ताज़ा खबर
 

सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन में भगत सिंह के भतीजे भी, कहा- 1907 के पगड़ी संभाल जट्टा मूवमेंट की याद दिलाता है ये किसान आंदोलन

शहीद भगत सिंह के भतीजे ने कहा कि इस आंदोलन में 'पगड़ी संभाल जट्टा' मूवमेंट की झलक नजर आती है।

farmers, farmers protestशहीद भगत सिंह के भतीजे ने कहा कि आज किसानों को कोई गुमराह नहीं कर सकता है।

किसानों के आंदोलन में स्वतंत्रता सेनानी शहीद भगत सिंह के भतीजे भी शामिल हो गए हैं। सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों को समर्थन दे रहे 64 साल के अभय सिंह संधू ने कहा कि ‘किसानों को कोई गुमराह नहीं कर सकता क्योंकि वो अपने अधिकारों के प्रति शिक्षित हैं। अभय सिंह अपनी पत्नी के साथ पिछले 10 दिनों के साथ किसानों के समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ‘ये किसान गुजरे जमाने के किसान नहीं हैं जो अशिक्षित थे। यह किसान शिक्षित हैं और अपने अधिकारों से परिचित भी हैं।

शहीद भगत सिंह के भतीजे ने कहा कि इस आंदोलन में ‘पगड़ी संभाल जट्टा’ मूवमेंट की झलक नजर आती है। यह आंदोलन उनके दादा और भगत सिंह के चाचा अजीत सिंह ने साल 1906-1907 में किया था। उस वक्त ब्रिटिश शासकों ने तीन कृषि कानून लाया था और उसके खिलाफ आंदोलन हुआ था। उन क़ानूनों से किसानों में नाराज़गी फैल गई, जिन्हें लगा कि इनसे वो अपनी ही ज़मीनों पर, बंधुआ मज़दूर बनकर रह जाएंगे। इसके नतीजे में पूरे पंजाब में अशांति फैल गई, और ब्रिटिश सरकार को आख़िरकार उन तीन क़ानूनों को रद्द करना पड़ा।

उस आंदोलन की अगुवाई अजीत सिंह, किशन सिंह (भगत सिंह के पिता) और घसीटा राम ने की, जिसने अंग्रेज़ों के खिलाफ इनक़लाब की चिंगारी सुलगा दी। बाद में ये आंदोलन पगड़ी संभाल जट्टा के नाम से लोकप्रिय हुआ, जब बांके दयाल की इसी नाम की कविता, 1907 में एक रैली में पढ़ी गई।

अभी की तरह ही उस वक्त अंग्रेजों ने कृषि कानूनों में बदलाव किया था। उस वक्त मेरे दादाजी अजीत सिंह ने कृषि कानून के खिलाफ ‘पगड़ी संभाल जट्टा’ मूवमेंट की शुरुआत की थी। उस वक्त लाला लाजपत राय भी इस आंदोलन में शामिल थे। यहीं बात आज इन तीन कृषि कानूनों के साथ भी हो रहा है।

अंग्रेज शासकों ने साल 1906 में तीन कृषि कानून बनाए थे। यह तीनों कानून Doab Bari Act, Punjab Land Colonisation Act और Punjab Land Alienation Act थे। आपको बता दें कि अभय सिंह संधू बागवानी विशेषज्ञ हैं।

Next Stories
1 सीएम अरविंद केजरीवाल सिंघू बॉर्डर पहुंचे, कहा- केंद्र से हाथ जोड़कर अपील कृषि कानून वापस लें
2 किसानों के समर्थन में उतरे बीजेपी विधायक रोशनलाल तो फजिल्का के वकील ने जहर खाकर आत्महत्या की
3 राहुल का बदला स्टैंड, तो BJP ने किया अटैक- ये क्या जादू हो रहा है, जिसकी करते थे वकालत, उसी का अब विरोध?
IND vs ENG Live
X