ताज़ा खबर
 

BJP मंत्री क्यों बताने लगे हमें कुकुरमुत्ता- कृषि मंत्री से हुआ सामना तो दाग दिया किसान नेता ने कड़ा सवाल

किसान नेता ने मध्यप्रदेश बीजेपी मंत्री के उस बयान का हवाला दिया जिसमें राज्य सरकार के मंत्री ने कहा था कि देश में अचानक ही कुकुरमुत्ते की तरह किसान संगठन पैदा हो गए हैं।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से किसान नेता शिवकुमार कक्का जी ने कठिन सवाल पूछे।

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसानों के आंदोलन को 20 दिन से ज्यादा का समय बीत चुका है। इस बीच केंद्र सरकार और किसानों के बीच कई बार बातचीत तो हुई है लेकिन सब चीजें बेनतीजा रही हैं। आज एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से किसान नेता शिवकुमार कक्का जी ने कठिन सवाल पूछे। कृषि मंत्री से किसान नेता ने पूछा कि मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार के मंत्री ने किसानों को कुकुरमुत्ता क्यों कहा?

किसान नेता ने मध्यप्रदेश बीजेपी मंत्री के उस बयान का हवाला दिया जिसमें राज्य सरकार के मंत्री ने कहा था कि देश में अचानक ही कुकुरमुत्ते की तरह किसान संगठन पैदा हो गए हैं। हद तो ये कि मंत्री ने किसानों को देशद्रोही तक करार दे दिया। गौरतलब है कि किसान नेता और उनके संगठन इस बयान से काफी नाराज हैं। तोमर के सामने उनकी पार्टी के मंत्री की आलोचना करते हुए शिव कुमार कक्का जी ने कहा कि मंत्री का बयान सरासर गैरजिम्मेदाराना है। किसान नेता ने कृषि मंत्री से मांग रखी कि उनकी पार्टी के मंत्री जिस तरह के बयान दे रहे हैं उस पर रोक लगवाई जाए।

साक्षात्कार के दौरान केंद्रीय मंत्री तोमर शिव कुमार कक्का जी की बातों से सहमत दिखे। तोमर ने कहा कि मंत्रियों को इस तरह के बयान देने से बचना चाहिए। तोमर ने कहा, ‘मैं इस बात के पक्ष में हूं कि किसी को गलत बयानबाजी नहीं करनी चाहिए। ऐसी बातें लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाती हैं। मैं नेताओं से अपील करता हूं कि वे ऐसी बयानबाजी से बचें।’

तोमर ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि किसान आंदोलन से जुड़े मुद्दो का समाधान बातचीत से होगा। फिलहाल किसानों को सरकार पर यकीन नहीं है लेकिन मुझे पूरी उम्मीद है कि जल्द ही बातचीत का रास्ता निकलेगा। चर्चा के दौरान किसान नेता शिव कुमार कक्का जी ने भी कहा कि वे भी सरकार से बातचीत करने में यकीन रखते हैं। सरकार उनको बुलावा भेजेगी तो वे भी जरूर बातचीत के लिए जाएंगे।

तोमर ने कहा कि हमें किसानों की चिंता है। उनके मुद्दों के प्रति हम संजीदा हैं। हम उनसे लगातार संपर्क बनाए हुए हैं। किसी भी प्रस्ताव पर सहमति बनाने की प्रक्रिया चल रही है। जल्द से जल्द समाधान करने की कोशिश करेंगे।

Next Stories
1 ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन होंगे गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि, विदेश मंत्री एस जयशंकर बोले-दोनों देशों के रिश्तों में होगी नए युग की शुरुआत
2 कृषि कानूनों पर कुछ लोग कर रहे गुमराह, हर शंका के हल को हम तैयार- कच्छ में बोले PM मोदी
3 मध्यप्रदेश में खदान से मिला 60 लाख का हीरा, किसान बन गया लखपति
ये पढ़ा क्या?
X