा है। कई टोल पर तो अक्टूबर 2020 से ही कुछ खास कमाई नहीं हुई है। अब पश्चिमी यूपी में स्थित टोल प्लाजा भी इस आंदोलन की जद में आ गए हैं। 

    10:13 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन की वजह से 52 टोल प्लाजा प्रभावित

    कृषि कानून को विरोध के बीच प्रदर्शनों से अब तक पंजाब, हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित करीब 52 टोल प्लाजा प्रभावित हुए हैं। इन्हें काफी राजस्व का नुकसान उठाना पड़ा है। कई टोल पर तो अक्टूबर 2020 से ही कुछ खास कमाई नहीं हुई है। अब पश्चिमी यूपी में स्थित टोल प्लाजा भी इस आंदोलन की जद में आ गए हैं। 

    10:13 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन की वजह से 52 टोल प्लाजा प्रभावित

    कृषि कानून को विरोध के बीच प्रदर्शनों से अब तक पंजाब, हरियाणा और दिल्ली-एनसीआर के राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित करीब 52 टोल प्लाजा प्रभावित हुए हैं। इन्हें काफी राजस्व का नुकसान उठाना पड़ा है। कई टोल पर तो अक्टूबर 2020 से ही कुछ खास कमाई नहीं हुई है। अब पश्चिमी यूपी में स्थित टोल प्लाजा भी इस आंदोलन की जद में आ गए हैं। 

    09:36 (IST)30 Jan 2021
    आज टिकैत से मिलेंगे INLD नेता अभय चौटाला

    भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत को अब राजनीतिक दल खुलकर समर्थन देने लगे हैं। इंडियन नेशनल लोकदल के महासचिव अभय चौटाला आज टिकैत से मिलेंगे। इससे पहले शुक्रवार को राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के नेता जयंत चौधरी और दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया गाजीपुर पहुंचे थे। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी टिकैत से कहा कि उनकी पार्टी किसानों के साथ है।

    09:07 (IST)30 Jan 2021
    गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का जुटना जारी

    UP और हरियाणा से किसानों के गाजीपुर बॉर्डर पहुंचने का सिलसिला जारी है। यूपी के मुजफ्फरपुर में एक दिन पहले हुई महापंचायत के बाद किसानों ने छोटे-छोटे दलों में दिल्ली कूच करने की योजना बनाई है। बता दें कि गाजीपुर बॉर्डर पर गुरुवार शाम 4 बजे तक भारी पुलिस बल की तैनाती के बाद माहौल ऐसा बन गया था कि किसानों को घर भेज दिया जाएगा। लेकिन, आधी रात को पुलिस को लौटना पड़ा। क्योंकि, किसानों ने आंदोलन तेज करने की तैयारी शुरू कर दी थी। 

    08:36 (IST)30 Jan 2021
    कांग्रेस नेता बोले- गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा साजिश थी

    कांग्रेस के नेता हनुमंत राव ने कहा है कि दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर रखी गई ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा प्रदर्शनों को खत्म करने की साजिश थी। उन्होंने कहा कि किसान तीन कृषि कानूनों के खिलाफ कठिन परिस्थितियों में प्रदर्शन कर रहे हैं और सभी एक साथ हैं। बता दें कि गणतंत्र दिवस के दिन हुई हिंसा में 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। 

    08:12 (IST)30 Jan 2021
    सिंघु बॉर्डर पर पुलिसकर्मी पर तलवार से हमला करने वाले आरोपी समेत 44 गिरफ्तार

    किसान आंदोलन के बीच सिंघु बॉर्डर पर शुक्रवार को स्थानीय लोगों और किसानों के बीच पत्थरबाजी के दौरान अलीपुर SHO पर तलवार से हमला हुआ था। अब इस मामले में पुलिस ने 44 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें अलीपुर SHO को तलवार मारने का आरोपी भी शामिल है। पुलिस ने बीच-बचाव की कोशिश की, लेकिन स्थिति बिगड़ते देख लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। इस झड़प में 5 पुलिसवाले घायल हो गए।

    07:41 (IST)30 Jan 2021
    अभी जारी रहेगा आंदोलनः महापंचायत में बोले नरेश टिकैत

    उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में शुक्रवार को जीआईसी ग्राउंड पर बड़ी संख्या में टिकैत बंधुओं के समर्थन में लोग जुटे। भारतीय किसान यूनियन की तरफ से रखी गई इस महापंचायत में नरेश टिकैत ने कहा कि किसानों का प्रदर्शन अभी जारी रहेगा। बता दें कि महापंचायत के दौरान बड़ी संख्या में पुलिसबल मौजूद रहा। इसके बावजूद छात्रों और युवाओं का इसमें जमावड़ा रहा। 

