ताज़ा खबर
 

पहले छोटे थे मकान, अब ऊंचाई बढ़वाएंगे’, बोले टिकैत- ये लंबा जाएगा, 2021 है आंदोलन का साल

टिकैत ने मीडिया से बात करते हुए कहा "अब लंबा रुकना पड़ेगा ये मामला अब नवम्बर, दिसंबर तक जाएगा। हम हटने वाले नहीं हैं। अब गर्मी आ गई है और छोटे मकानों की हाइट अब बढ़ेगी, अब और ऊंचे मकान बनवाएंगे।"

Farmers Protest:पश्चिम बंगाल में एक महापंचायत को संबोधित करते किसान नेता राकेश टिकैत। (twitter/Rakesh Tikait)

मोदी सरकार के नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन 100 से भी ज्यादा दिनों से जारी है। इसी बीच गुरुवार को गाजीपुर बॉर्डर से ‘न्यूज़ 24’ से बात करते हुए भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हम हटने वाले नहीं हैं। अब गर्मी आ गई है और छोटे मकानों की हाइट अब बढ़ेगी, अब और ऊंचे मकान बनवाएंगे।

टिकैत ने मीडिया से बात करते हुए कहा “अब लंबा रुकना पड़ेगा ये मामला अब नवम्बर, दिसंबर तक जाएगा। तो अब गर्मी को देखते हुए ऊंचे मकान पड़ेंगे।” किसान नेता ने कहा कि शायद अक्टूबर तक मान जाये लेकिन हम तो नवम्बर, दिसंबर मान के बैठे हैं। उन्होने कहा “2021 का ये जो साल है ये आंदोलन का साल है। सब आदमी अपने आंदोलन पर ध्यान दे, कहा रहना है इसपर ध्यान दे, व्यवस्था बनवाए और अपनी फसल की कटाई करे।”

टिकैत ने कहा “26 मार्च को पूरा देश बंद रहेगा, सब लोग उसमें अपना सहयोग दें, दुकानदार, ट्रांसपोरटेर, टैक्सी वाले, आम जनता सब को एक दिन सहयोग देना चाहिए। एक दिन के लिए उन्हें ब बंद में शामिल होना चाहिए। इस दौरान कोई जरूरी आदमी होगा जिसका स्वस्थ खराब है या एम्बुलेंस है तो उसे निकालने देंगे।”

राकेश टिकैत ने मांग करते हुए कहा कि आंदोलन स्थल पर किसानों का टीकाकरण करने की बात कही है। साथ ही टिकैट ने खुद भी कोरोना टीका लगवाने की इच्छा जाहिर की है। टिकैत ने कहा “कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो उनकी गाइडलाइंस को फॉलो किया जाए, आंदोलन स्थलों पर जो लोग बैठे हैं उनको भी वैक्सीन लगाई जाए। आंदोलन स्थलों पर हम सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। धरना स्थल पर आने जाने वाले किसानों को वैक्सीन लगाई जाए, मैं भी टीका लगवाऊंगा।”

किसान नेता ने कहा “जेल में मौजूद कैदियों के परिजनों के सन्देश आ रहे हैं कि हमारा भी मुद्दा उठाया जाए। जेल में बहुत भीड़ है, कोरोना की गाइडलाइंस का पालन होना चाहिए। कैदी एक दूसरे से टच होकर सोता है, इतनी भीड़ हो चुकी है। जेलों में भी सोशल डिस्टेनसिंग का पालन होना चाहिए।” टिकैत ने कहा, “कोरोना के कारण आंदोलन खत्म नहीं होने देंगे, टेंटों को और बड़ा बना लेंगे। आंदोलन लंबा चलेगा।”

Next Stories
1 BJP की नई लिस्टः मुकुल रॉय, सब्यासाची दत्त और जितेंद्र तिवारी समेत कई दलबदलुओं के नाम, विरोध के बीच उठे प्रश्न- ऐसे होगा असल परिवर्तन?
2 कृषि कानूनः BKU के राकेश टिकैत का दावा- गुजरात की जनता कैद में है; आजाद कराने को उठाएंगे ये कदम
3 मुंबई पुलिस को रिपब्लिक टीवी बंद कराने को मिली खुली छूट, डिबेट में अर्नब गोस्वामी का दावा- 6 महीने का समय दिया गया
ये पढ़ा क्या?
X