ताज़ा खबर
 

मतलब अंबानी, टाटा व अडानी खेत में आकर खुद काम करेंगे?- पूछने लगे LJP नेता, हाथ जोड़ INC प्रवक्ता ने कहा- आप जैसा आदमी हो तो रामविलास की पार्टी का सत्यानाश…

इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को चेन्नई के एक कार्यक्रम में तमिलनाडु के किसानों की तारीफ की। उन्होंने किसानों की 'रिकॉर्ड स्तर पर अन्न उत्पादन करने' और 'जलस्रोतों का उचित इस्तेमाल' करने के लिए उनकी प्रशंसा की।

एलजेपी और कांग्रेस नेताओं के बीच तीखी बहस हुई। फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट, यूट्यूब

न्यूज 24 पर डिबेट शो के दौरान लोकजन शक्ति पार्टी के प्रवक्ता ए के वाजपेयी ने कांग्रेस के प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत पर चुटकी लेते हुए कहा कि ‘आप कह रहे हैं कि अगर कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग हो जाएगी तो अंबानी साहब खाद भी लाएंगे खुद हीं, खेत में दवाइयां भी लाएंगे, कैमिकल भी लाएंगे…फसल भी लगाएंगे बीज भी लगाएंगे। मतलब वो आकर खुद करेंगे क्या। क्या अंबानी खुद करेंगे या टाटा खुद करेंगे। अरे वो काम तो आदमियों से ही होगा।’

एलजेपी प्रवक्ता की बात सुनने के बाद शो में मौजूद कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत नाराज होते दिखे। उन्होंने कहा ‘नहीं मैंने यह नहीं कहा, आप बदतमीजी मत करीये। आप पढ़ कर आया कीजिए कानून को।’ इसपर लोजपा नेता ने फिर चुटकी लेते हुए कहा कि ‘इनके कहने का मतलब ये हुआ कि उद्योगपति अकेला ही, यानी टाटा, बिरला खुद खेत में दवाई लेकर जाएगा…खुद हल चलाएगा और खुद ही फसल काटेगा…और सब बेरोजगार हो जाएंगे 40 फीसदी वाले। ये नहीं होने वाला है। कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग होगी तो रोजगार बढ़ेगा।’

एलजेपी नेता की बात सुनकर कांग्रेस प्रवक्ता हंसने लगे। हंसते हुए सुरेंद्र राजपूत ने कहा कि वाजपेयी जी आप बिल्कुल सही कह रहे हैं…आप जैसा आदमी हो तो रामविलास की पार्टी का सत्यानाश हो जाएगा।

आपको बता दें कि किसान आंदोलन को 80 से ज्यादा दिन गुजर गए हैं। प्रदर्शनकारी किसान तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं । कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन के बीच हरियाणा के संगठनों ने बहादुरगढ़ में रविवार को बाईपास पर स्थित निर्माणाधीन नए बस स्टैंड परिसर में बैठक की और 18 फरवरी को 4 घंटे तक रेल रोकने को लेकर रणनीति बनाई। पहले पंजाब के कुछ किसानों नेताओं के साथ हरियाणा के संगठनों ने बैठक की।

इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को चेन्नई के एक कार्यक्रम में तमिलनाडु के किसानों की तारीफ की। उन्होंने किसानों की ‘रिकॉर्ड स्तर पर अन्न उत्पादन करने’ और ‘जलस्रोतों का उचित इस्तेमाल’ करने के लिए उनकी प्रशंसा की। उनका यह बयान तब आया है जब दिल्ली में पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान कृषि सुधार कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं।

Next Stories
1 Indian Army और हुई मजबूत! PM ने हवाले किया ‘मेड इन इंडिया’ Arjun MK-1A टैंक, जानिए क्यों हैं खास
2 भारतः जेलों में 67% से अधिक हिंदू कैदी, 18% मुस्लिम; 27.37% अशिक्षित- NCRB डेटा
3 गुलाम नबी आजाद ने जब नरसिम्हा राव की कार्यप्रणाली पर दागे थे सवाल, कहा था- आप इतिहास के सबसे खराब कांग्रेस चीफ, छोड़ दें पद
ये पढ़ा क्या?
X