    07:08 (IST)30 Jan 2021
    रविवार को पलवल में होगी चार जिलों के किसानों की महापंचायत

    किसान आंदोलन दोबारा शुरू करने के लिए रविवार को पलवल में होगी चार जिलों के किसानों की महापंचायत, शामिल होंगे पलवल, फरीदाबाद, नूंह और गुडगांव के किसान।पलवल में धरना समाप्त कराने के तरीके से नाराज हैं किसान।

    07:01 (IST)30 Jan 2021
    किसान आंदोलन: सिंघु सीमा पर भड़की हिंसा, दो पक्षों में नारेबाजी, पथराव

    सिंघु बॉर्डर पर किसानों और स्थानीय लोगों के एक बड़े समूह के बीच शुक्रवार को झड़प हो गई, जिसके चलते पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ मुख्य प्रदर्शन स्थलों में शामिल सिंघु बॉर्डर पर हुई झड़प के दौरान दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव भी किया। 

    06:30 (IST)30 Jan 2021
    आज सद्भावना दिवस मनाएंगे किसान

    30 जनवरी को हम सद्भावना दिवस मनाने जा रहे हैं। हमारे सभी मोर्चों पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक किसान नेता भूख हड़ताल करेंगे। यह देश के लोगों का आंदोलन है। हम सभी को भूख हड़ताल में शामिल होने का आह्वान करते हैं: किसान नेता अमरजीत सिंह

    05:27 (IST)30 Jan 2021
    सरकार अपनी कमजोरी को छुपाने के लिए लाल किले का षड्यंत्र रच रही है

    किसान नेता नरेश टिकैत का कहना है कि सरकार अपनी कमजोरी को छुपाने के लिए लाल किले का षड्यंत्र रच रही है। लाल किले पर हमारा क्या उद्देश्य। क्या हम लाल किले पर इतना घिनौना काम कर सकते हैं। कोई किसान भूल-चूक में ट्रैक्टर लेकर लाल किले पर चला गया होगा लेकिन वह वापस आ गया था।

    03:27 (IST)30 Jan 2021
    सिंघु बॉर्डर पर स्थानीय लोग किसान आंदोलन के खिलाफखड़े हुए

    26 जनवरी को राजधानी दिल्ली में किसान परेड के दौरान हुई हिंसा की घटना के बाद अब सिंघु बॉर्डर पर स्थानीय लोग ही किसान आंदोलन के खिलाफ खड़े हो गए हैं। यहां स्थानीय लोगों ने तिरंगा लेकर बड़ी संख्या में सिंघु पर प्रदर्शन किया।

    02:10 (IST)30 Jan 2021
    राहुल गांधी ने गृहमंत्री ने पूछे सवाल

    तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के मौजूदा प्रदर्शन को लेकर राहुल गांधी ने कड़ी टिप्पणी की। कहा कि दूसरे कानून से व्यवसायी मनमर्जी अनाज इकट्ठा कर पाएंगे। उन्होंने दिल्ली हिंसा पर सवाल उठाते हुए कहा कि लाल किले के अंदर किसने आंदोलनकारियों को जाने दिया। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री यह बताएं कि किसने अंदर जाने का आदेश दिया।

    00:41 (IST)30 Jan 2021
    फारेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के साथ गाजीपुर बॉर्डर पर जांच की

    दिल्ली में गणतंत्र दिवस के दौरान ट्रैक्टर रैली में हुई हिंसा को लेकर फारेंसिक एक्सपर्ट की एक टीम क्राइम ब्रांच के अधिकारियों के साथ गाजीपुर बॉर्डर पहुंची। इस टीम ने यहां कई अहम सबूत जुटाए।  

    Next Stories
    1 राम मंदिर के लिए VHP की रैली में लगे भड़काऊ नारे, महिलाएं, बच्चे भी शामिल
    2 आप राज्यसभा में हंगामे के बीच क्यों नहीं पास करा देते बिल, पूर्व उपराष्ट्रपति ने लिखा- पीएम मोदी बनाते थे दबाव
    3 गैंगस्टर से बना सोशल ऐक्टिविस्ट, दर्ज हैं 25 केस, पहले भी जेल जा चुका है 26 जनवरी को हिंसा भड़काने का आरोपी लक्खा सिधाना
    आज का राशिफल
    X